Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

खूबसूरत चांद बना सकता है आपको बीमार जानें कैसे

चन्द्रमा आपको बीमार बना सकता है, सुनने में शायद आपको अजीब लग रहा होगा, लेकिन ये पूरी तरह से सच है कि चांद के बढ़ने और घटने की स्थिति का आपकी सेहत पर भी गहरा असर पड़ता है। इसका उल्लेख ज्योतिषीय और वैज्ञानिक तौर पर भी देखने को मिलता है। ऐसे में आइए जानते हैं चांद आपकी सेहत पर प्रभाव।

खूबसूरत चांद बना सकता है आपको बीमार जानें कैसे
X
How To Moon Effect Health In Hindi

आमतौर पर आपने बड़े बुजुर्गों से चांद को मन का कारक मानने वाली बातों के बारे में सुना होगा। जिसकी पुष्टि कई शोधों के माध्यम से वैज्ञानिकों ने भी की है। दरअसल पूर्णिमा के दिन (Full Moon) होने की वजह से पृथ्वी पर चन्द्रमा का गुरुत्वाकर्षण बढ़ जाता है। जिससे मानव व्यवहार यानि मूड स्विंग्स में काफी तेजी से बदलाव आता है,लोगों का गुस्सा बढ़ जाता है, वो अधिक अधीर और घबराहट को महसूस करते हैं। यही नहीं, पूर्णिमा के दिन दुनिया के अधिकांश डॉक्टर ज्यादा ब्लीडिंग होने की वजह से सर्जरी करने से इनकार करते हैं, इसके अलावा फुल मून वाले दिन अपराधों की संख्या में भी इजाफा देखा गया है। मानसिक रोग के अलावा शोधकर्ताओं ने चांद का नकारात्मक प्रभाव शरीर के अन्य अंगो पर भी पाया है। आइए जानते हैं कि चांद का शरीर पर प्रभाव...

चन्द्रमा की वजह से होने वाली बीमारियां :




Heart Disease

1. इंडियन जर्नल ऑफ बेसिक एंड एप्लाइड मेडिकल रिसर्च में प्रकाशित एक अध्ययन के मुताबिक, पूर्णिमा यानि फुल मून के दिन दिल की धड़कन आम दिनों की तुलना में अधिक तेजी से चलती है। ऐसे में अगर आप जिम में हैवी एक्सरसाइज करते हैं, तो दिल से जुड़ी गंभीर बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है। इसलिए हमेशा पूर्णिमा के दिन जिम में एक्सरसाइज करने में करने में सावधानी बरतनी चाहिए।




Brain Disease

2. फुल मून के दिन जिस तरह समुद्र में ज्वार आता हैं, उसी तरह हमारे मस्तिष्क में यादों और बातों का ज्वार आता है जिसके फलस्वरुप लोग असहज और एग्रेसिव मूड में ज्यादा रहते हैं। इसके अलावा चन्द्रमा के बढ़ने के साथ लोगों के व्यवहार में तेजी से बदलाव आता है, नींद कम होती है, सिरदर्द की समस्या में वृद्धि और शरीर में तेजी से हॉर्मोन बदलाव होते हैं।




Kidney Disease

3. साल 2011 में जर्नल ऑफ यूरोलॉजी में प्रकाशित एक शोध के मुताबिक, चंद्रमा के पूरे होने पर किडनी यानि गुर्दे की पथरी का दर्द में वृद्धि हो जाती है। जबकि एक अन्य शोध में पाया गया कि फुल मून के दिन यूरिन संबंधी रोग से पीड़ित लोग ज्यादा भर्ती होते हैं।




Increase Accidents

4. वर्ल्ड जर्नल ऑफ सर्जरी की 2011 में छपी एक रिसर्च के मुताबिक, 40 फीसदी से अधिक स्वास्थ्य कर्मियों ने माना कि अन्य दिनों की तुलना में पूर्ण चन्द्रमा के दिन अधिक दुर्घटनाओं के केस और इमरजेंसी कॉल्स आती हैं, जिसमें कुल 3 फीसदी की बढ़ोतरी पाई गई। जिसका संबंध पूर्ण चन्द्रमा के गुरूत्वाकार्षण और उससे बढ़ने वाले गुस्से और भ्रम की स्थिति को पाया गया।




Sleeping Problems

5. साल 2013 के करंट बॉयोलॉजी में छपे शोध के मुताबिक, एक सर्वे में तीन दिनों के लिए कुछ लोगों को बिना घड़ी और अंधेरे कमरे में सोने के लिए कहा गया। जिसके बेहद चौंकाने वाले निष्कर्ष सामने आए। शोधकर्ताओं ने पाया कि चन्द्रमा के बढ़ने की स्थिति में लोगों के शरीर में मेलाटोनिन हार्मोन का स्तर कम था और उन्हें सोने में अन्य दिनों की तुलना में 5 मिनट अधिक लगते थे और साथ ही वो सामान्य रुप से 20 मिनट कम सोते थे। ऐसे में पर्याप्त नींद न मिलने से शरीर पर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है और कई गंभीर बीमारियों के होने का खतरा बढ़ जाता है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story