Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

गर्भावस्था में महिलाओं को रहता है हार्ट अटैक का सबसे ज्यादा खतरा, जानें वजह

महिलाओं में गर्भावस्था (प्रेग्नेंसी) के दौरान कई तरह के हार्मोनल चेंजेस होते रहते हैं। इन हार्मोनल चेंजेस के कारण महिलाओं में कई प्रकार के शारीरिक और मानसिक बदलाव भी होते हैं। इन बदलावों का महिला के दिमाग पर ज्यादा असर पड़ता है और गर्भावस्था व प्रसव के समय हार्ट अटैक के चांसेस ज्यादा होते हैं।

गर्भावस्था में महिलाओं को रहता है हार्ट अटैक का सबसे ज्यादा खतरा, जानें वजह
X

महिलाओं में गर्भावस्था (प्रेग्नेंसी) के दौरान कई तरह के हार्मोनल चेंजेस होते रहते हैं। इन हार्मोनल चेंजेस के कारण महिलाओं में कई प्रकार के शारीरिक और मानसिक बदलाव भी होते हैं। इन बदलावों का महिला के दिमाग पर ज्यादा असर पड़ता है और गर्भावस्था व प्रसव के समय हार्ट अटैक के चांसेस ज्यादा होते हैं।

हाल ही में हुई एक रिसर्च में इस बात की पुष्टि की गई है। 12 साल तक किए गए इस रिसर्च के दौरान महिलाओं की प्रेग्नेंसी में उनके लेबर पेन व प्रसव के बाद के शुरुआती दिनों में हार्ट अटैक रेट चेक की गई। इसमें पाया गया कि महिलाओं के हार्ट अटैक रेट में 25 प्रतिशत का इजाफा हुआ है।

यह भी पढ़ें: बड़ा खुलासा! तो इसलिए बचपन में जोर-जोर से पढ़ने के लिए कहा जाता है

ऐसे की गई रिसर्च

हिन्दुस्तान की रिपोर्ट के मुताबिक यह रिसर्च 2002 से 2014 के बीच की गई। शोध में शोधकर्ताओं ने 4.9 करोड़ प्रसव की एंट्री कर एनालिसिस की।

इसके बाद उन्होंने पाया कि शिशु को जन्‍म देने वाली सभी महिलाओं में से 1061 महिलाओं को लेबर पेन या फिर डिलीवरी के समय हार्ट अटैक पड़ा था। वहीं 2390 महिलाओं को बच्चे को जन्‍म देने के बाद हार्ट अटैक हुआ।

एक्सपर्ट्स की राय

शोधकर्ताओं के मुताबिक वैसे तो महिलाओं में हार्ट अटैक के चांसेस काफी कम होते हैं। लेकिन जो आंकड़े सामने आए हैं उनसे यह मालूम होता है कि महिलाओं को गर्भावस्‍था के समय हार्ट अटैक का खतरा ज्यादा रहता है।

साथ ही रिसर्च में यह भी पाया गया कि जिन महिलाओं को डिलीवरी के तुरंत बाद हॉस्पिटल में हार्ट अटैक पड़ा उनकी मृत्‍यु दर लगभग 4.5 प्रतिशत थी।

शोधकर्ताओं की मानें तो जिस उम्र में महिलाएं गर्भवती होकर बच्चे को जन्म देती हैं उस उम्र में महिलाओं में हार्ट अटैक का खतरा न के बराबर रहता है। लेकिन गर्भावस्था के दौरान जो मृत्यु दर के आंकड़े सामने आए हैं वह काफी चौंकाने वाले आंकड़े हैं।

यह भी पढ़ें: सावधान! नशे की लत लगने पर शरीर में होते हैं ये बदलाव, ऐसे करें पहचान

प्रेग्नेंसी में हार्ट अटैक आने का कारण

प्रमुख शोधकर्ता डॉक्‍टर नैथेनियल स्‍माइलोविज ने बताया कि प्रेग्नेंसी या डिलीवरी के तुरंत बाद का समय महिलाओं के लिए बहुत संवेदनशील होता है और यही वजह है कि गर्भावस्था के दौरान हार्ट अटैक पड़ने के चांसेस बढ़ जाते हैं।

इस उम्र में मां बनने पर हार्ट अटैक के ज्यादा चांसेस

इन दिनों महिलाएं ज्यादा उम्र में गर्भवती होती हैं। विशेषज्ञों की मानें तो जो महिलाएं 20-30 की उम्र में गर्भवती होती हैं उनकी तुलना में 35-39 साल की उम्र में गर्भवती होने वाली महिलाओं को हार्ट अटैक होने का खतरा 5 गुना ज्यादा रहता है। साथ ही 40 की उम्र पार करने के बाद गर्भधारण में यह खतरा और अधिक हो जाता है।

यह रिसर्च मायो क्‍लीनिकल प्रोसीडिंग्‍स नामक पत्रिका में प्रकाशित किया गया था।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story