Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

अब कैंसर को जड़ से खत्म करने में मिलेगी सफलता, वैज्ञानिकों ने खोजा खास वायरस

कैंसर आज के समय में धीरे-धीरे महामारी का रुप लेती जा रही है, लेकिन अब वैज्ञानिकों ने बरसों की मेहनत के बाद एक ऐसा वायरस खोज निकाला है, जो लगभग हर तरह के कैंसर को खत्म करने में सक्षम है। इस वायरस को वैक्सीनिया सीएफ-33 नाम दिया गया है। आइए जानते हैं इस वायरस से जुड़ी अन्य जानकारी....

अब कैंसर को जड़ से खत्म करने में मिलेगी सफलता, वैज्ञानिकों ने खोजा खास वायरसकैंसर की तस्वीर

आमतौर पर दुनिया में 100 से भी अधिक तरह के कैंसर पाए जाते हैं। जो हमेशा तीसरी और चौथी स्टेज में पता चलते हैं, जिसे ठीक करने की बेहद कम संभानवा होती है। इस सफलता के बाद वैज्ञानिक अब कैंसर को जड़ से खत्म करने के मदद मिल सकेगी। हाल ही में वैज्ञानिकों ने कैंसर को जड़ से खत्म करने वाले वायरस वैक्सीनिया सीएफ-33 को खोजने का दावा किया है। ये वायरस आमतौर पर लोगों में सर्दी जुकाम का कारण बनता हैं। इस वायरस को कैंसर सेल्स के साथ इंफ्यूज यानि मिलाने पर काफी हैरान करने वाले रिजल्ट सामने आए।

वैज्ञानिकों ने पाया कि वैक्सीनिया सीएफ-33 के आने के बाद कैंसर सेल्स धीरे-धीरे सिकुड़ रही हैं और अंत में बेहद छोटे आकार की रह जाती हैं। ऑस्ट्रेलियन बायोटेक कंपनी इम्यूजीन ने अमेरिकी वैज्ञानिक और कैंसर स्पेशलिस्ट प्रोफेसर युमान फॉन्ग ने बनाया है।

प्रोफेसर फॉन्ग ने ये वायरस छोटी माता नामक बीमारी के मुख्य वायरस काउपॉक्स से बनाया है। दरअसल, काउपॉक्स नामक वायरस इंसानों पर किसी तरह का दुष्प्रभाव नहीं डालता है। जिसके बाद उन्होंने काउपॉक्स वायरस में अन्य वायरस को मिलाकर चूहों में मौजूद ट्यूमर पर टेस्ट किया। जिसमें वो ट्यूमर में मौजूद कैंसर सेल्स धीरे-धीरे सिकुड़ कर बेहद छोटे हो गए और उनका बढ़ना भी रुक गया है।

अब फिलहाल प्रोफेसर फॉन्ग इस वायरस के क्लिनिकली ट्रॉयल की तैयारी कर रहे हैं। इस ट्रॉयल के सफल होने और अन्य देशों में भी क्लिनिकली सेफ होने पर इसे फेफड़ों के कैंसर, ब्रेस्ट कैंसर, मेलानोमा, गॉल ब्लेडर कैंसर, पेट का कैंसर के मरीजों पर टेस्ट किया जाएगा।

Next Story
Top