Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Good News ! सिर्फ दवाओं के जरिए एड्स ठीक होने का पहला मामला आया सामने

हाल ही में दवाओं के जरिए एड्स ठीक होने का मामला सामने आया है। यह मामला ब्राजील का है जहां एक शख्स एड्स के वायरस से आजाद हो गया है। आपको बता दें कि किया साओ पाउलो की फेडरल यूनिवर्सिटी के रिसर्चर्स ने यह दावा किया है।

Good News ! सिर्फ दवाओं के जरिए एड्स ठीक होने का पहला मामला आया सामने
X
एड्स का मरीज हुआ ठीक (फाइल फोटो)

कोरोना के चलते इस निराश भरे माहौल में एक खुशी की खबर सामने आई है। हाल ही में दवाओं के जरिए एड्स ठीक होने का मामला सामने आया है। यह मामला ब्राजील का है जहां एक शख्स एड्स के वायरस से आजाद हो गया है। आपको बता दें कि किया साओ पाउलो की फेडरल यूनिवर्सिटी के रिसर्चर्स ने यह दावा किया है।

एड्स से ठीक हुए मरीज का नाम नहीं बताया

रिसर्चर्स का कहना है कि एड्स के मरीज को कई तरह की एंटीरेट्रोवायरल दवाओं और निकोटिनामाइड ड्रग का कॉम्बीनेशन दिया गया है। जिसके बाद पीड़ित वायरस मुक्त हो गया है। हालांकि रिसर्चर्स ने एड्स से ठीक हुए मरीज का नाम नहीं बताया है।

पीड़ित ने एड्स के इलाज के दौरान ली जाने वाली दवाएं बंद कर दी थीं

इस बात की जानकारी हाल ही में रिसर्चर्स ने ऑनलाइन एड्स 2020 कॉन्फ्रेंस में दी। रिसर्चर डॉ. रिकार्डों डियाज के अनुसार ब्राजील के शख्स को अक्टूबर 2012 में एड्स हुआ था। वहीं ट्रायल में पीड़ित ने एड्स के इलाज के दौरान ली जाने वाली दवाएं बंद कर दी थी।

दवा के इस कॉम्बिनेशन में काफी अच्छा काम किया

रिसर्च के दौरान मरीज को लम्बे समय तक हर दो महीने पर एंटीरेट्रोवायरल दवाओं और निकोटिनामाइड ड्रग का कॉम्बिनेशन दिया गया। फिर एक साल के बाद जब मरीज का ब्लड टेस्ट किया गया तो मरीज एड्स मुक्त पाया गया। रिसर्चर्स का मानना है कि दवा के इस कॉम्बिनेशन में काफी अच्छा काम किया है।

Also Read: कोरोना वायरस हवा के जरिए भी फैल सकता है : WHO

यह एड्स से ठीक होने का पहला मामला होगा

वहीं अगर इस मामले की पुष्टि होती है तो यह एड्स से ठीक होने का पहला मामला होगा। जहां बिना स्टेम सेल ट्रांसप्लांट के HIV को शरीर से बाहर किया गया है। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि लंदन में स्टेम सेल ट्रांसप्लांट से एक पीड़ित को वायरस मुक्त किया गया था।

Shagufta Khanam

Shagufta Khanam

Jr. Sub Editor


Next Story