Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

International Yoga Day 2022: आखिर 21 जून को ही क्यों मनाया जाता है योग दिवस, क्या है इस दिन की मान्यता

इंटरनेशनल डे ऑफ योगा (International Day of Yoga Celebration) को मनाने की अपील संयुक्त राष्ट्र में भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा 27 सितंबर 2014 को की गई थी। संयुक्त राष्ट्र में हर साल 21 जून को विश्व योग दिवस (World Yoga Day) मनाने का प्रस्ताव रखने के बाद केवल 90 दिनों के अंदर 193 देशों में से 177 देशों ने 11 दिसंबर 2014 को पूर्ण बहुमत के साथ इसको समर्थन दिया। योग दिवस का आधिकारिक नाम 'अन्तररो योग दिवस' है।

International Yoga Day 2022: आखिर 21 जून को ही क्यों मनाया जाता है योग दिवस, क्या है इस दिन की मान्यता
X

योग का महत्व और इससे होने वाले स्वास्थ्य लाभों के प्रति जागरुकता फैलाने के लिए हर साल 21 जून को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस (International Yoga Day 2022) मनाया जाता है। लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि आखिर इस दिवस को मनाने के लिए 21 जून को ही क्यों चुना गया। अगर नहीं तो इसके बारे में आज हम आपको जानकारी देंगे।

इंटरनेशनल डे ऑफ योगा (International Day of Yoga Celebration) को मनाने की अपील संयुक्त राष्ट्र में भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा 27 सितंबर 2014 को की गई थी। संयुक्त राष्ट्र में हर साल 21 जून को विश्व योग दिवस (World Yoga Day) मनाने का प्रस्ताव रखने के बाद केवल 90 दिनों के अंदर 193 देशों में से 177 देशों ने 11 दिसंबर 2014 को पूर्ण बहुमत के साथ इसको समर्थन दिया। योग दिवस का आधिकारिक नाम 'अन्तररो योग दिवस' है।

दरअसल, भारतीय वैदिक गणित के गणना के अनुसार यह दिन तय किया गया है। भारतीय गणना के अनुसार ग्रीष्म संक्रांति के बाद सूर्य दक्षिणायन हो जाता है। 21 जून साल का सबसे बड़ा दिन माना जाता है। इस दिन सूर्य जल्दी उदय होता है और देर से ढलता है। योग भी मनुष्य को दीर्घ जीवन प्रदान करता है। माना जाता है कि सूर्य के दक्षिणायन का समय आध्यात्मिक सिद्धियां प्राप्त करने में बहुत लाभकारी होता है। इसी वजह से 21 जून को 'अंतरराष्ट्रीय योग दिवस' के रूप में मनाते हैं।

हर साल होती है एक नई थीम

हर साल एक नई थीम पर अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस का आयोजन होता है। साल 2015 में इसकी थीम 'सद्भाव और शांति के लिए योग' थी। वहीं साल 2016 में इसकी थीम थी 'युवाओं को कनेक्ट करें'। इसके बाद 2017 में 'स्वास्थ्य के लिए योग' को इसकी थीम रखा गया था। साल 2018 में 'शांति के लिए योग' की थीम पर इसका आयोजन किया गया था। इसके बाद साल 2019 में योग के साथ पर्यावरण को कनेक्ट करते हुए इसकी थीम 'पर्यावरण के लिए योग' रखी गई थी। कोरोना महामारी के चलते साल 2020 में 'घर पर योग और परिवार के साथ योग' की थीम पर इसका आयोजन किया गया था। वहीं 2021 में योग के साथ पर्यावरण को कनेक्ट करते हुए इसकी थीम 'स्वास्थ्य के लिए योग' रखी गई थी। अब 2022 में इसकी थीम 'मानवता के लिए योग' रखी गई है।

योग करने के फ़ायदे

योग करने से शरीर स्वस्थ रहता है। योग का जीवन पर सकारात्मक प्रभाव पड़ता है। रोजाना योग करने से शारीरिक और मानसिक रोग दूर रहते हैं। बढ़ते तनाव को कम करने के लिए और जीवन शैली से उत्पन्न होने वाली समस्याओं को योग से दूर किया जा सकता है। योग करने से शरीर मजबूत बनता है. योग से शारीरिक और मानसिक ऊर्जा बढ़ती है।

और पढ़ें
Next Story