Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

Fitness Tips: मशीनों पर वर्कआउट करते समय रखें इन बातों का ध्यान

कई लोग फिटनेस कॉन्शस तो होते हैं लेकिन मशीनों के साथ एक्सरसाइज के दौरान लापरवाही बरतते हैं। इससे जहां चोट लगने का डर होता है, वहीं मनचाहा फिटनेस रिजल्ट भी नहीं मिलता है। इसलिए जरूरी है कि वर्कआउट करते समय पूरी तरह अलर्ट रहा जाए।

Fitness Tips:  मशीनों पर वर्कआउट करते समय रखें इन बातों का ध्यान

हेल्दी और फिट रहने के लिए हम हर संभव प्रयास करते हैं। खाने में स्वाद से समझौता करते हैं तो जिम में जाकर पसीना तक बहाते हैं। फिट रहने के लिए घर में ही महंगी वर्कआउट मशीनें खरीद लाते हैं। घंटों उन मशीनों के साथ मशक्कत भी करते हैं। लेकिन अकसर देखने में यह आता है कि मशीनों के साथ हम जितनी एक्सरसाइज करते हैं, उसके अनुरूप रिजल्ट नहीं मिलते। इसकी वजह यह होती है वर्कआउट करते समय हमें मशीनों के इस्तेमाल के संबंध में जिन बातों को ध्यान में रखना चाहिए, उन्हें नहीं रखते।




न करें फोन पर बात

क्या आप दफ्तर में काम करते हुए फोन पर बातें करते हैं? क्या आप ड्राइविंग करते हुए फोन पर बातें करते हैं? अगर नहीं तो वर्कआउट करते हुए ऐसा क्यों करते हैं? वास्तव में मशीनों के साथ वर्कआउट करते हुए वैसे ही फोकस रहने की जरूरत होती है, जैसे अन्य जरूरी काम करते समय इसकी जरूरत है।

इससे ब्रेन को सटीक संदेश मिलता है। लेकिन वर्कआउट के दौरान फोन पर बातें करने से मानसिक रूप से भटकाव के कारण आप सही से मशीनों का इस्तेमाल नहीं कर पाते। नतीजतन मनचाहा परिणाम देखने को नहीं मिलता। इसलिए इस बात का ध्यान रखें कि कभी भी मशीन पर वर्कआउट करते हुए फोन पर बातें न करें।

न पहनें टाइट जींस

क्या आपको लगता है कि वर्कआउट करते हुए आप जींस में ज्यादा स्मार्ट दिख रहे हैं? ऐसा कतई नहीं है। जींस पहनकर शायद ही कोई समझदार व्यक्ति वर्कआउट करता हो। क्योंकि यह पूरी तरह से गलत है। मशीन पर वर्कआउट करते हुए हमेशा शॉर्ट और लूज ड्रेस पहनने की कोशिश करें।

ऐसी ड्रेस इसलिए जरूरी है ताकि एक्सरसाइज करते हुए हाथ पैर खोलने में दिक्कत न आए और स्ट्रेच आसानी से किया जा सके। इस बात का भी ध्यान रखें कि मशीनों में हाथ-पांव हिलाते हुए बार-बार ध्यान ड्रेस की तरफ न जाए। जब तक आप निश्चिंत होकर एक्सरसाइज नहीं करेंगे, तब तक कोई भी मशीन आपको फिट नहीं बना पाएगी।





सावधानी से करें यूज

अकसर देखने में आता है कि लोग एक्सरसाइज मशीन को अपने कंट्रोल में समझते हैं। लेकिन उत्साह में कोई भूल आपको चुटहिल कर सकती है। दरअसल मशीनें आपकी क्षमता और भावना को नहीं समझतीं। ऐसे में अगर आपने बगैर अपनी क्षमता पहचाने, जरूरत से ज्यादा वेट लिफ्ट किया तो हो सकता है कि आपकी कमर लचक जाए, कंधे पर असर पड़े, मांस-पेशियां फट जाएं, हड्डी टूट जाए। इसके अलावा भी कई तरह की और समस्याएं हो सकती हैं। गलत ढंग से वर्कआउट करने के चलते फ्रेक्चर होने का जोखिम होता है। इसलिए मशीनों के साथ लापरवाही न बरतें। इससे आपको ही नुकसान होगा। अगर मशीनों पर एक्सरसाइज करने का सही तरीका नहीं पता है तो बेहतर होगा इंस्ट्रक्टर के डायरेक्शन में वर्कआउट करें। खुद विशेषज्ञ बनने की कोशिश न करें।

ट्रेडमिल पर रेस लगाने से बचें

अधिकतर यंगस्टर्स एनर्जेटिक होते हैं। लेकिन जोश में आकर यह अच्छी बात नहीं है कि ट्रेडमिल की स्पीड आप खुद से ज्यादा कर लें और अंत में धराशायी होकर फर्श पर गिर पड़ें। ऐसा करना समझदारी नहीं है। स्वास्थ्य विशेषज्ञों की मानें तो कभी भी ट्रेडमिल पर खुद से रेस लगाने की कोशिश न करें। अपनी क्षमता के अनुसार ही उसकी स्पीड बढ़ाएं। एक बात और महत्वपूर्ण है। जिनके घर में ट्रेडमिल है, वे किसी भी समय एक्सरसाइज शुरू कर देते हैं। ऐसा करने से बचें, वर्कआउट के लिए एक टाइम फिक्स कर लें।




फुटवियर हो सही

वर्कआउट करते समय फुटवियर का भी ध्यान रखना जरूरी है। महिलाओं को हील पहनकर कभी भी एक्सरसाइज मशीनों से वर्कआउट नहीं करना चाहिए। इसी तरह पुरुषों को भी बूट पहनकर मशीनों पर एक्सरसाइज नहीं करना चाहिए। साथ ही पैरों में हमेशा आरामदायक एक्सरसाइज शूज पहनें। इससे पैर खुले रहेंगे और एक्सरसाइज का असर अंगुलियों पर भी पड़ेगा।

लेखिका - मीरा अमल टैगोर

Next Story
Share it
Top