Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

International Yoga Day 2019 : पद्मासन के लाभ, सावधानी और पद्मासन करने का सही तरीका

International Yoga Day 2019 : 21 जून को पूरी दुनिया अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस 2019 (International Yoga Day 2019) मनाएगी। योगा (Yoga) और प्राणायाम (Pranayam) प्राचीन काल से ही भारतीय चिकित्सा पद्धति (Indian medicine) का एक अहम हिस्सा रहा है। लेकिन धीरे-धीरे अपना वजूद खो चुके योगा (Yoga) और प्राणायाम (Pranayam) की ताकत को पीएम मोदी (PM Modi) ने पहचानकर देश ही नहीं विदेशों में पहचान दिलवाने के लिए योग के फायदे (Yoga Benefits) से संयुक्त राष्ट्र (United Nation) और पूरी दुनिया (World) को अवगत करवाया। जिसके बाद संयुक्त राष्ट्र ने 2015 (United Nation 2015) में हर साल 21 जून (21 June) को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस (International Day of Yoga) मनाने की घोषणा की थी। तब से हर साल पूरा विश्व (World) अलग-अलग जगह पर छोटे-बड़े स्तर पर अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस (International Day of Yoga) को सेलिब्रेट करके खुद को फिट रखते हैं। इसलिए आज हम भी आपको योगा की शुरुआत करने वाले पहले आसन यानि पद्मासन के लाभ (Padmasana Benefits),पद्मासन की सावधानी (Padmasana Precautions) और पद्मासन करने का सही तरीका (Right Way to do Padmasana) बता रहे हैं।

International Yoga Day 2019 : पद्मासन के लाभ, सावधानी और पद्मासन करने का सही तरीका

International Yoga Day 2019 : 21 जून को पूरी दुनिया अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस 2019 (International Yoga Day 2019) मनाएगी। योगा (Yoga) और प्राणायाम (Pranayam) प्राचीन काल से ही भारतीय चिकित्सा पद्धति (Indian medicine) का एक अहम हिस्सा रहा है। लेकिन धीरे-धीरे अपना वजूद खो चुके योगा (Yoga) और प्राणायाम (Pranayam) की ताकत को पीएम मोदी (PM Modi) ने पहचानकर देश ही नहीं विदेशों में पहचान दिलवाने के लिए योग के फायदे (Yoga Benefits) से संयुक्त राष्ट्र (United Nation) और पूरी दुनिया (World) को बताया। जिसके बाद संयुक्त राष्ट्र ने 2015 (United Nation 2015) में हर साल 21 जून (21 June) को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस (International Day of Yoga) मनाने की घोषणा की थी। तब से हर साल पूरा विश्व (World) अलग-अलग जगह पर छोटे-बड़े स्तर पर अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस (International Day of Yoga) को सेलिब्रेट करके खुद को फिट रखते हैं। इसलिए आज हम भी आपको योगा की शुरुआत करने वाले पहले आसन यानि पद्मासन के लाभ (Padmasana Benefits),पद्मासन की सावधानी (Padmasana Precautions) और पद्मासन करने का सही तरीका (Right Way to do Padmasana) बता रहे हैं।

पद्मासन करने का सही तरीका (Right Way to do Padmasana) :

1. पद्मासन करने के लिए सबसे पहले अपने दोनों पैरों को सामने की और फैलाएं।

2. इसके बाद अपने दाहिने पैर को बाएं पैर के ऊपरी भाग (जांघ) पर रखें।

3. अब बाएं पैर को मोड़ते हुए दाहिने पैर के ऊपरी भाग (जांघ) पर रखें। याद रखें दोनों घुटने आपके जमीन की सतह पर लगने चाहिए।

4. इसके बाद अपने दोनों हाथों की ज्ञान मुद्रा बनाएं और घुटनों पर रखें। इसके बाद आंखें बंद करके कुछ देर सामान्य सांस लेते हुए बैठें।

5. याद रखें पद्मासन करते समय आपकी कमर और रीढ़ की हड्डी हमेशा सीधी रखें।

6. अगर आप पद्मासन करने में खुद को असमर्थ पाते हैं, तो ऐसे में आप कमर को सीधा रखते हुए सुखासन भी कर सकते हैं।

पद्मासन के लाभ (Padmasana Benefits) :

1. नियमित रूप से पद्मासन करने से कूल्हे और घुटनों के जोड़ों में लचीलापन आता है।

2. पद्मासन रोजाना करने से रीढ़ की हड्डी के साथ कूल्हे और घुटनों में मजबूती आती है।

3. रोजाना पद्मासन करने से साइटिका और पीरियड्स में होने वाले कमर दर्द में राहत मिलती है।

4. नियमित रूप से पद्मासन करने से प्रसव (डिलीवरी) में आसानी होती है।

5. पद्मासन के रोजाना अभ्यास से पाचन क्रिया को मजबूत करके पेट के रोगों में आराम मिलता है।

6. पद्मासन करने से मानसिक शांति मिलती है। जिससे तनाव में कमी आती है। इसे ध्यान मुद्रा भी कहा जाता है।

पद्मासन करने की सावधानी (Padmasana Precautions) :

1. अगर आपके घुटनों में दर्द रहता है, तो ऐसे में पद्मासन करने से बचें।

2. अगर आपके टखने यानि पैर के निचले हिस्से में चोट लगी है या दर्द रहता है, तब भी

पद्मासन का अभ्यास न करें।

3. पद्मासन करते समय अपनी शारीरिक क्षमताओं को ध्यान में रखते हुए सीमित समय (1-2 मिनट) के लिए ही अभ्यास करें।

Next Story
Share it
Top