Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

महिलाएं पीरियड में जरुर खाएं ये खास चीजें और पेट दर्द से पाएं निजात

अगर आप भी पीरियड्स में पेट के दर्द के लिए अक्सर पेनकिलर्स का उपयोग करती हैं, तो जल्द अपनी आदत बदल लें, क्योंकि ये आपके गर्भाशय के साथ आपके शरीर के लिए भी घातक साबित हो सकता है। इसलिए आज हम आपके लिए लेकर आए हैं, पीरियड्स में होने वाले दर्द की वजह और उससे निजात दिलाने वाली डाइट।

महिलाएं पीरियड में जरुर खाएं ये खास चीजें और पेट दर्द से पाएं निजात
X

Period Pain Diet : महिलाओं को हर माह पीरियड्स में पेट के असहनीय दर्द से गुजरना पड़ता है। इसके लिए आमतौर पर महिलाएं पेनकिलर्स का सेवन करना पसंद करती हैं, लेकिन ज्यादा दर्द निवारक दवाओं को खाने से शरीर की प्रतिरोधक क्षमता पर बुरा असर पड़ता है और शरीर धीरे-धीरे रोगों लड़ने में नाकाम होने लगता है। ऐसे में आज हम आपको पीरियड्स में होने वाले पेट दर्द के कारण और उससे बचाने वाली सेहत से भरपूर डाइट के बारे में बता रहे हैं, जिनका सेवन करने से शरीर अंदरुनी रुप से मजबूत बनेगा और दर्द से निजात भी मिलेगी।

पीरियड्स में होने वाले दर्द के कारण / Causes of Period Pain

1. शरीर में पौषक तत्वों की कमी

2. एसिडिटी और गैस ज्यादा बनना

3. शरीर में कैल्शियम और आयरन की कमी होना

4. जेनेटिक होना

5. ज्यादा स्मोकिंग करना

पीरियड्स के दर्द के लिए डाइट / Diet for Period Pain




1. शरीर में कैल्शियम की कमी होने से कमर और पेट के निचले हिस्से में पीरियड्स के दौरान महिलाओं को असहनीय दर्द का अनुभव होता है। ऐसे में अगर आप कैल्शियम युक्त आहार यानि डाइट (नट्स, कम वसा वाले डेयरी उत्पाद,टोफू, ब्रोकोली) में शामिल करना फायदेमंद रहेगा।




2. अगर आपके शरीर में विटामिन बी 6, विटामिन ई, विटामिन डी की कमी है, तो ऐसे में आपको पीरियड्स के समय पेट में दर्द के साथ बैचेनी महसूस होती है। साथ ही पेट में मरोड़, मूड स्विंग्स का बढ़ना काफी कॉमन होता है। ऐसे में आप अपने आहार में मल्टी विटामिन को जोड़कर पीरियड पेन से निजात पा सकते हैं।




3. अगर आप नियमित रुप से अपने आहार में मैगनीशियम लेती हैं, तो ऐसे में आप पीरियड्स में होने वाले दर्द, पेट में ऐंठन, चिड़चिड़ापन, मांसपेशियों में ऐंठन और नींद से निजात मिलती है। लेकिन अगर आप किडनी संबंधी बीमारी से ग्रस्त है, तो कम मात्रा में सेवन करें।

4. अगर आप पीरियड पेन से निजात पाना चाहती हैं, तो अपनी डाइट में जिंक को जरुर शामिल करें। इसका नियमित सेवन करने से शरीर में होने वाले दर्द के अलावा मूड स्विंग्स में कमी आती है, साथ ही इम्यून सिस्टम मजबूत होता है। लेकिन हमेशा सीमित मात्रा में सेवन करने से गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल संबंधी समस्या हो सकती है।




5.कैल्शियम, विटामिन्स, जिंक, मैग्नीशियम के अलावा शरीर के लिेए ओमेगा -3 फैटी एसिड भी बेहद जरुरी होता है। अखरोट और ओट्स को शामिल कर सकते हैं।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story
Top