Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

Holi 2019 : होली के रंगों से बालों और त्वचा को है बचाना, तो करें ये छोटा सा काम

होली आते ही हम दिन गिन गिनकर उस दिन का इंतजार करते हैं जब हम रंगों के त्यौहार होली का जमकर मजा लेंगे। लेकिन होली के रंग हमारी खूबसूरती को बिगाड़ते हैं। होली में लगे पक्के रंगों को त्वचा और बालों से छुड़ाने के लिए काफी मशक्कत करनी पड़ती है। होली के हुड़दंग में अकसर हम सब कुछ भूलकर इसका पूरा मजा लेते हैं। लेकिन इस बीच हम अपनी ब्यूटी की अनेदखी कर देते हैं। जी, हां! हमें चाहिए कि होली के दौरान अपनी ब्यूटी और फैशन स्टेटमेंट को पूरी तरह मेंटेन रखें यानी अपनी त्वचा के प्रति सजग रहें। असल में रंगों से हमें एलर्जी हो सकती है। कुछ लोग रंगों में इस्तेमाल रसायन की वजह से खाज की गिरफ्त में आ जाते हैं। त्वचा के अलावा कई बार इनकी वजह से बाल भी झड़ने लगते हैं लेकिन इसका यह भी मतलब नहीं कि हम अपने को घर के भीतर बंद कर लें। होली में बालों और त्वचा को हम कैसे बचाकर रखें।

Holi 2019 : होली के रंगों से बालों और त्वचा को है बचाना, तो करें ये छोटा सा काम

Holi 2019 : होली आते ही हम दिन गिन गिनकर उस दिन का इंतजार करते हैं जब हम रंगों के त्यौहार होली का जमकर मजा लेंगे। लेकिन होली के रंग हमारी खूबसूरती को बिगाड़ते हैं। होली में लगे पक्के रंगों को त्वचा और बालों से छुड़ाने के लिए काफी मशक्कत करनी पड़ती है। होली के हुड़दंग में अकसर हम सब कुछ भूलकर इसका पूरा मजा लेते हैं। लेकिन इस बीच हम अपनी ब्यूटी की अनेदखी कर देते हैं। जी, हां! हमें चाहिए कि होली के दौरान अपनी ब्यूटी और फैशन स्टेटमेंट को पूरी तरह मेंटेन रखें यानी अपनी त्वचा के प्रति सजग रहें। असल में रंगों से हमें एलर्जी हो सकती है। कुछ लोग रंगों में इस्तेमाल रसायन की वजह से खाज की गिरफ्त में आ जाते हैं। त्वचा के अलावा कई बार इनकी वजह से बाल भी झड़ने लगते हैं लेकिन इसका यह भी मतलब नहीं कि हम अपने को घर के भीतर बंद कर लें। होली में बालों और त्वचा को हम कैसे बचाकर रखें आइए इस बारे में जानें-

Holi 2019 : होली की तैयारी कैसे करें, जानें

होली खेलने के दौरान ऐसे कपड़े पहनें जिसमें पूरा शरीर ढका रहे। गर्दन में ऊपर तक हाईनेक और फुल स्लिीव्स कपड़े पहनें ताकि शरीर के सभी अंग ढके रहें और रंगों का इन पर बुरा असर न हो सके। इसके अलावा शरीर पर होली खेलने के लिए निकलने से पहले नारियल का तेल या मॉश्स्चराइजर लगा लें।
रंग छुड़ाने के दौरान बाल धोने के बाद उनकी कंडीशनिंग करें। यदि बाल रंगों के दुष्प्रभाव से रूखे हो जाते हैं तो उनमें तेल की मालिश करें।
होली खेलने के दौरान अपनी आंखों की सुरक्षा पर पूरा ध्यान दें। आंखों में रंग न जाए इसके लिए सनग्लासेस पहनें। जिस दौरान कोई रंग लगाए आंखों को अच्छी तरह से बंद कर लें। यदि आंखों में रंग जाए तो आंखों को तुंरत धोएं।
बालों को रंगों के दुष्प्रभाव से बचाने के लिए सिर पर टोपी लगाएं। इसके अलावा नारियल के तेल की मालिश करें। ऑयल मसाज बालों को खतरनाक रसायनों के बुरे असर से बचाकर रखती है तथा बालों को धोने पर इससे रंग आसानी से निकल जाता है।
होली के दौरान लगातार पानी पीते रहें। इससे त्वचा में नमी बनी रहती है।
होली के बाद चेहरे की साफ सफाई के लिए फेशियल कराने से बचें। इससे चेहरे के रोमकूपों में गई ग्रीस, धूल मिट्टी या रंग की वजह से मुंहासे हो सकते हैं।
होंठो को रंगों के प्रभाव से बचाने के लिए उन पर पेट्रोलियम जैली की मोटी परत लगाएं। इसके स्थान पर माॅइस्चराइजर का भी इस्तेमाल किया जा सकता है।
होली के खेलने के तुंरत बाद अपने शरीर पर लगे रंगों को तुरंत साफ करें। जिस समय गीले हो उसी समय उन्हें धोएं क्योंकि सूखने के बाद यह त्वचा पर गहरे निशान छोड़ जाते हैं।

