Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

Global Handwashing Day 2019 : ग्लोबल हैंड वाशिंग डे पर जानिए हाथ न धोने से होने वाली बीमारियां और उसके उपचार

Global Handwashing Day 2019 (ग्लोबल हैंड वाशिंग डे) 15 अक्टूबर को हर साल पूरी दुनिया में लोगों को हाथ धोने के सही तरीके और हाथ न धोने से होने वाली बीमारियों के प्रति जागरुकता फैलाने के लिए ग्लोबल हैंड वाशिंग डे (Global Hand Washing Day) मनाया जाता है। सावधानी इलाज से बेहतर होती है (Precaution Better Then Cure) आपने ये कहावत जरुर सुनी होगी। ग्लोबल हैंड वाशिंग डे (Global Hand Washing Day) पर इसी कहावत को सही ठहराते हुए आज हम आपको हाथ धोने की आदत से कई गंभीर बीमारियों को मात देने के बारे में बता रहे हैं।

Global Hand Washing Day 2019 : ग्लोबल हैंड वाशिंग डे पर जानिए हाथ न धोने से होने वाली बीमारियां और उसके उपचारGlobal Handwashing Day 2019 Non Handwashing Diseases Causes And Treatment in Hindi

Global Handwashing Day 2019 : आपने भी अक्सर लोगों को बिना हाथ धोए खाना खाते और अन्य काम करते हुए जरुर देखा होगा, लेकिन क्या आप जानते हैं आपकी खाना खाने से पहले हाथ न धोने की आदत आपके लिए कितनी ज्यादा नुकसानदायक हो सकती है। इससे डायरिया, सांस लेने में परेशानी (रेस्पेरेट्री इंफेक्शन), आंखों और त्वचा के इंफेक्शन होने का खतरा बढ़ जाता है। ऐसे में सिर्फ हाथ धोना ही काफी नहीं है बल्कि सही तरह से हाथ धोना भी बेहद जरुरी है। इसलिए आज हम आपको हाथ न धोने से होने वाली बीमारियां और उसके उपचार(Non Handswashing Diseases Causes And Treatment), हाथ कब धोने चाहिए (When Should Handswash) के बारे में बतायेगें...



वैश्विक स्वास्थ्य संगठन के आंकड़े (Global Health Organization Statistics)

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के मुताबिक, दुनिया में डायरिया और दस्त की वजह से हर साल लगभग 2 लाख से ज्यादा बच्चों की मौत हो जाती है। इसका मुख्य कारण हाथ न धोना पाया गया है। साबुन से हाथ धोने की आदत से इस भयानक आंकड़ों को कम किया जा सकता है। लंदन स्कूल ऑफ हाइजिन एंड ट्रॉपिकल मेडिसिन ने एक शोध में पाया कि बच्चों और बड़ों में हाथ धोने की आदत को अपनाने से डायरिया के खतरे को 47 फीसदी तक कम किया जा सकता है। इसके साथ ही सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन के मुताबिक, रेस्पेरेट्री इंफेक्शन (सांस संबंधी संक्रमण) जैसे निमानिया से ग्रस्त 6 में से 1 बच्चे को बचाया जा सकता है।




हाथ न धोने से होने वाली बीमारियां (Non Handwashing Diseases Causes)

हाथ न धोने की आदत से हमें कई गंभीर बीमारियां घेर लेती हैं (खासकर बच्चों को), जिनमें सर्दी-जुकाम, उल्टी-दस्त, पेट की बीमारियां, गले का इंफेक्शन, सांस का इंफेक्शन, हेपेटाइटिस, आंखों का इंफेक्शन पीलिया, निमोनिया आदि। ऐसे में आइए जानते हैं हाथ न धोने की आदत आपको किन बीमारियों का शिकार बना सकता है।

डायरिया

गैस्ट्रोएंट्राइटिस

दस्त,हैजा

आंखों व त्वचा के संक्रमण

हेपेटाइटिस-ए और ई

स्वाइन फ्लू, और फ्लू

सर्दी-जुकाम

पीलिया और एच 1 एन 1

निमोनिया और अन्य रेस्पेरेट्री इंफेक्शन




हाथ न धोने से होने वाली बीमारियों के उपचार (Non Handwashing Diseases Causes And Treatment )

1. हमेशा साबुन से सफाई से हाथ धोना।

2. खाना खाने से पहले और बाद में हाथ धोना।

3. शौचालय के उपयोग के बाद हाथ जरुर धोएं।

4. बाहर से आने पर हाथों को साबुन या लिक्विड सोप सो धोना।

5. खाने पीने की वस्तुओं को साफ रखना और हमेशा ढककर रखना।

6. घर या बाहर की सफाई या गंदगी हटाने के बाद हाथों को धोना।

7. डायरिया, हैजा, पीलिया, निमोनिया, उल्टी-दस्त, पेट की बीमारियां, गले का इंफेक्शन, सांस का इंफेक्शन, हेपेटाइटिस, आंखों का इंफेक्शन आदि की समस्या होने पर हाथ धोने की आदत को अपनाने के साथ साफ सफाई का खास ख्याल रखें।

8. डॉक्टर की सलाह पर ही दवा का सेवन करें।




हाथों को कब धोना चाहिए (When should Handswash )

1. खाना पकाने और खाना खाने से पहले और बाद में हाथ जरुर धोएं

2. छींक आने, खांसने या नाक साफ करने के बाद

3. शौच के बाद

4. टीवी, एसी या टीवी का रिमोट,मोबाइल, कंप्यूटर का कीबोर्ड को छूने पर

5. पब्लिक प्लेस से घर आने पर हाथ, पैर और चेहरा जरुर धोएं

6. शौच के बाद भी साबुन से हाथ धोना बेहद जरुरी होता है

इन आदतों को अपनाकर आप जानलेवा बीमारियों के खतरे को कम करने के साथ बच्चों में स्वास्थ्य संबंधी अच्छी आदत भी सिखा पाएगें। क्योंकि हाथ आपके रोजाना के कार्यों में अहम भूमिका निभाते हैं ऐसे में साफ रहना बेहद जरुरी है।

Next Story
Top