Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

डायबिटीज की तरह इस बीमारी से ग्रस्त लोगों को भी है COVID-19 का खतरा

कोरोना वायरस से ठीक होने के बाद भी इंसान के शरीर में इसका बुरा असर देखने को मिलता है। जिसका सबसे ज्यादा बुरा प्रभार लिवर, किडनी, हार्ट पर पड़ता है। ऐसे में सबसे ज्यादा चिंता की बात यह है कि जो इंसान पहले ही वहीं जो लोग पहले ही इस तरह की बीमारी से जूझ रहे हैं उन लोगों को कोरोना संक्रमण होने का ज्यादा खतरा बना रहता है।

डायबिटीज की तरह इस बीमारी से ग्रस्त लोगों को भी है COVID-19  का खतरा
X
इस बीमारी से ग्रस्त लोगों को है कोरोना से ज्यादा खतरा (फाइल फोटो)

कई महीनों पहले आया कोरोना वायरस ने पूरी दुनिया में तहलका मचा रखा है। वहीं तमाम कोशिशों के बाद भी यह खतरनाक वायरस थमने का नाम नहीं ले रहा है। इसकी चपेट में आने वालों की संख्या लगातार बढ़ती ही जा रही है। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि कोरोना वायरस से ठीक होने के बाद भी इंसान के शरीर में इसका बुरा असर देखने को मिलता है। जिसका सबसे ज्यादा बुरा प्रभार लिवर, किडनी, हार्ट पर पड़ता है। ऐसे में सबसे ज्यादा चिंता की बात यह है कि जो इंसान पहले ही वहीं जो लोग पहले ही इस तरह की बीमारी से जूझ रहे हैं उन लोगों को कोरोना संक्रमण होने का ज्यादा खतरा बना रहता है। इसी बीच सामने आया है कि कोरोना वायरस का खतरा अर्थराइटिस (गठिया) के लोगों को भी है।

डायबिटीज, लंग्स की बीमारी से ग्रस्त लोगों को कोरोना का अधिक खतरा

जिन लोगों को इस तरह की बीमारी से ग्रस्त हैं। उन्हें अपना खास ख्याल रखने की जरूरत है। क्योंकि इस तरह के लोग कोरोना की चपेट में तेजी से आ रहे हैं। अभी तक देखा गया है कि कोरोना ने अपना शिकार डायबिटीज, लंग्स की बीमारी से ग्रस्त लोगों को बनाया है। वहीं आपको बता दें कि अर्थराइटिस की समस्या से जूझ रहे लोगों को भी कोरोना होने का अधिक खतरा है।

इसका बुरा असर इम्यूनिटी सिस्टम पर पड़ता है

एक्सपर्ट का कहना है कि जिताना डायबिटीज के मरीजों के लिए कोरोना वायरस होने का खतरा है। इस तरह ही अर्थराइटिस के मरीजों के लिए भी घातक है। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि अर्थराइटिस (गठिया) एक ऑटोइम्यून डिसऑर्डर (विकार) है। इसका बुरा असर इम्यूनिटी सिस्टम पर पड़ता है।

Also Read:

डॉक्टर से लगातार सलाह लेती रहनी चाहिए

ऐसे में कोरोना वायरस होने का खतरा होता है। वहीं अगर आपकी फैमिली में कोई भी इस बीमारी से ग्रस्त ह तो आपको अपने डॉक्टर से लगातार सलाह लेती रहनी चाहिए। इस बीमारी में इंसान को अपना खास ख्याल रखने की जरूरत होती है।

Shagufta Khanam

Shagufta Khanam

Jr. Sub Editor


Next Story