Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

प्रदूषण से होता है लंग कैंसर, फेफड़ों की पॉवर बढ़ने का रामबाण इलाज जानिए

बढ़ते प्रदूषण के कारण आंखों में जलन और सांस लेने में दिक्कत के कारण फेफड़ों की पॉवर कम हो जाती है, जिससे लंग कैंसर जैसी गंभीर बीमारी होने का खतरा बढ़ जाता है। ऐसे में आज हम आपको बढ़ते प्रदूषण से फेफड़ों को सुरक्षित रखने के घरेलू तरीके बता रहे हैं।

श्वांस की बीमारी से पीड़ित मरीजों में पाए गए कोरोना वायरस के लक्षण
X
प्रदूषण से होता है लंग कैंसर, फेफड़ों की पॉवर बढ़ने का रामबाण इलाज जानिए

अगर आप भी बढ़ते प्रदूषण से अपने फेफड़ों को बचाना चाहते हैं, तो ऐसे में आज हम आपको कुछ ऐसे घरेलू उपाय बता रहे हैं, जिन्हें अपनाकर आप अपने शरीर से विषैले और जहरीले प्रदूषण को फेफड़ों से साफ कर पायेगें और उन्हें फिट और हेल्दी बना सकेगें।

बढ़ते प्रदूषण में फेफड़ों को सुरक्षित रखने वाले घरेलू तरीके (Lung Capacity Improve With These Home Remedies During pollution)




1. स्टीम

अगर आपको ऑफिस या स्कूल जाना होता है, तो ऐसे में रोजाना सोने से पहले एक बार स्टीम जरुर लें, इससे आपके श्वांस नली साफ होगी और साथ ही फेफड़ों से प्रदूषण को साफ करने में मदद मिलती है। स्टीम लेने के लिए आपको एक बड़े बर्तन में पानी गर्म करना है, फिर उसे चेहरे के पास लाकर लंबी सांस लें। इस प्रक्रिया को कम से कम 3-5 बार दोहराएं और फिर कंबल या गर्म चादर से चेहरा ढंक कर सो जाएं। इससे आपको शरीर में मौजूद कफ और जुकाम की समस्या में भी लाभ मिलेगा।

2. विटामिन सी फ्रूट्स

अगर आप रोजाना काम या पढ़ाई की वजह से घर से बाहर जाते हैं, तो ऐसे में प्रदूषण में बुरे प्रभावों से फेफड़ों को बचाने के लिए विटामिन सी से भरपूर फलों (संतरा, मौसमी) का दिनभर में 1 से 2 बार सेवन जरुर करें। क्योंकि विटामिन सी से शरीर का इम्यून सिस्टम मजबूत होता है। इसके साथ ही शरीर के विषैले तत्वों को निकालने में मदद मिलती है।




3. तुलसी काली मिर्च का काढ़ा

आपने अक्सर बीमारियों से बचने के लिए तुलसी के फायदे सुने होगें, लेकिन तुलसी और काली मिर्च का काढ़ा धूल, धुएं और कैमिकल्स वाली जहरीली हवा से फेफड़ों को बचाने में भी मददगार साबित होती है। तुलसी काली मिर्च का काढ़ा बनाने के लिए आपको पानी में 10-15 तुलसी के पत्ते और 8-10 काली मिर्च को पानी आधे रहने तक उबालें और फिर छानकर हल्का ठंडा होने पर चाय की तरह सेवन करें। इस काढ़े का दिन में 2 बार सेवन करना ज्यादा फायदेमंद रहेगा।

4. यूकेटिप्टस ऑयल

तुलसी की तरह यूकेटिप्टस ऑयल भी प्रदूषण को मिटाने में बहुत लाभकारी होता है। इसके लिए आप यूकेटिप्टस ऑयल की कुछ बूंदों को स्टीम लेने के बाद नाक में डालकर सो जाएं। इससे नाक और मुंह के जरिए शरीर में पहुंचे जहरीले तत्वों को बाहर निकालने में मदद मिलती है।




5.डाइट का रखें ख्याल

अगर आप फेफड़ों को रासायनिक हवा और धूल, धुएं से बचाना चाहते हैं, तो ऐसे में अपनी डाइट का खास ख्याल रखें। बढ़ते प्रदूषण के दिनों में अपनी डाइट में अखरोट, हल्दी, ऑलिव, हरी पत्तेदार सब्जियों आदि को शामिल करें और प्रोसेस्ड फूड से दूर रहें।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story