Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

Foot Pain Treatment In Hindi : पैरों में दर्द का इलाज

Foot Pain Treatment In Hindi : अगर आप भी अक्सर पैरों में तेज दर्द, ऐंठन से परेशान रहते हैं। ऐसे में सबसे पहले पैर दर्द की वजह को जानना जरुरी है। वैसे तो पैर में दर्द होना, खुद एक लक्षण है। लेकिन लगातार पैर दर्द को अनदेखा करना घातक हो सकता है। क्योंकि कई बार पैरों की धमिनयों से में रक्त की आपूर्ति कम होने पर वेस्कुलर नामक बीमारी होने (पैरों के काम न करने) तक खतरा बढ़ सकता है। इसलिए हम आपको पैर दर्द के कारण (Foot Pain Causes), पैर दर्द के लक्षण (Foot Pain symptoms) और पैर में दर्द के उपचार (Foot Pain Treatment) बता रहे हैं।

Foot Pain Treatment In Hindi : पैरों में दर्द का इलाजFoot Pain Treatment In Hindi

Foot Pain: आज के दौर में तनाव,चिड़चिड़ापन,गु्स्सा और पैरों में दर्द होना काफी कॉमन हो गया है। ऐसे में पैर दर्द के कारण (Foot Pain Causes), पैर दर्द के लक्षण (Foot Pain symptoms) और पैर में दर्द के उपचार (Foot Pain Treatment) जानना बेहद जरूरी हो जाता है। क्योंकि अक्सर लोग दर्द से बचने के लिए पेनकिलर खाना पसंद करते हैं। लेकिन ज्यादा पेनकिलर का सेवन करना सेहत के लिए घातक हो सकता है। आइए जानते हैं पैर में दर्द के लक्षण, कारण और उपचार बता रहे हैं।




पैरों में दर्द के कारण (Foot Pain Causes)

1. लंबे समय तक एक जगह बैठकर काम करना।

2. काफी देर तक पैरों को लटकाकर बैठना या लगातार खड़े रहना।

3. शरीर में कमजोरी होना।

4. अंदरूनी चोट के कारण।

5. हील्स फुटवियर पहनने के कारण।

6. मोटापे या वजन बढ़ने के कारण।




पैरों में दर्द के लक्षण (Foot Pain Symptoms)

1. पैर दर्द और ऐंठन होना

2. पैर का कूल्हे तक महसूस होना

3. चोट लगने पर पैर पर दबाव डालते हुए दर्द होना

4. पैर में सूजन और छूने में दर्द होना

5. पैर दर्द की वजह से नींद न आना

6. चलने, उठने और बैठने में पैरों में दर्द होना

7. शरीर में कमजोरी होने पर लगातार पैरों में थकान वाला दर्द




पैरों में दर्द के उपचार ( Foot Pain Treatment)

1. अगर आपके पैर में सूजन और दर्द है, तो ऐसे में गर्म पानी में नमक डालें और पैर डालकर कुछ देर बैंठें। गर्म पानी से पैरों का ब्लड सर्कुलेशन बेहतर होता है। जिससे सूजन कम होती है और दर्द से राहत मिलती है।

2. अगर आपके पैरों में दर्द की वजह शरीर की कमजोरी की वजह से है, तो ऐसे में बैलेंस्ड डाइट के साथ डॉक्टर की सलाह पर कुछ दवाओँ का सेवन करें।

3.पैर में ऐंठन वाले दर्द को दूर करने के लिए एक्युप्रेशर प्वाइंट्स यानि बाएं पैर के तलवे में दाई तरफ और दाएं पैर में बाई तरफ बीच में हाथ से कुछ मिनट दबाएं। इससे दर्द से जल्द राहत मिलेगी।

4. मोटापे और बढ़ते वजन को कम करें।

5. पैरों में दर्द को दूर करने के लिए एक्सरसाइज और व्यायाम करें।

6. हमेशा सॉफ्ट और फ्लैट फुटवियर पहनना।

सुझाव :

अगर पैर में दर्द के साथ झनझनाहट, सुन्न होना, चोट के निशान पर नील पड़ना या पैर हिलाने पर असहनीय दर्द होने पर डॉक्टर की सलाह जरूर लें। क्योंकि ऐसा लंबे समय तक रहना किसी गंभीर बीमारी का संकेत हो सकता है।

Next Story
Top