Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

पुरुषों के मुकाबले महिलाएं ज्यादा होती हैं डिप्रेशन का शिकार, जानिए वजह और ऐसे करें बचाव

भारत में लगभग 5 करोड़ से भी ज्यादा लोग डिप्रेशन के मरीज हैं। हाल ही में हुए एक रिसर्च से पता लगा है कि भारत में हर घंटे हर 10 में से 1 इंसान डिप्रेशन के कारण सुसाइड कर लेता है। मिली जानकारी के मुताबिक भारत में पुरुषों के मुकाबले में महिलाएं डिप्रेशन और चिंता की ज्यादा शिकार होती हैं।

पुरूषों के मुकाबले महिलाएं ज्यादा होती हैं डिप्रेशन का शिकार, जानिए वजह और करें ऐसे बचावमहिलाएं डिप्रेशन का ज्यादा शिकार होती हैं(फाइल फोटो)

डिप्रेशन तो जैसे आजकल एक कॉमन परेशानी है। भारत में लगभग 5 करोड़ से भी ज्यादा लोग डिप्रेशन के मरीज हैं। हाल ही में हुए एक रिसर्च से पता लगा है कि भारत में हर घंटे हर 10 में से 1 इंसान डिप्रेशन के कारण सुसाइड कर लेता है। मिली जानकारी के मुताबिक भारत में पुरुषों के मुकाबले में महिलाएं डिप्रेशन और चिंता की ज्यादा शिकार होती हैं। ऐसे में हम आपको आज महिलाओं में होने वाले डिप्रेशन के कारण, डिप्रेशन के लक्षण और डिप्रेशन से बचने के बचाव बताएंगे।

डिप्रेशन के कारण

-महिलाओं में डिप्रेशन होने का बायोलॉजिकल सबसे पहला कारण है।

- हार्मोनस में चैंजेस होने की वजह से भी महिलाएं डिप्रेशन की चपेट में आ जाती है। जिसमें मूड़ स्विंग, मन उदास होना जैसी संकेत दिखाई देते हैं।

-परिवार की जिम्मेदारी भी एक कारण है महिलाओं में डिप्रेशन होने का।

-महिलाएं ज्यादा सेंसटिव होती हैं। इसलिए वो बातों बहुत जल्दी दिल से लगा लेती हैं।

डिप्रेशन के लक्षण

- ज्यादा दिन तक मन उदास रहना

-किसी से बात ना करना

-कॉन्फिडेंस कम होना

-काम करने मन न करना

-छोटी-छोटी बातों पर रोना

-जल्दी थकान महसूस करना

- भूख में परिवर्तन या कमी

-घबराहट होना

-डिसीजन ना ले पाना

डिप्रेशन का इलाज

ऐसे में आप साइकोथेरेपी से इलाज कर सकती हैं। साइकोथेरेपी से मरीज की सोच और व्यहवार में बदलाव लाया जाता है।

डिप्रेशन से बचने के उपाय

-एक्सरसाइज करें

- रोज सुबह योगा करें

-डांस या स्विमिंग करें

योगा और मेडिटेशन शरीर और दिमाग को फ्रेश करता है। यह डिप्रेशन को कम करने में मदद करता है। इसके अलावा आप अपने मन की बात शेयर करें।

Shagufta Khanam

Shagufta Khanam

Jr. Sub Editor


Next Story
Top