Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

छिपकली से होती हैं ये खतरनाक बीमारियां, इन घरेलू नुस्खों द्वारा घर से भगाएं छिपकली को

छिपकली पृथ्वी पर आज से 200 मिलियन वर्ष पहले से है यानि लगभग डायनासोर के समय से। आपके घरों में जो छिपकली है वो गेको प्रजाति की छिपकली है।

छिपकली से होती हैं ये खतरनाक बीमारियां, इन घरेलू नुस्खों द्वारा घर से भगाएं छिपकली को

छिपकली एक ऐसी जीव है जो आपके ही घर में आपसे ज्यादा हक के साथ रहती है। घर की दीवारों पर छिपकली हो, तो अक्सर हम नजरअंदाज कर देते हैं, क्योंकि हमें लगता है कि इस छोटे से जीव से हमें कोई परेशानी नहीं हो सकती है। पृथ्वी पर छिपकली का इतिहास हम मानवों से बहुत पहले का है।

छिपकली पृथ्वी पर आज से 200 मिलियन वर्ष पहले से है यानि लगभग डायनासोर के समय से। आपके घरों में जो छिपकली है वो गेको प्रजाति की छिपकली है। छिपकली की 5000 प्रजातियों में से ये अकेली छिपकलियां हैं जो अपने गले से टर्र-टर्र की आवाज निकाल सकती हैं।

आमतौर पर लोग मानते हैं कि छिपकलियों से आदमी को कोई खतरा नहीं होता है मगर ऐसा नहीं है। आइये हम आपको बताते हैं कि छिपकलियां आपके लिए कितनी खतरनाक हैं और किन घरेलू नुस्खों से आप इन्हें घर से बाहर भगा सकते हैं।

घर में छिपकली से क्या है खतरा?

छिपकली प्रत्यक्ष रूप से आदमी को किसी तरह का नुकसान नहीं पहुंचाती है। मगर छिपकली का मल आपके स्वास्थ्य के लिए बहुत खतरनाक हो सकता है। खासकर बच्चों के लिए ये कई बार जानलेवा भी हो सकता है।

घर में अगर छिपकली है तो अक्सर कोनों पर या दीवारों पर इसका मल आपको दिख जाएगा। अगर आपके घर में छिपकलियां बहुत ज्यादा हैं, तो उनके मल से होने वाला खतरा भी बहुत ज्यादा होगा, क्योंकि कई बार पैरों के नीचे, दीवारों पर या कोनों में छिपकलियों का ये मल आपके या बच्चों के संपर्क में आ सकता है।

छिपकली से हो सकती है फूड प्वायजनिंग

छिपकली के मल और इसके लार में सल्मोनेला नाम का एक बैक्टीरियम होता है, जिससे फूड प्वायजनिंग का खतरा बहुत ज्यादा होता है। आपने अक्सर सुना होगा कि खाने में छिपकली के गिरने से और उस खाने को खाने से लोगों की मौत हो जाती है या तबीयत खराब हो जाती है। फूड प्वायजनिंग के सामान्य लक्षण इस प्रकार हैं।

छिपकली को भगाने के घरेलू नुस्खे..................

Next Story
Top