Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

आर्मी के डॉग्स सूंघकर बताएंगे इंसान को कोरोना है या नहीं है, सीमा पर भी किया जाएगा तैनात

मेरठ के आरवीसी यानी रिमाउंट वेटनरी कोर ने बॉडी में कोरोना वायरस का पता लगाने के लिए खोजी कुत्तों को प्रशिक्षण दिया है। यह आर्मी के कुत्ते इंसान का पसीना और मूत्र की गंध को सूंघकर बता देंगे कि इंसान को कोरोना है या नहीं। सैंपल में कोरोना वायरस का पता लगाने के इन कुत्तों को बहुत कम समय लगता है।

आर्मी के डॉग्स सूंघकर बताएंगे इंसान को कोरोना है या नहीं है, सीमा पर भी किया जाएगा तैनात
X

आर्मी के डॉग्स सूंघकर बताएंगे इंसान को कोरोना है या नहीं है ( फाइल फोटो)

कोरोना वायरस का कहर थमने का नाम ही नहीं ले रहा है। यह खतरनाक वायरस करोड़ों लोगों को अपनी चपेट में ले चुका है। वहीं कोरोना वायरस के चलते काफी लोग सहमें हुए नजर आ रहे हैं। वायरस को लेकर कई देशों में तरह तरह की रिसर्च की जा रही है। वहीं बताया जा रहा है कि आर्मी के कु्त्ते सूंघकर बता देंगे कि इंसान को कोरोना है या नहीं है।

आपको बता दें कि मेरठ के आरवीसी यानी रिमाउंट वेटनरी कोर ने बॉडी में कोरोना वायरस का पता लगाने के लिए खोजी कुत्तों को प्रशिक्षण दिया है। यह आर्मी के कुत्ते इंसान का पसीना और मूत्र की गंध को सूंघकर बता देंगे कि इंसान को कोरोना है या नहीं। सैंपल में कोरोना वायरस का पता लगाने के इन कुत्तों को बहुत कम समय लगता है।

मेरठ कैंट में सफल परीक्षण के बाद तीन प्रजातियों के तीन कुत्तों को दिल्ली कैंट में ट्रायल के लिए तैनात किया गया है। यहां ये कुत्ते हर आने जाने वाले सैनिक को सूंघकर कोरोना वायरस का पता लगाते हैं। इन कुत्तों को तकरीबन डेढ़ महीने की ट्रेनिंग दी गई है।

Also Read: कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने के लिए जरूर करें ये काम, जल्द टलेगा खतरा

खबरों की मानें तो कोरोना पॉजिटिव की बॉडी से एक अलग तरह का रसायन निकलता है। जिसकी गंध को ये कुत्ते पहचान लेते हैं और फिर वहीं बैठकर या भौंककर हैंडलर को संकेत देते हैं। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि प्राथमिक तौर पर प्रशिक्षित तीन कोरोना वायरस डिटेक्टर कुत्तों को लेकर ट्रायल चल रहा है। इन सभी कुत्तों को सीमा पर भी तैनात की जाएगा।

और पढ़ें
Shagufta Khanam

Shagufta Khanam

Jr. Sub Editor


Next Story