Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

Shardiya Navratri 2019 : शारदीय नवरात्रि पर जानें गर्भवती महिलाएं कैसे रखें व्रत

Shardiya Navratri 2019 Date Time Pregnant Women Precautions शारदीय नवरात्रि की शुरुआत साल 2019 में 29 सितंबर से हो रही है। नौ दिनों तक चलने वाले नवरात्रि के त्यौहार में मां दुर्गा के अलग-अलग 9 रुपों की पूजा अर्चना की जाती है। अधिकांश लोग नौ दिनों तक व्रत रखना पसंद करते हैं जबकि कुछ लोग नवरात्रि के पहले और अंतिम दिन का व्रत रखते हैं। अगर आप गर्भवती हैं और व्रत रखना चाहती हैं, तो ऐसे में कुछ सावधानियां बरतें। आइए जानते हैं गर्भवती महिलाएं कैसे रखें नवरात्रि व्रत...

Shardiya Navratri 2019 : शारदीय नवरात्रि पर जानें गर्भवती महिलाएं कैसे रखें व्रतShardiya Navratri 2019 Shardiye Navratri Vrat Precautions in Pregnancy in Hindi

Shardiya Navratri 2019 : शारदीय नवरात्रि का त्यौहार आने में अब कुछ ही दिन बचे हैं, ऐसे में अगर आप गर्भवती हैं और मां दुर्गा के व्रत रखना चाहती हैं, तो ऐसे में गर्भावास्था की परेशानियों से बचने और शिशु का बेहतर तरीके से ख्याल रखने के लिए इन सावधानियों को जरुर बरतें। क्योंकि आपसे अनजाने में हुई एक भी गलती शिशु के लिए खतरनाक साबित हो सकती है। इसलिए शारदीय नवरात्रि के अवसर पर हम आपको व्रत रखने के नियम और सावधानियों के बारे में बता रहे हैं।

गर्भावास्था में महिलाएं शारदीय नवरात्रि कैसे रखें : Pregnant Women Precautions For Durga Puja Vrat

अगर आप गर्भावास्था में व्रत रखना चाहती हैं। तो इसके लिए सबसे पहले अपने डॉक्टर से सलाह और परमिशन लें। क्योंकि कई महिलाएं शारीरिक रुप से बेहद कमजोर होती हैँ। ऐसे में व्रत रखना मां और शिशु दोनों के लिए खतरनाक साबित हो सकता है। इसलिए डॉक्टर की व्रत की परमिशन देने के बाद ही व्रत रखें।



गर्भावास्था में कब ना रखें

अगर आप सिरदर्द या थकान,हाई ब्लड प्रेशर और डायबिटीज की मरीज हैं, तो भूलकर भी व्रत न रखें। क्योंकि ऐसा करना शिशु के विकास और सेहत पर नकारात्मक प्रभाव डालेगा।




व्रत रखने पर बरतें ये सावधानियां :

1. गर्भावास्था में कभी भी निर्जला व्रत न रखें। इससे शरीर में कमजोरी आने के साथ डिहाईड्रेशन की समस्या हो सकती है। जिसका आपकी सेहत के साथ शिशु पर भी खतरनाक हो सकता है।

2.गर्भावास्था में व्रत रखते समय दिन में हर 2 घंटे के बाद फल और हल्की नमकीन चीजों का सेवन करते रहना चाहिए। इससे शरीर में सोडियम और शर्करा का संतुलन सामान्य बना रहता है।

3. गर्भावास्था में व्रत के दौरान सूखे मेवे का सेवन करना फायदेमंद होता है। इनका सेवन करने से भूख कम लगती है। शरीर में एनर्जी लेवल कम नहीं होता और शरीर के पौषक तत्वों को पूरा करने में मदद मिलती है।

4. आमतौर पर लोग व्रत में चाय और कॉफी का सेवन अधिक करने लगते हैं लेकिन अगर आप गर्भवती हैं, तो भूलकर भी चाय और कॉफी ज्यादा न पीएं। इससे पेट में जलन, एसिडिटी और गैस की समस्या हो सकती है।

5. नवरात्रि के व्रत के दौरान गर्भवती महिलाओं को नारियल पानी, नींबू पानी और फलों के रस का सेवन दिन में 2 बार जरुर करना चाहिए। इससे शरीर में एक्टिवनेस और एनर्जी बनी रहती है। क्योंकि कैल्शियम, विटामिन सी, फाईबर, मैग्नीशियम जैसे पौषक तत्व मिलते हैं।




शारदीय नवरात्रि में व्रत रखने के नियम :

1. नवरात्रि पर घर में कलश स्थापना जरुर करें। इसके साथ ही अगर जौ जरुर बोएं।

2. नवरात्रि में अगर आप अखंड ज्योति जला रही हैं, तो घर को कभी भी अकेला न छोड़ें।

3. नवरात्रि के दिनों में दुर्गा चालीसा या दुर्गा सप्तशती का पाठ करते समय बात करने से बचें।

4. नवरात्रि के दिनों में कभी भी बिना दीपक जलाए मां दुर्गा की पूजा न करें।

5. नवरात्रि में कभी भी अपने पूजा घर को गंदा न छोड़े।

6. नवरात्रि के 9 दिनों तक घर में कोई भी बाल न कटवाएं। पुरुषों को दाढ़ी मूंछ के बाल, बच्चों का मुंडन करवाना भी बेहद अशुभ माना जाता है।

7. नवरात्रि के 9 दिनों तक घर में वाद-विवाद और लड़ाई झगड़े से बचना चाहिए।

8. नवरात्रि के 9 दिनों तक घर में तामसिक भोजन यानि प्याज, लहसुन और नॉन वेज का सेवन नहीं करना चाहिए।

9. नवरात्रि के 9 दिनों तक घर में बालों के अलावा नाखून काटना वर्जित होता है। ऐसे में हमेशा नवरात्रि के पहले या बाद में ही नाखून काटें।

10. नवरात्रि के 9 दिनों में तंबाकू और शराब का सेवन न करें।

Next Story
Top