Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

सोशल मीडिया और टेक्नोलॉजी से रिश्ते में आ रही हैं दूरियां, तो अपनाएं ये टिप्स

आजकल की बिजी लाइफस्टाइल के अलावा तकनीक से बढ़ता लगाव भी मैरीड लाइफ में दूरी बढ़ा रहा है। ऐसे में जरूरी है कि टेक्नोलाइफ के साथ अपने पार्टनर को इंपॉर्टेंस दी जाए। जानिए, किस तरह ऐसा करना मुमकिन है।

सोशल मीडिया और टेक्नोलॉजी से रिश्ते में आ रही हैं दूरियां,  तो अपनाएं ये टिप्स
X

वरुण और मीतू की शादी को करीबन दो साल हो गए हैं। शादी के शुरुआती दिनों में दोनों एक-दूसरे के साथ ज्यादा से ज्यादा वक्त बिताने की कोशिश करते थे। छुट्टी के दिन एक-दूसरे को पूरा समय देते थे। इतना ही नहीं, दोनों चाहे कितने भी बिजी हों, रात को साथ ही खाना खाते थे। खाना खाने के बाद एक-दूसरे का हाथ थामे साथ में वॉक करते थे। लेकिन समय के साथ जैसे-जैसे जिम्मेदारियां बढ़ने लगीं, दोनों ही अपनी दिनचर्या में कुछ ज्यादा ही मसरूफ हो गए।

अब दोनों शाम को एक साथ होते हैं, लेकिन उस दौरान मीतू अपने दोस्तों, रिश्तेदारों से फोन पर बात करना पसंद करती है, वहीं वरुण भी अपने फोन में सोशल साइट पर ही बिजी रहता है। यानी जो समय उनके पास बचता भी है, उसे अपने लिए यूज नहीं करते हैं।

यह हाल सिर्फ मीतू और वरुण का ही नहीं है। कई कपल्स इस तरह की सिचुएशन से गुजरते हैं। इस रवैए की वजह से उनका दांपत्य जीवन प्रभावित होता है। ऐसे में जरूरी है कि कपल्स टेक्नोफ्रेंडली होने की बजाय अपने रिलेशन को लेकर सीरियस बनें। इसके लिए कुछ बातों पर ध्यान दें।

टेक्नो डिटॉक्स है जरूरी

टेक्नोफ्रेंडली लोग बहुत ज्यादा सोशल साइट्स पर, चैटिंग, वीडियो या ऑनलाइन फिल्म देखने में अपना समय खराब करते हैं। ऐसे में उनके पास अपने पार्टनर के साथ बिताने के लिए समय ही नहीं बचता है। इससे धीरे-धीरे पति-पत्नी के बीच कम्युनिकेशन गैप बढ़ने लगता है।

जब डिफरेंस बढ़ने लगते हैं तो ऐसे कपल अपने कमजोर होते रिश्ते के लिए बिजी लाइफ और समय की कमी को दोष देते हैं, जबकि यह बात पूरी तरह सही नहीं है। असल में कपल्स को चाहिए कि रिलेशनशिप को हैप्पी बनाने के लिए एक-दूसरे के साथ समय बिताएं।

लेकिन यह तभी मुमकिन है, जब कपल्स टेक्नो डिटॉक्स को फॉलो करेंगे। इसका मतलब है कि छुट्टी के दिन मोबाइल, गैजेट से दूर रहें और एक-दूसरे के साथ समय बिताएं। शाम के समय भी सोशल साइट्स में बिजी होने की बजाय एक-दूसरे के साथ बातचीत करें।

अलर्ट-नोटिफिकेशंस बंद करें

आजकल अगर हम चाहें कि फोन का यूज नहीं करेंगे तो भी अलर्ट-नोटिफिकेशन हमें मजबूर कर देते हैं कि अपना फोन चेक करें। ऐसे में जब आप पार्टनर के साथ समय बिता रहे हों। तो सबसे पहले अलर्ट-नोटिफिकेशंस को बंद कर दें।इससे आप पार्टनर के साथ बिना किसी खलल के बाद बातचीत कर पाएंगे। ऐसा करने से आपको टेक्नो डिटॉक्स करने में भी आसानी होगी।

टेक्नोलॉजी का सही इस्तेमाल

ऐसा नहीं है कि टेक्नोलॉजी हमेशा आपके रिश्ते के लिए खराब ही होती है। बस जरूरत है तो इसे सही समय पर सही तरीके से इस्तेमाल करने की। जैसे आप ऑफिस में हैं और पार्टनर के टच में रहना चाहती हैं।

तो वीडियो कॉल, वाट्सएप या अन्य तरीकों से बात करें। एक-दूसरे का हाल-चाल पूछते रहें। इससे आपकी बातचीत का सिलसिला बना रहेगा और कम्युनिकेशन गैप फील नहीं होगा।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story