Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

सौंफ खाने के फायदे : मुंह की दुर्गंध और पेट के रोगों के लिए रामबाण है सौंफ

Saunf Khane Ke Fayde : सौंफ छोटे पतले दानों वाला एक मसाला होता है। अगर सौंफ के फायदे की बात की जाए तो, इसके फायदे अनगिनत होते हैं जो हमें सामान्य बीमारियों के साथ गंभीर बीमारियों से बचाने में भी बेहद कारगर होते हैं। इसलिए आज हम आपको सौंफ खाने के फायदे (Eating Fennel Benefits) के बारे में बता रहे हैं। वैसे तो बचपन में अक्सर सभी ने रंग-बिरंगी छोटी गोलियों वाली सौंफ का स्वाद जरूर चखा होगा। इसके अलावा घरों में अचार और होटल या रेस्टोरेंट में खाने के बाद मिलने वाली सौंफ मिश्री को कोई कैसे भूल सकता है। चलिए जानते हैं गर्मियों में सेहत को दुरूस्त रखने वाले सौंफ के फायदे (Fennel Benefits in hindi)।

सौंफ खाने के फायदे : मुंह की दुर्गंध और पेट के रोगों के लिए रामबाण है सौंफ

Saunf Khane Ke Fayde : सौंफ छोटे पतले दानों वाला एक मसाला होता है। अगर सौंफ के फायदे की बात की जाए तो, इसके फायदे अनगिनत होते हैं जो हमें सामान्य बीमारियों के साथ गंभीर बीमारियों से बचाने में भी बेहद कारगर होते हैं। इसलिए आज हम आपको सौंफ खाने के फायदे (Eating Fennel Benefits) के बारे में बता रहे हैं। वैसे तो बचपन में अक्सर सभी ने रंग-बिरंगी छोटी गोलियों वाली सौंफ का स्वाद जरूर चखा होगा। इसके अलावा घरों में अचार और होटल या रेस्टोरेंट में खाने के बाद मिलने वाली सौंफ मिश्री को कोई कैसे भूल सकता है। चलिए जानते हैं गर्मियों में सेहत को दुरूस्त रखने वाले सौंफ के फायदे (Fennel Benefits In Hindi)।





सौंफ खाने के फायदे (Eating Fennel Benefits):

1. अगर आप मुंह से आने वाली दुर्गंध से अक्सर परेशान रहते हैं, तो नियमित रूप से सौंफ का खाने के बाद सेवन करने से लाभ मिलेगा।

2. अगर आप इररेगुलर यानि अनियमित पीरियड्स की प्रॉब्लम को फेस कर रही हैं, तो रोजाना सौंफ का सेवन करना फायदेमंद रहेगा।

3. खाने के बाद सौंफ, मिश्री और बादाम को पीसकर खाने से स्मरण शक्ति यानि मैमोरी शॉर्प होती है। अगर आपके बच्चे को चीजें याद रखने में दिक्कत होती है, तो रोजाना 1 छोटा चम्मच सेवन करवाएं।

4.अगर आप आंखों की कम होती रोशनी से परेशान हैं, तो नियमित रूप से सौंफ के साथ मिश्री का सेवन करें।

5. सौंफ की तासीर ठंडी होती है, जिसकी वजह से गर्मियों में सेवन करने से पेट को रोगों में आराम मिलता है। साथ ही खून को साफ करने में भी सौंफ मददगार साबित होती है।




6. अगर आप पेट संबंधी रोग यानि कब्ज, अपच या खट्टी डकार आने की समस्या से परेशान हैं, तो ऐसे में आप गर्म पानी के साथ सौँफ का सेवन करें या सौंफ की चाय पीएं।

7. सौंफ खाने से दिल की बीमारियों को भी आसानी से दूर रखा जा सकता है। क्योंकि सौंफ में पोटेशियम प्रचुर मात्रा में पाया जाता है। जिससे उच्च रक्तचाप सामान्य रहता है और दिल से जुड़ी बीमारियों का खतरा कम हो जाता है।

8. सौंफ खाना प्रेग्नेंसी में भी बेहद फायदेमंद होता है। लेकिन लेकिन सीमित मात्रा में, क्योंकि इसके ज्यादा सेवन करने से गर्भाशय में दिक्कत हो सकती है। गर्भवती महिलाओं को हमेशा में दूध में मिलाकर सौंफ का सेवन करना चाहिए। इससे गर्भावास्था में आने वाली मिचली से भी राहत मिलती है।