Holi Gifts : ये हैं होली के सबसे रंगीन और यादगार गिफ्ट्स

त्वचा को रंगों के दुष्प्रभाव से बचाने के लिए आटे में तेल डालकर नींबू के छिलकों से त्वचा को साफ करें। नहाने के बाद शरीर पर माॅइस्चराइजर लगाएं। नहाने के पानी में नींबू के रस की कुछ बूंद डालकर त्वचा की साफ सफाई करें।
त्वचा पर लगे रंगों को छुड़ाने के लिए इसे ज्यादा न रगड़े। इससे रंग तो कम छूटता है लेकिन त्वचा को ज्यादा नुकसान हो सकता है।
चेहरे पर लगे रंगों को छुड़ाने के लिए ऑलिव ऑयल का इस्तेमाल करें। चेहरे को हल्के गर्म पानी से धोएं और इस पर अच्छी क्वालिटी का मॉश्स्चराइजर लगाएं।
होली के रंगों से त्वचा में सनबर्न हो सकता है और त्वचा टैन हो सकती है। मॉश्स्चराइजर के बाद सनस्क्रीन भी लगाएं। नाखूनों को पक्के रंगों से बचाने के लिए इन पर गहरे रंग की नेलपॉलिश लगाएं।
रंगों के कारण त्वचा ज्यादा संवेदनशील हो जाती है। इसलिए होली के बाद ब्लीचिंग, शेविंग तुरंत न कराएं ताकि हमारी त्वचा को रंगों से हुए नुकसान की रिकवरी के लिए थोड़ा समय मिल सके। घर में ही घरेलू चीजों से बने उबटन लगाएं।
होली के तुरंत बाद नाखूनों को रंगों से होने वाली क्षति से बचाव के लिए मैनिक्योर या पैडिक्योर न कराए क्योंकि इनमें लगे रसायनयुक्त रंग हमारे नाखूनों और उनके पोरों में अवरोध पैदा कर सकते हैं।
रंगों से होने वाले बालों के नुकसान के लिए अपने बालों को न तो कर्ल कराएं और न ही बालों के लिए कोई नए किस्म का ट्रीटमेंट कराएं। यह हमारे बालों को रूखा और बेजान बना सकता है।
होली खेलने के बाद यदि बार बार शैम्पू करने से बाल रूखे या बेजान हो जाते हैं या फिर रंगों में मौजूद रासायनों के कारण बाल गिरने लगते हैं तो सोने से पहले जैतून और बादाम के तेल से बालों की मालिश करें। इससे बालों की खोयी चमक वापिस मिल सकती है।
होली खेलने के बाद अपने शरीर की साफ सफाई करें और माॅइस्चराइजर के द्वारा त्वचा को होने वाले नुकसान से इसे उबारें।
अपने चेहरे को गाढ़े रंगों के दुष्प्रभाव से बचाने के लिए चेहरे को तुरंत ठंडे पानी से धोएं। इससे चेहरे पर दाग भी नहीं पड़ते और होली खेलने के बाद वह रंग आसानी से उतर जाता है।
Share it
Top