Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Women Health: यूटीआई क्या है? गर्मियों में क्यों होती हैं इसकी ज्यादा परेशानी

Women Health: महिलाओं को बाकी मौसम के मुकाबले गर्मियों में यूटीआई(यूरिनरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन) की दिक्कत ज्यादा होती है। यह दिक्कत पुरुषों के मुकाबले महिलाओं को ज्यादा होती है। इसमें जरा सी लापरवाही आगे जाकर ब्लैडर और किडनी में नुकसान पहुंचा सकती है।

Women Health: यूटीआई क्या है? गर्मियों में क्यों होती हैं इसकी ज्यादा परेशानी
X
यूटीआई क्या है (फाइल फोटो)

Women Health: अक्सर देखा जाता है कि परिवार और काम काज की जिम्मेदारी के चलते महिलाएं अपनी हेल्थ का ध्यान नहीं रखती है। वो दूसरों का ध्यान तो बहुत अच्छे से रख लेती हैं। मगर अपनी हेल्थ को लेकर वो काफी गैर जिम्मेदार हो जाती हैं। उनकी ये गलती आगे जाकर एक बड़ी परेशानी भी बन जाती है। बीमारी कोई भी हो उसका इलाज शुरू में ही करना बेहतर होता है। वहीं अक्सर महिलाओं को बाकी मौसम के मुकाबले गर्मियों में यूटीआई(यूरिनरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन) की दिक्कत ज्यादा होती है। यह दिक्कत पुरुषों के मुकाबले महिलाओं को ज्यादा होती है। इसमें जरा सी लापरवाही आगे जाकर ब्लैडर और किडनी में नुकसान पहुंचा सकती है। इसी बीच आज हम आपको यूटीआई क्या है और इससे बचने का तरीका भी बताने जा रहे हैं।

क्या है यूटीआई

जैसे जैसे महिलाओं की उम्र बढ़ती है वहीं यह प्रॉब्लम भी ज्यादा होने लगती है। इसका इंफेक्शन आपके वजाइना के आसपास के किसी भी हिस्से को प्रभावित कर सकती है। यह दिक्कत ई-कोली बैक्टीरिया की वजह से होती है। महिलाओं में यह दिक्कत होने की वजह से बैक्टीरिया यूरिनरी ब्लैडर में चले जाते हैं। जिस वजह ये यूरीन करते वक्त बहुत ज्यादा जलन होने लगती है। इसका एक कारण कम पानी पीना भी हो सकता है।

ये हैं कारण

कैफीन

कैफीन का ज्यादा इस्तेमाल करने से यूटीआई होने का खतरा होने लगता है। चाय और कॉफी में कैफीन होता है और इसके सेवन से प्यास कम लगती है। जिस कारण आप कम पानी पीते हैं। जिससे डिहाइड्रेशन होने लगता है और यूटीआई होने के चांस बढ़ जाते हैं।

कोल्‍ड ड्रिंक्‍स

कोल्ड ड्रिंक्स में कार्बोनेटेड होता है। जिसे पीने से यूरीन से डिहाइड्रेशन की शिकायत होने लगती है और आपको यूटीआई होने का खतरा होता है।

अनहाईजीन टॉयलेट

गर्मियों में बैक्टीरिया आसानी से फैलते हैं। जिससे आपको बाद में यूटीआई की परेशानी हो सकती है। इसलिए हमेशा साफ बाथरूम में जाने की ही कोशिश करें। वहीं टॉयलेट का इस्तेमाल करने के बाद हमेशा फ्लश करें।

इन बातों का रखें खास ख्याल

- ज्यादा से ज्यादा पानी पियें।

- टाइट कपड़े पहनने से बचें।

- पब्लिक टॉयलेट का यूज करने से बचें।

- टॉयलेट यूज करने से पहले और बाद में कंमोड की सीट पर पानी डालकर उसे सूखे नैपकिन से साफ करें।

Shagufta Khanam

Shagufta Khanam

Jr. Sub Editor


Next Story