9.अगर आप मोटापे या बढ़ते वजन से परेशान हैं, तो ऐसे में सौंफ रामबाण का काम करेगी। पानी में सौंफ को डालकर रंग बदलने तक उबालें और फिर ठंडा करके या गुनगुना सेवन करने से पेट की चर्बी तेजी से घटती है। जिससे कुछ ही दिनों में मोटापा और बढ़ता वजन कम होने लगता है। इसके अलावा सौंफ के पानीसे कफ की समस्या भी दूर होती है।

10. सौंफ में एंटी इंफ्लेमेटरी फायटोनुट्रिएंट और कोलोन नामक कैंसर रोधी तत्व पाए जाते हैं। जो ब्रेस्ट कैंसर की बनने वाली कोशिकाओं की वृद्धि को रोकने में मदद करती है।


11. सौंफ को चबाकर खाने से पाचन क्रिया दुरुस्त रहने के साथ त्वचा के रंग में निखार आता है। इसलिए दिन में 2 बार सेवन करें।

12. अगर आप लंबे समय से खांसी से परेशान हैं, तो ऐसे में सौंफ को अंजीर के साथ सेवन करने से खांसी से में राहत मिलती है।

13. सौंफ का सेवन करने से ब्रेस्ट में दूध की मात्रा में वृद्धि होती है। ये उपाय उन मांओ के लिए सबसे उपयोगी है। जो ब्रेस्ट में दूध न बनने समस्या से परेशान रहती हैं।

14.सौंफ में एंटीऑक्सीडेंट और एंटी-माइक्रोबियल गुण पाए जाते हैं। जिससे बालों में होने वाली ड्राईनेस और खुजली या इंफेक्शन को खत्म करने में मदद मिलती है।एक बॉउल में गुनगुने पानी के साथ सौंफ के पाउडर को मिक्स करें और फिर शैंपू करने के बाद बालों की जड़ों में लगाएं। 15 मिनट या सूखने के बाद बालों को सामान्य पानी से धो लें।

15.अगर आपको मीठी और मधुर आवाज चाहिए, तो ऐसे में नियमित रुप से दिन में 2 बार भुनी हुई सौंफ का सेवन करें।

16. सौंफ का नियमित सेवन करने से रक्त की अशुद्धता दूर होती है। जिससे स्किन प्रॉब्लम्स यानि रेशेज, रेडनेस से भी छुटकारा मिलता है।

17. अगर आप किसी तरह की स्किन एलर्जी से परेशान हैं, तो ऐसे में आप सौंफ का नियमित रुप से सेवन करें। इसके अलावा आप सौंफ के पाउडर को पानी में मिलाकर पेस्ट बनाएं और एलर्जी वाली जगह पर कुछ देर लगाएं। इससे जलन और खुजली से राहत मिलेगी। क्योंकि सौंफ की तासीर ठंडी होती है।

18. अगर छोटे बच्चे के पेट दर्द या बार-बार दूध उलटने की समस्या से परेशान हैं, तो ऐसे में सौंफ का पानी बेहद असरदार रहता है। सौंफ का पानी बनाने के लिए बड़े बर्तन में एक गिलास पानी और 2 चम्मच सौंफ को डालकर एक चौथाई रहने तक उबाल लें, फिर छानकर ठंडा करके बच्चे को पिलाएं। दिन में 2 बार पिलाने से जल्द आराम मिलेगा।

19. सौंफ का पानी और सौंफ की चाय का रोजाना सेवन करने से यूरिन इंफेक्शन से छुटकारा मिलता है। दिन में 3-4 बार सेवन करें।

20.अगर आपको सांस यानि अस्थमा की परेशानी रहती है, तो ऐसे में सौंफ के पानी का सेवन करना फायदेमंद रहेगा। इसके अलावा भुनी सौंफ का सेवन भी कर सकते हैं। क्योंकि सौंफ में एंटीऑक्सीडेंट और एंटी-माइक्रोबियल गुण होते हैं। जो इंफेक्शन के बैक्टीरिया से शरीर को बचाते हैं।

Next Story
Share it
Top