Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

टीचर और स्टूडेंट के रिश्ते को बनाना है मजबूत और खास, तो अपनाएं ये टिप्स

हम सब से जब भी कभी लाइफ की सबसे बेहतरीन यादों और पलों के बारे में पूछा जाता है, तो बरबस ही हम सब अपने स्कूल के दिनों में खो जाते है। जहां एक तरफ ढेर सारी की गई मस्ती और शरारतें होती हैं,तो दूसरी तरफ टीचर्स से गलतियों पर पड़ने वाली डांट याद आती है।

टीचर और स्टूडेंट के रिश्ते को बनाना है मजबूत और खास, तो अपनाएं ये टिप्स
X

टीचर और स्टूडेंट का रिश्ता उन खास रिश्तों में से एक होता है जिसे हम पूरी जिंदगी भी नहीं भूल पाते हैं ये रिश्ता तब और स्पेशल बन जाता है। जब आप अपने फैवरेट टीचर के फैवरेट स्टूडेंट्स में से एक हो।

माना जाता है कि किसी भी बच्चे की जिंदगी की नींव को एक मां रखती है तो इसके साथ ही एक टीचर या शिक्षक उसे भविष्य की आंधियों में डटे रहने की मजबूती देता है।आपकी लाइफ में भी ऐसा ही कोई टीचर होगा।

जिसे स्कूल छोड़ने के बाद भी आप हमेशा अपनी यादों में रखते है हर किसी शख्स का अपने स्कूल और अपने खास टीचर से एक अलग रिश्ता होता है। आज हम आपको टीचर और स्टूडेंट के उसी स्पेशल रिश्ते को और मजबूत करने के कुछ खास टिप्स बता रहे हैं।

टीचर और स्टूडेंट के रिश्ते को मजबूत करने के टिप्स :

1. बच्चों को नाम से जानें - अगर आप एक टीचर है और आपको अपने स्टूडेंट्स के साथ रिश्ते को मजबूत करना है, तो सबसे पहले आप अपने स्टूडेंट्स के नाम याद रखें, क्योंकि इससे आप एक वक्त पर एक स्टूडेंट पर ध्यान दे पाएंगी, जिससे बच्चे को एक स्पेशल केयर और अटेंशन फील होगी और वो पढ़ाई में अपना बेस्ट दे सकेगें।

2. गलती पर प्यार से समझाएं - स्कूलिंग हर किसी की जिंदगी का वो अहम हिस्सा होता है जिसमें वो अनगिनत गलतियां तो करते हैं साथ ही ऐसी चीजें सीखते हैं, जो हमें ताउम्र काम आती हैं। इसलिए एक टीचर को चाहिेए कि अपने स्टूडेंट्स को गलती करने पर प्यार से समझाएं और उन्हें उस गलती के साइड इफेक्ट्स भी बताएं जिससे वो उसे दुबारा करने से बचें।

3. स्टूडेंट्स से करें फ्रेंडशिप - अगर आपको एक अच्छा टीचर बनना है और बच्चों के दिलों में जगह बनानी है तो, उसके लिए आपको सबसे पहले आपको उनसे दोस्ती करनी चाहिए, जिससे वो बिना किसी डर और हिचक के अपनी प्रॉब्लम्स शेयर कर सकें। आपके ऐसे बिहेवियर से स्टूडेंट्स कई बार अपनी पर्सनल प्रॉब्लम्स भी आपसे शेयर कर पाते हैं जिन्हें वो अपने पेरेंट्स से भी नहीं कह पाते।

4. टेलेंट को पहचानें - एक अच्छे टीचर वही होता है जो अपने स्टूडेंट्स में छुपे हुए टेलेंट को पहचानें और उसे निखारने में उसकी मदद करे, इसलिए आपको भी अपने स्टूडेंट्स में छुपे एक्टिंग, सिंगिग, डांसिग, स्पोर्टस जैसे हुनर को ढूंढें और उनको स्कूल में होने वाले फंक्शन्स में दिखाने का मौका दें।

5. प्रोत्साहित और तारीफ करें - अक्सर जब भी कोई बच्चा गलती करता है तो बड़े उसे गलती का एहसास कराने के लिए डांटते हैं या सजा देते हैं, जबकि अगर वही बच्चा किसी कॉम्पिटिशन में मेडल लाता है तो पेरेंट्स अपने बच्चे की मेहनत की तारीफ से अक्सर बचते हैं।

ऐसे में एक टीचर को चाहिए कि वो स्टूडेंट्स को गलती पर प्यार से डांटे और लाइफ में आगे बढ़ने के लिए,कुछ भी अचीव करने पर उसे स्पेशल फील करवाए।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

और पढ़ें
Next Story