Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

इन घरेलू उपचारों से नही आएगी ''मिर्गी''

न्यूरॉन्स सही तरीके से काम करे तो मिर्गी जैसी बीमारी पकड़ लेती है।

इन घरेलू उपचारों से नही आएगी मिर्गी
X

नई दिल्ली. मिर्गी दिमाग की एक ऐसी बीमारी है जो बिना किसी जानकारी के अचानक ही आ जाती है। दुनियाभर में अधिकांश लोग ऐसे हैं जो एक न एक बार इस बीमारी की चपेट में आते ही हैं। जब किसी व्यक्ति को मिर्गी के दौरे आते हैं तो लोग अलग-अलग धारणाएं बनाने लग जाते हैं, उन्हे लगता है कि एक एब्नॉर्मल होने का संकेत हैृ लेकिन वास्तव में ऐसा नही है। दरअसल, मष्तिष्क का सारा काम न्यूरॉन्स पर निर्भर करता है अगर न्यूरॉन्स सही तरीके से काम करे तो मष्तिष्क को सिग्नल भी इसी के द्वारा दिया जाता है, लेकिन जरा सोचिए अगर न्यूरॉन्स की काम करना बंद कर दे तो क्या होगा? बता दें कि अगर न्यूरॉन्स काम करना बंद कर दे तो व्यक्ति को मिर्गी जैसी खतरनाक बीमारी होती है और उसे दौरे आने लगते है। इसके कारण रोगी को भीड़ में, झटका लगने पर, कम या ज्यादा लाइट, तनाव की वजह से भी मिर्गी के दौरे पड़ते है। उस वक्त रोगी के मुंह से झाग निकलने लगता है, शरीर अकड़ जाता है, रोगी कुछ वक्त के लिए बेहोश हो जाते हैं। ऐसे में कई घरेलू उपचार भी है, जिससे मिर्गी से पीड़ित व्यक्ति इन घरेलू उपचार से इस बीमारी से निजात पा सकते हैं....

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story