Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

सावधान ! अगर आप भी लेती हैं 8 घंटे से ज्यादा नींद, तो छिन सकता है मां बनने का सुख

सेहत (Health) के लिए 8 घंटे की नींद प्रयाप्त होती है, 8 घंटे से ज्यादा नींद (Oversleeping) लेने से महिलाओं की प्रजनन शक्ति (Decrease Fertility) कम हो जाती है। आइए जानते हैं ज्यादा नींद लेने के नुकसान (Disadvantages Of Oversleeping) के बारे में...

सावधान ! अगर आप भी लेती हैं 8 घंटे से ज्यादा नींद, तो छिन सकता है मां बनने का सुख8 घंटे से ज्यादा नींद के नुकसान

नींद, हमें स्वस्थ रखने के लिए बेहद जरुरी होती हैं, क्योंकि इससे शरीर की थकान दूर होती है, जिससे हम शारीरिक और मानसिक रुप से फ्रेश फील कर पाते हैं। लेकिन 8 घंटे से ज्यादा नींद लेना बेहद घातक हो सकता है। क्योंकि ज्यादा नींद लेने से दिल, मांसपेशियों और डायबिटीज जैसी गंभीर बीमारियों के होने के साथ महिलाओं में प्रजनन शक्ति में कमी का खतरा बढ़ जाता है,जिससे उनके मां बनने की संभावना भी कम हो जाती है,इसलिए आज हम आपको 8 घंटे से ज्यादा नींद लेने के नुकसान (Side Effects Of Oversleeping ) के बारे में बता रहे हैं।

8 घंटे से ज्यादा नींद लेने के नुकसान (Disadvantages Of Sleeping More Than 8 Hours)




1 . प्रजनन शक्ति में कमी (Decrease Fertility)

एक शोध के मुताबिक, सोते समय शरीर में कुछ ऐसे हॉर्मोन रिलीज होते हैं, जो शरीर को फ्रेश फील करवाने में मदद करते हैं, लेकिन 8 घंटे से अधिक की नींद लेने पर बॉडी क्लॉक पर बुरा असर पड़ता है, इसके साथ ही जो महिलाएं विट्रो फर्टिलाइजेशन ट्रीटमेंट से गुजरती हैं उनमें गर्भ धारण करने की संभावना अन्य महिलाओं की तुलना में 43 फीसदी तक कम हो जाती है। यह असर रात में सिर्फ 6 घंटे या इससे कम की नींद लेने वाले लोगों के बराबर है।




2. वजन बढ़ता है (Weight Gain)

अगर आप रोजाना 8 घंटे से ज्यादा नींद लेते हैं, तो इससे लगातार शरीर में फैट जमा होता जाता है। जिसकी वजह से आपके वजन में तेजी से वृद्धि होती है। शोध के मुताबिक, जो लोग रोजाना रात को 10 घंटे सोते थे, वो 7-8 घंटे की नींद लेने वाले लोगों की तुलना में 21 फीसदी मोटे थे। इससे यह स्पष्ट होता है कि वजन को कम करने और बढ़ाने में नींद कीभूमिका बेहद अहम होती है।

3. पीठ में दर्द (Back Pain)

अगर आप रोजाना 8 घंटे की नींद लेते हैं, तो इससे धीरे-धीरे आपकी पीठ और कमर में दर्द की शिकायत होने लगेगी। क्योंकि ज्यादा सोने से शरीर की मांसपेशियों का लचीलापन खत्म होने लगता है, जिससे उसका उपयोग करने पर उनमें दर्द की अनुभूति होती है।



4. डिप्रेशन (Depression)

आज के दौर में अधिकांश युवा डिप्रेशन जैसी मानसिक बीमारी से जूझ रहे हैं। इसमें उनका बढ़ता तनाव और बिगड़े लाइफस्टाइल के साथ समय पर नींद ने लेने या असमय ज्यादा नींद लेने की आदत भी अहम भूमिका निभाती है। ओवरस्लीपिंग करने से व्यक्तित्व में उदासी की मात्रा बढ़ जाती है। इसलिए ज्यादा नींद लेने वाले लोगों की तुलना में सामान्य नींद लेने वाले लोग ज्यादा शारीरिक और मानसिक रुप से फिट होते हैं। डिप्रेशन से बाहर निकालने के लिए सबसे जरुरी है नींद का एक सही पैटर्न बनाना।




5. दिल की बीमारी और डायबिटीज का खतरा (Heart Disease & Diabetes)

एक शोध के मुताबिक, जो लोग रोजाना 8 घंटे से ज्यादा यानि रात 9-11 घंटे की नींद लेते हैं उनमें से दिल की बीमारियों का खतरा 28 फीसदी तक बढ़ जाता है। इसके अलावा दिल की बीमारी में कॉम्पिलिकेशन आने की संभावना 34 फीसदी तक बढ़ जाती है। इसके साथ ज्यादा सोने से शरीर में वसा के पूरी तरह से न जलने की वजह से इंसुलिन का स्तर बढ़ने लगता है। जिससे शरीर में मोटापे के अलावा टाइप 2 डायबिटीज का खतरा भी बढ़ जाता है।

Next Story
Top