Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Mother's Day 2022: बढ़ती उम्र में मां का रखें खास ख्याल, एक्सपर्ट के मुताबिक करें उनकी प्रॉपर केयर

ज्यादातर मांएं अपने घर-परिवार की जिम्मेदारियों में ऐसी उलझी रहती हैं कि अपनी हेल्थ का ध्यान ही नहीं रख पाती हैं। लेकिन 50-55 की उम्र पार करने के बाद हेल्थ को लेकर कॉन्शस रहने की जरूरत होती है। ऐसे में आपकी जिम्मेदारी बनती है कि उनका ध्यान रखें, तभी बढ़ती उम्र में भी आपकी मां हेल्दी-फिट रहेंगी।

Mothers Day 2022: बढ़ती उम्र में मां का रखें खास ख्याल, एक्सपर्ट के मुताबिक करें उनकी प्रॉपर केयर
X

Mother's Day 2022: उम्र बढ़ने के साथ शरीर के सभी अंग-तंत्र कमजोर होने लगते हैं। लेकिन हमारी मांएं (Mothers) घर के काम-काज में इतना व्यस्त रहती हैं कि अपनी सेहत (Health) का ध्यान नहीं रख पाती हैं। इससे बीमारियां आसानी से उन्हें अपनी चपेट में ले सकती हैं। ऐसा आपकी मां के साथ ना हो, इसके लिए इस मदर्स-डे (Mother's Day) पर आप खुद से प्रॉमिस करें कि अपनी मां की हेल्थ (Mother's Health) का पूरा ध्यान रखेंगे। यहां हम आपके लिए लेकर आएं हैं दिल्ली के गायनेकोलॉजिस्ट-लेप्रोस्कोपिक सर्जन डॉ. निकिता त्रेहन (Dr. Nikita Trehan) से मां की प्रॉपर केयर करने के कुछ टिप्स...

रोज करवाएं एक्सरसाइज

बढ़ती उम्र के प्रभावों से मां को बचाने और फिट रखने के लिए नियमित रूप से उन्हें वर्कआउट करने के लिए कहें। रोज कम से कम 30 मिनट एक्सरसाइज या योग करवाएं। इससे वे शारीरिक-मानसिक रूप से फिट रहेंगी। एक्सरसाइज में आप उन्हें वॉकिंग, जॉगिंग रनिंग जैसे वर्कआउट करने को कह सकते हैं। उन्हें मोटिवेट करने के लिए आप भी उनके साथ ऐसा कर सकते हैं।

शारीरिक बदलावों पर ध्यान दें

बढ़ती उम्र का प्रभाव कई तरह के बदलाव के रूप में सामने आता है। ऐसे में मां के शारीरिक बदलावों पर नजर रखना आपकी जिम्मेदारी है। अगर कोई भी ऐसे सिंपटम्स आप नोटिस करें, जो उनमें पहले कभी ना दिखे हों तो उसकी अनदेखी ना करें। तुरंत आप अपनी मां को डॉक्टर को दिखाएं, समय पर डायग्नोसिस और उपचार से ना केवल बीमारियों को गंभीर होने से रोका जा सकता है बल्कि उन्हें पूरी तरह ठीक भी किया जा सकता है।

सही कैलोरी इनटेक

उम्र बढ़ने के साथ मांसपेशियां भी कमजोर होने लगती हैं, जिससे कैलोरी बर्न करने की क्षमता प्रभावित होती है। यह समस्या उन महिलाओं में और बढ़ जाती है, जो शारीरिक रूप से सक्रिय नहीं होती हैं। अगर आपकी मां भी इस उम्र में कम सक्रिय रहती हैं, तो आपको सजग हो जाना चाहिए। उनकी डाइट में कैलोरी की मात्रा कम करें। ऐसा ना किए जाने पर उनका वेट बढ़ेगा, जिससे आपकी मां कई बीमारियों की गिरफ्त में आ सकती हैं। इसलिए जरूरी है कि उन्हें फिट और हेल्दी रखने के लिए उनकी शारीरिक जरूरतों को समझें और उसी अनुसार अपने खान-पान में बदलाव लाएं।

रूटीन चेकअप कराएं

आप अपनी मां का रेग्युलर रूटीन चेकअप करवाते रहें। उम्र बढ़ने के साथ-साथ बीमारियों की चपेट में आने का खतरा भी बढ़ता जाता है, ऐसे में रूटीन हेल्थ चेकअप इस खतरे को कम कर सकता है। 50-55 साल की उम्र पार करने के बाद आप अपनी मां का हर साल पूरा हेल्थ चेकअप जरूर कराएं। दरअसल, मेनोपॉज के बाद कई हार्मोनल परिवर्तन होते हैं, जो उन्हें युवावस्था की तुलना में बीमारियों का आसान शिकार बना सकते हैं। इन टेस्ट के अलावा अगर अनुवांशिक रूप से आपके परिवार में कोई बीमारी है तो उसका टेस्ट भी कराएं।

लेखक- शमीम खान

और पढ़ें
Next Story