Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

बढ़ते प्रदूषण में अपनों का रखना है ख्याल, तो इन बातों का जरूर रखें ध्यान

आजकल कई शहरों में पॉल्यूशन लेवल बढ़ गया है। इसका असर घर के अंदर भी नजर आता है। लेकिन आप कुछ बातों का ध्यान रखें तो अपने घर को पॉल्यूशन फ्री बना सकती हैं। जानिए, घर की हवा को साफ बनाने के लिए क्या करें।

बढ़ते प्रदूषण में अपनों का रखना है ख्याल, तो इन बातों का जरूर रखें ध्यान
घर को सुंदर बनाने के लिए आप सजावट के कई तरीके अपनाती हैं, लेकिन घर के सुंदर होने के साथ-साथ प्रदूषण मुक्त यानी पॉल्यूशन फ्री होना भी जरूरी है। तभी आप घर में साफ हवा में सांस ले पाएंगी। इसके लिए आपको साफ-सफाई का पूरा ख्याल रखना होगा और ऐसे प्रयास भी करने होंगे, जिससे घर में प्रदूषण न हों।

1.साफ-सफाई का ध्यान

घर की नियमित सफाई करें। सीलन भरे बाथरूम, कीड़े-मकौड़े प्रदूषण पैदा करने वाले बैक्टीरिया को जन्म देते हैं। घर के बाकी हिस्से की सफाई के साथ-साथ बाथरूम की सफाई पर खास ध्यान दें।
बाथरूम के दरवाजे, खिड़कियों को खुला रखें, जिससे इनमें सीलन न हो। नहाने के बाद बाथरूम को अच्छी तरह वाइपर से साफ करें। अगर साफ-सफाई रखने के बाद भी कीड़े-मकौड़े हों तो पेस्ट कंट्रोल करवाएं। पेस्ट कंट्रोल में ऐसे विकल्प का चयन करें, जो ऑर्गेनिक हो और जिसमें घर में प्रदूषण कम फैले।
इसी तरह कालीन और गलीचों में रोज जमा होने वाली धूल मिट्टी भी घर में प्रदूषण का कारण बन सकती है, ऐसे में कालीन या गलीचों के स्थान पर लकड़ी की कवरिंग वाले फर्श को प्रॉयोरिटी दें। अगर कालीन का इस्तेमाल करना जरूरी लगे तो छोटे कालीन इस्तेमाल में लाएं और इनकी रोज सफाई करें।

यह भी पढ़ें : भारतीयों से ज्यादा खुश हैं पाकिस्तानी,वर्ल्ड हैप्पीनेस रिपोर्ट का दावा, जानिए वजह

2.खुली रखें डोर्स-विंडोज

घर की दूषित वायु को बाहर निकालने के लिए घर में एग्जॉस्ट फैन लगाएं। बाहर की ताजी और साफ हवा के लिए क्रॉस वेंटीलेशन की व्यवस्था होनी चाहिए। इसके साथ ही बालकनी वाले रूम का दरवाजा, खिड़कियां भी सुबह, दोपहर के वक्त खुला रखें। इससे धूप और साफ हवा घर में आएगी।

3.केमिकल पेंट से दूरी

पेंट और रंग रोगन में लेड या शीशा मिलाया जाता है। सस्ते पेंट में इस तरह के केमिकल्स की मिलावट की जाती है जो त्वचा और सांस संबंधी रोगों का कारण बनता है। ऐसे में दरवाजों और दीवारों पर ऐसे पेंट या कलर डिस्टेंपर करवाएं, जिनसे प्रदूषण न फैले।

4.क्वालिटी वाला फर्नीचर

फर्नीचर हमेशा अच्छी क्वालिटी का खरीदें। सस्ते के फेर में बोर्ड से बने फर्नीचर में दीमक और कीड़े-मकौड़े अपना स्थायी निवास बनाकर घर में प्रदूषण फैलाते हैं। लकड़ी के बने समान को बनाने में ऐसे केमिकल्स का इस्तेमाल किया जाता है, जो घर में प्रदूषण फैलाते हैं। ऐसे में अच्छी क्वालिटी का फर्नीचर ही लें।

5.एयर प्यूरीफायर का यूज

बाजार में आजकल वायु प्रदूषण को कम करने वाले उपकरण यानी एयर प्यूरीफायर मिलते हैं, जो घर में प्रवेश करने वाली हवा की गुणवत्ता पर पूरा नियंत्रण रखते हैं। कई ऐसे यंत्र भी हैं, जिनसे हल्की मात्रा में ओजोन का रिसाव होता है, जो हवा को प्रदूषण मुक्त रखते हैं। आप अपने बजट के हिसाब से ऐसे उपकरण घर में लगा सकती हैं। इन सभी बातों का ख्याल रखकर आप अपने घर को पॉल्यूशन फ्री बना सकती हैं।
Next Story
Top