Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

सिगरेट से ज्यादा खतरनाक है हुक्का: रिपोर्ट

हुक्का पीने की वजह से सेहत पर बड़ा असर पड़ता है।

सिगरेट से ज्यादा खतरनाक है हुक्का: रिपोर्ट
नई दिल्ली. अक्सर आपने लोगों को ये कहते सुना होगा सिगरेट से बेहतर है हुक्का, लेकिन आपको सेंटर्स फॉर डिज़ीज़ कंट्रोल एंड प्रिवेंशन की रिपोर्ट जानकर हैरानी होगी कि हुक्का पीना सिगरेट के मुकाबले ज्यादा नुकसानदेह है और इससे कैंसर जैसी खतरनाक बीमारियां होने की सम्भावना ज्यादा हैं। सीडीसी के मुताबिक, हुक्का पीते वक्त लोग आम तौर पर लोग एक घंटे में 200 बार कश लगाता है। वहीं, एक सिगरेट औसतन 20 कश तक चलती है।
कम वक्त में ज्यादा धुआं अंदर
दिल्ली के श्री बालाजी एक्शन मेडिकल इंस्टिट्यूट के कार्डियोलॉजिस्ट अमर सिंघल के मुताबिक, 'स्मोकिंग न करने वालों को हुक्के से उठने वाला धुआं भी बहुत नुकसान पहुंचाता है। इसमें न केवल तंबाकू का धुआं बल्कि हीट पैदा करने वाले उस सोर्स का भी धुआं मिला होता है, जिसका हुक्के में इस्तेमाल होता है। हुक्के में लोग कम वक्त में ज्यादा धुआं अंदर लेते हैं, इसलिए फेफड़ों को ज्यादा नुकसान पहुंचता है। इसकी वजह से सांस लेने में दिक्कत, मेननजाइटिस और ब्रांकाइटिस जैसी बीमारियां हो सकती हैं।' एनबीटी के मुताबिक, डॉक्टर सिंघल ने बताया, 'वक्त के साथ शरीर में कार्डियोवेस्क्युलर और सांस लेने से जुड़ी बीमारियां भी पैदा हो सकती हैं। हुक्का पीने की वजह से वजन में कमी के अलावा फेफड़े, भोजन नली और अग्न्याशय का कैंसर हो सकता है। वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गनाइज़ेशन के मुताबिक, तंबाकू की वजह से दुनिया भर में 50 लाख मौतें होती हैं। अगर हालात काबू नहीं किए गए तो मरने वालों का आंकड़ा 84 लाख तक पहुंच सकता है।
थूक के रंग में बदलाव
हुक्का पीने की वजह से सेहत पर बड़ा असर पड़ सकता है। शुरुआती लक्षण सांस लेते वक्त सीने में दर्द और थूक के रंग में बदलाव हो सकते हैं। एम्स के मनोरोग विभाग के हेड सुधीर खंडेलवाल ने कहा कि तंबाकू किसी भी रूप में लिया गया हो, वो वैसा ही नुकसान पहुंचाता है जैसा कि तंबाकू चबाने से होता है। खंडेलवाल के मुताबिक, लोग हुक्का पीना शौकिया तौर पर शुरू करते हैं, लेकिन बाद में उन्हें इसकी लत लग जाती है। जिसका परिणाम काफी घातक सिद्ध होता है और इंसान कई बिमारियों की चपेट में आ जाता है।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top