Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

अगर आपके भी हाथ और पैर में हैं गांठ, तो अपनाएं ये घरेलू नुस्खे

कई बार शरीर के किसी हिस्से में अचानक से एक गांठ उभर आती है जिसमें किसी भी तरह का दर्द नहीं होता है, लेकिन ये गांठ देखने में अच्छी नहीं लगती है। इस तरह की गांठ को मेडिकल भाषा में लाइपोमा की गांठ या चर्बी की गांठ कहा जाता है।

अगर आपके भी हाथ और पैर में हैं गांठ, तो अपनाएं ये घरेलू नुस्खे

कई बार शरीर के किसी हिस्से में अचानक से एक गांठ उभर आती है जिसमें किसी भी तरह का दर्द नहीं होता है, लेकिन ये गांठ देखने में अच्छी नहीं लगती है। इस तरह की गांठ को मेडिकल भाषा में लाइपोमा की गांठ या चर्बी की गांठ कहा जाता है।

आमतौर पर ये गांठ हाथ, पैर या गर्दन के आसपास होती है। ये गांठ बेहद ही मुलायम होती है साथ ही वक्त के साथ साथ अपनी जगह भी बदलती रहती है। जबकि सख्त और न हिलने वाली गांठ कैंसर की वजह बन सकती है।

चर्बी की गांठ के घरेलू उपचार :

1. जंक फूड का कम सेवन

अगर आप जंक फूड का सेवन ज्यादा करते हैं, तो आपको चर्बी की गांठ की समस्या का सामना करना पड़ सकता है। वैसे तो इस रोग का कारण डॉक्टर्स को भी नहीं पता है, लेकिन अगर आप इस गांठ को खत्म करना चाहते हैं,तो आप ऑयली और जंक फूड खाना बंद कर दें, जबकि अगर आप कुछ दिनों तक लगातार ऑयली और जंक फूड खाते हैं,तो आप देखेगें कि गांठ का आकार बढ़ गया है।

2. आटे और शहद का लेप करें

आप अगर चर्बी की गांठ से छुटकारा पाने चाहते हैं, तो आप घर में आटे और शहद को एक समान मात्रा में मिलाकर एक लेप बना लें और उसे गांठ वाली जगह पर 2-3 घंटे के लिए लगाकर छोड़ दें। आप चाहें, तो लेप पर कोई नैपकीन भी लगा सकती हैं जिससे लेप आपके कपड़ों पर न लगे।

3. सुबह लगाएं दौड़

आप गौर से देखेगें तो आपको पता चलेगा कि आपके हाथ या पैर की गांठ, चर्बी से बनी हुई गांठ है, इसलिए अगर आप रोज सुबह दौड़ लगाएं, तो 2 महीने में धीरे-धीरे ये शरीर की चर्बी के कम होने या उसके पिघलने से अपने आप ये गांठ भी छोटी हो जाएगी।

4. सुई की मदद से गांठ निकलवाएं

चर्बी की गांठ की सर्जरी करवाने पर इसके कई बार त्वचा पर निशान रह जाते है। इसके लिए अब डॉक्टर एक सुई की मदद से गांठ के अंदर से चर्बी निकालते हैं, जिससे किसी तरह का कोई निशान न बनें, लेकिन इसे हमेशा डॉक्टर की एडवाइज के बाद ही करवाएं। घर में खुद कभी न करें ट्राई।

5. सर्जरी से गांठ का करें इलाज

अक्सर लोग अपने शरीर की गांठों को सर्जरी के जरिए निकलवाते हैं, जिसमें डॉक्टर गांठ की जगह पर चीरा लगाकर, गांठ को बाहर निकाल देते हैं। लेकिन सर्जरी से ये गांरटी नहीं मिलती कि दुबारा गांठ आएगी या नहीं। इसके साथ ही त्वचा पर सर्जरी के निशान रह जाते हैं और लोगों को फिर से उसी दर्दनाक सर्जरी से गुजरना पड़ता है।

Next Story
Share it
Top