logo
Breaking

सरसों के तेल के फायदे : सेहत के लिए हर मौसम में रामबाण है सरसों का तेल...

Sarson ke Tel ke Fayde : सरसों के तेल के फायदे बहुत सारे होते हैं। आमतौर पर देश में हर घर में खाना पकाने के लिए सरसों के तेल का उपयोग किया जाता है। सरसों के तेल से बना खाना स्वादिष्ट होने के साथ ही हमें सेहतमंद रखने में बेहद कारगर साबित होता है। सरसों के तेल के फायदे की बात करें तो,अक्सर बचपन से हम सभी ने घर में हाथ-पैरों की मालिश, सिर में डालने और त्वचा को रूखेपन से बचाने के लिए सरसों के तेल का इस्तेमाल जरूर किया होगा। लेकिन क्या आप जानते हैं कि सरसों के तेल का नियमित रूप से उपयोग करने से हम कई सारी गंभीर बीमारियों को अपने से दूर रख सकते हैं। सरसों के तेल को आयुर्वेद में एक पूर्ण औषधि माना जाता है। इसलिए आज हम आपको सरसों के तेल के फायदे (Mustered oil Benefits) बता रहे हैं।

सरसों के तेल के फायदे : सेहत के लिए हर मौसम में रामबाण है सरसों का तेल...

Sarson ke Tel ke Fayde : सरसों के तेल के फायदे बहुत सारे होते हैं। आमतौर पर देश में हर घर में खाना पकाने के लिए सरसों क तेल का उपयोग किया जाता है। सरसों के तेल से बना खाना स्वादिष्ट होने के साथ ही हमें सेहतमंद रखने में बेहद कारगर साबित होता है। सरसों के तेल के फायदे की बात करें तो,अक्सर बचपन से हम सभी ने घर में हाथ-पैरों की मालिश, सिर में डालने और त्वचा को रूखेपन से बचाने के लिए सरसों के तेल का इस्तेमाल जरूर किया होगा। लेकिन क्या आप जानते हैं कि सरसों के तेल का नियमित रूप से उपयोग करने से हम कई सारी गंभीर बीमारियों को अपने से दूर रख सकते हैं। सरसों के तेल को आयुर्वेद में एक पूर्ण औषधि माना जाता है। इसलिए आज हम आपको सरसों के तेल के फायदे (Mustred oil Benefits) बता रहे हैं।

सरसों के तेल के फायदे (Mustered oil Benefits):

1. सरसों के तेल को आयुर्वेद में एक पेनकिलर माना जाता है। नियमित रुप से सरसों के तेल से हाथ-पैरों की मसाज करने से थकान या चोट लगने पर होने वाले दर्द में आराम मिलता है।

2. सरसों के तेल में विटामिन ई प्रचुर मात्रा में पाया जाता है। जिसकी वजह से रोजाना सरसों के तेल का सेवन करने और त्वचा पर लगाने से शरीर में नमी बरकरार रहती है। त्वचा रूखी-फटी और बेजान नहीं लगती।

3. अगर आपको अचनाक से भूख कम लगती है, तो ऐसे में सरसों के तेल में बने खाने का सेवन करना बेहद लाभदायक रहेगा। क्योंकि सरसों का तेल पाचन तंत्र के कार्यों को सुचारु रूप से काम करने में मदद करता है। जिसकी वजह से शरीर की भूख में वृद्धि होने लगती है।

4. सरसों के तेल को दर्द निवारक यानि पेनकिलर माना जाता हैं। दांत दर्द में भी सरसों का तेल बेहद असरदार होता है। नमक मिलाकर सरसों के तेल से दांतों और मसूड़ों की हल्के हाथ से मसाज करने पर दर्द में राहत मिलती है, साथ ही मसूड़े भी मजबूत बनते हैं।

5. नियमित रुप से सरसों के तेल का सेवन करने और शरीर की मालिश करने पर हड्डियों में मजबूती आने के साथ इम्यून सिस्टम स्ट्रांग बनता है। जिससे शरीर मौसमी बीमारियों से बचा रहता है।

Share it
Top