Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Health Tips: रोजाना करें करेले के जूस का सेवन, बीमारियों से दूर शरीर रहेगा स्वस्थ

Health Tips: करेले से प्यार करें या नफरत, लेकिन आपको पास इस कड़वे टेस्ट वाले फल को अपनी डेली डाइट में शामिल करने के बहुत से कारण मिल जाएंगे। करेला मधुमेह, अस्थमा, कब्ज, खांसी, गठिया, त्वचा रोग या किसी भी तरह की सूजन जैसी स्वास्थ्य स्थितियों से लड़ने में हमारी मदद करता है। यहां हम आपको इसके जूस का सेवन करने के फायदे बताएंगे...

Health Tips: रोजाना करें करेले के जूस का सेवन, बीमारियों से दूर शरीर रहेगा स्वस्थ
X

Health Tips: करेले (Bitter Gourd) से प्यार करें या नफरत, लेकिन आपको पास इस कड़वे टेस्ट वाले फल को अपनी डेली डाइट में शामिल करने के बहुत से कारण मिल जाएंगे। इसमें भरपूर मात्रा में पोटेशियम, विटामिन सी, आयरन, मैग्नीशियम और फाइबर जैसे पोषक तत्व पाए जाते हैं, जो हमारे शरीर को स्वस्थ रखने में हमारी मदद करते हैं। करेला मधुमेह, अस्थमा, कब्ज, खांसी, गठिया, त्वचा रोग या किसी भी तरह की सूजन जैसी स्वास्थ्य स्थितियों से लड़ने में हमारी मदद करता है। यहां हम आपको इसके जूस का सेवन (Karele Ka Juice) करने के फायदे बताएंगे...

वायरल रोगों को रोकने में मदद करता है

अपने शक्तिशाली एंटीवायरल गुणों के साथ, करेला प्रतिरक्षा प्रणाली को उत्तेजित कर सकता है और शरीर की इम्यूनिटी सेल्स को सक्रिय कर सकता है ताकि व्हाइट स्पॉट सिंड्रोम वायरस और ह्यूमन इम्यूनोडेफिशियेंसी वायरस जैसे वायरस से लड़ने में मदद मिल सके।

कैंसर को रोकने में मदद करता है

कड़वे करेले में एंटी-कार्सिनोजेनिक गुण भी होते हैं और इसे कई प्रकार के कैंसर के खिलाफ साइटोटोक्सिक एजेंट के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है। अध्ययनों से यह भी पता चलता है कि करेले का अर्क स्तन कैंसर की कोशिकाओं के विकास को रोकने में भी मदद करता है और इसे स्तन कैंसर की रोकथाम के लिए आहार पूरक के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है।

डायबिटीज करता है कंट्रोल

डायबिटीज के रोगियों को करेले के कई लाभों के कारण अपने दैनिक आहार में करेले को शामिल करने की सलाह दी जाती है। इसमें मौजूद गुण डायबिटीज के मरीजों में ब्लड शुगर लेवल को कम करने में मदद करते हैं। करेले में पॉलीपेप्टाइड-पी या पी-इंसुलिन नामक एक इंसुलिन जैसा यौगिक होता है जो स्वाभाविक रूप से मधुमेह को नियंत्रित करने के लिए जाना जाता है। जब नियमित रूप से इसका सेवन किया जाता है तो टाइप -2 डायबिटीज से पीड़ित रोगियों में ब्लड शुगर लेवल काफी कम हो जाता है। अध्ययनों से पता चला है कि करेले में मौजूद यह पौधे आधारित इंसुलिन टाइप-1 डायबिटीज के मरीजों की भी मदद करता है।

खराब कोलेस्ट्रॉल के लेवल को करता है कम

करेले का जूस एंटी-इंफ्लेमेटरी होता है और शरीर में खराब कोलेस्ट्रॉल के लेवल को कम करने में भी मदद करता है। इस प्रकार, यह दिल के दौरे और स्ट्रोक के जोखिम को काफी कम कर देता है। यह शरीर के ब्लड प्रेशर को भी बनाए रखता है क्योंकि यह पोटेशियम से भरपूर होता है, जो शरीर में अत्यधिक सोडियम को अवशोषित करता है। यह आयरन और फोलिक एसिड से भरपूर होता है जो स्ट्रोक के जोखिम को कम करने और आपके दिल को स्वस्थ रखने के लिए जाने जाते हैं।

वजन घटाने में मदद करता है

करेले में कैलोरी, फैट और कार्बोहाइड्रेट कम होता है। यह आपको अधिक समय तक भरा रखता है और इसलिए, यह आपके वजन घटाने के प्लान में आसानी से फिट हो सकता है। करेले के अर्क ने ह्यूमन में फैट सेल्स को कम करने में मदद करता है और नई फैट सेल्स बनने और विकास पर भी रोक लगाता है। इसलिए वजन घटाने की चाहत रखने वाले लोगों के लिए ये एक नैचुरल सामग्री है।

नोट: यहां दी गई जानकारी सामान्य ज्ञान पर आधारित है, इन्हें विशेषज्ञ की सलाह को तौर पर न लें।

और पढ़ें
Next Story