logo
Breaking

क्या है ये बवासीर की बला, जानिए कारण और उपचार

सही तरीके से ध्यान न रख पाने के कारण लोगों को बवासीर की समस्या से रूबरू होना पड़ता है।

क्या है ये बवासीर की बला, जानिए कारण और उपचार

रोज की भागदौड़ और शरीर का सही तरीके से ध्यान न रख पाने के कारण लोगों को बवासीर की समस्या से रूबरू होना पड़ता है। इससे बचने के लिए अगर आप अपनी दिनचर्या पर विशेष ध्यान दे तो ये समस्या नहीं होगी।

बवासीर से जुड़ी हर जानकारी के लिए यह रिपोर्ट पढ़ें। इस रिपोर्ट में बवासीर के कारण, लक्षण और निवारण के बारे में बताया गया है।

यह भी पढ़ें: ठंड में रहना है बीमारियों से दूर, तो रोज खाएं एक अंडा

क्या है बवासीर

शरीर के निचले रेक्टम की तरफ गूदे में सूजन होने से बवासीर होता है। इसे पाइल्स या हेमोर्रोइड्स भी कहते हैं। बवासीर दो बाहरी और अंदरूनी दो तरह का होता है। भीतरी बवासीर में इंटरनल ब्लीडिंग होती है और दर्द नहीं होता। जबकि बाहरी बवासीर में गूदे में सूजन के कारण दर्द होता है।

ऐसे पहचानें बवासीर

अगर अंदरूनी बवासीर है तो आपको वॉशरूम जाते वक्त ब्लड दिख सकता है। बाहरी बवासीर में मलाशय के पास खून का थक्का या सूजन हो सकती है।

ये हैं घरेलू इलाज

  • रात में 3 अंजीर पानी में भिगोकर सुबह खाली पेट खाएं और आधे घंटे तक कुछ न खाएं
  • बवासीर में मस्से की वजह से बेचैनी होने पर जीरे के दानों को पानी के साथ पीसकर लेप बना लें और मस्सों वाली जगह पर लगायें। इससे जलन नहीं होगी
  • खूनी बवासीर के इलाज के लिए जीरे को भुनकर पीस लें और दिन में 2-3 बार खाएं
  • दर्द और सूजन को कम करने के लिए बर्फ को कपड़े में बांधकर सिकाई करें
  • एलोवेरा (जेल) को फ्रिज में रखने के बाद इससे भी आप ठंडी सिकाई कर सकते हैं। यह भी जलन और सूजन कम करेगा

यह भी पढ़ें: यही हैं वो बीमारियां, जो सुबह खाली पेट पानी पीने से हो जाएंगी दूर

  • नींबू के रस, अदरक और शहद मिलाकर इसका सेवन करने से बवासीर के दर्द और जलन में आराम मिलता है
  • ज्यादा से ज्यादा फाइबर युक्त भोजन लें। फाइबर वाले खाने से कब्ज की समस्या नहीं होती है
  • सेब के सिरके में रुई का कपड़ा भिगाकर लगाने से आराम मिलता है। थोड़ी जलन होगी लेकिन यह तरीका आराम पहुंचाएगा
  • अंदरूनी बवासीर के लिए एक चम्मच सेब के सिरके थोड़ा पानी मिलाकर पिएं
  • गर्म पानी में खुद को 15-20 मिनट डालकर रखने से खुजली और दर्द की समस्या से निजात मिलती है
  • छाछ में एक चौथाई अजवाइन का पाउडर और 1 ग्राम काला नमक डालकर दोपहर के खाने के साथ पीएं
Share it
Top