logo
Breaking

बेल का रस पीने के फायदे : इन 5 रोगों से पाएं छुटकारा

Bel ka Ras Peene ke Fayde : गर्मियों में अक्सर आपने लोगों को बेल का शर्बत या जूस पीते हुए जरूर देखा होगा। लेकिन अगर बेल के फायदे या का बेल का रस पीने के फायदे के बारे में बात की जाए, तो ये शरीर को लू से बचाने के साथ ही कई अन्य गंभीर बीमारियों से भी बचाता है। क्योंकि इसकी तासीर ठंडी होती है। जिससे शरीर का तापमान सामान्य बना रहता है और शरीर को ठंडक महसूस होती है। इसलिए आज हम आपको बेल का रस पीने के फायदे (Bel ka Ras Peene ke Fayde) बता रहे हैं।

बेल का रस पीने के फायदे : इन 5 रोगों से पाएं छुटकारा

Bel ka Ras Peene ke Fayde : गर्मियों में अक्सर आपने लोगों को बेल का शर्बत या जूस पीते हुए जरूर देखा होगा। लेकिन अगर बेल के फायदे या का बेल का रस पीने के फायदे के बारे में बात की जाए, तो ये शरीर को लू से बचाने के साथ ही कई अन्य गंभीर बीमारियों से भी बचाता है। क्योंकि इसकी तासीर ठंडी होती है। जिससे शरीर का तापमान सामान्य बना रहता है और शरीर को ठंडक महसूस होती है। इसलिए आज हम आपको बेल का रस पीने के फायदे (Bel ka Ras Peene ke Fayde) बता रहे हैं।

बेल का रस पीने के फायदे (Bel ka Ras Peene ke Fayde):

1. बेल या बेल के रस का सेवन करना पेट के रोगों के लिए बेहद फायदेमंद होता है। इसका नियमित रूप से एक गिलास सेवन करने से कब्ज, गैस, एसिडिटी आदि समस्याओं से आसानी से छुटकारा पा सकते हैं।

2. एक गिलास बेल के रस में थोड़ा सा घी मिलाकर रोजाना सेवन करने से दिल मजबूत होता है और वो सुचारू रूप से कार्य कर पाता है। इसके साथ ही इससे शरीर का ब्लड शुगर भी सामान्य रखने में मदद मिलती है।

3. बेल की तासीर ठंडी होती है। जिसकी वजह से गर्मियों में बेल का रस, बेल का शर्बत पीना बेहद लाभदायक होता है। बेल का रस शरीर को लू के बचाने में भी कारगर होता है।

4.डिलीवरी के बाद अक्सर महिलाओं को बच्चों को दूध पिलाने यानि स्तनपान कराने में समस्या का सामना करना पड़ता है। ऐसे में अगर नई मां नियमित रूप से बेल के रस का सेवन करने से ब्रेस्ट मिल्क प्रोडक्शन में इजाफा होता है, साथ ही ब्रेस्ट फीडिंग से संबंधित परेशानी को आसानी से दूर किया जा सकता है।

5. कोलेस्ट्रॉल के बढ़ने पर अक्सर लोगों को दिल से संबंधित बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है। अगर आप खुद को दिल की बीमारियों से दूर रखना चाहते हैं, तो रोजाना बेल का रस पीने की आदत बना लें। इससे कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करके दिल की बीमारियों के खतरे को कम किया जा सकता है।

Share it
Top