Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

बाहर देशों में भी बढ़ रही है देसी मसालों को डिमांड, कई परेशानियों का है हल

कोरोना काल में भारतीय मसालों की बिक्री काफी तेजी से बढ़ रही है। कोरोना के खतरे को देखते हुए लोग अपनी सेहत को लेकर काफी जागरुक हो गए हैं। ऐसे में लोग अपनी इम्यूनिटी को स्ट्रांग रखने के लिए हेल्दी डाइट ले रहे हैं।

बाहर देशों में भी बढ़ रही है देसी मसालों को डिमांड, कई परेशानियों का है हल
X

बाहर देशों में बढ़ी मसालों की डिमांड (फाइल फोटो)

भारतीय किचन में ऐसे कई मसाले मौजूद होते हैं, जो शरीर के लिए काफी फायदेमंद होते हैं। इन मसालों में कई औषधियों के गुण भी पाए जाते हैं। वहीं बदलते समय के साथ साथ इन मसालों का सेवन भी काफी कम हो गया था। वहीं कोरोना काल में इन मसालों की बिक्री काफी तेजी से बढ़ रही है। कोरोना के खतरे को देखते हुए लोग अपनी सेहत को लेकर काफी जागरुक हो गए हैं। ऐसे में लोग अपनी इम्यूनिटी को स्ट्रांग रखने के लिए हेल्दी डाइट ले रहे हैं। ऐसे में भारतीय मसालों के बढ़ती डिमांड के साथ साथ इसकी कीमतें भी काफी बढ़ गई हैं। खबरों की मानें, तो कोरोना के कारण मसाला एक्सपोर्ट के करीब 34 प्रतिशत तक का उछाल आया है।

इम्यूनिटी को मजबूत बनाने के लिए भारतीय काढ़ा पी रहे हैं

आपको बता दें कि इन मसालों का इस्तेमाल सिर्फ भारत ही नहीं बल्कि बाहर देशों में भी खूब रहा है। बाहर देश के लोग भी अपनी इम्यूनिटी को मजबूत बनाने के लिए भारतीय काढ़ा पी रहे हैं। इस वजह से बाहर देशों में तेजी से निर्यात किए जा रहे हैं।

Also Read: नाखूनों का पीलापन और जल्दी जल्दी टूटना हो सकता है शारीरिक अंदरूनी बीमारी का संकेत

बाहर देशों में बढ़ रही है डिमांड

स्पाइसेस बोर्ड ऑफ इंडिया के आकड़ों की मानें तो साल 2019 अप्रैल जून महीने में विदेशों में कुल 2 हजार करोड़ भारतीय मसालों का निर्यात किया गया था। तो वहीं 2020 में 2 हजार 700 करोड़ का निर्यात किया गया। वहीं अगर एक्सपोर्ट्स की बात करें तो 34% उछाल आया है।

Next Story