Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

6 महीने से 16 साल तक के बच्चों को हो सकता है आर्थराइटिस, ये है इसके लक्षण

बच्चों में आर्थराइटिस होने पर दिख जाते हैं ये लक्षण।

6 महीने से 16 साल तक के बच्चों को हो सकता है आर्थराइटिस, ये है इसके लक्षण
X

अक्सर आप ने आर्थराइटिस की बीमारी सुनी होगी। यह बीमारी हड्डियों को कमजोर बनाने के साथ ही विकास को रोक देती है। यह बीमारी बुजुर्ग ही नहीं बल्कि 6 माह से 16 साल के बच्चों को भी हो सकती है। यह दावा एक रिपोर्ट में किया गया है। जिसके अनुसार, 6 महीने के बच्चे से लेकर 16 वर्ष तक ले बच्चों में इसके लक्षण देखे जा सकते हैं। इस लिए माता-पिता सावधानी बरते।

बच्चों में होने वाले आर्थराइटिस को जुवेनाइल आइडियोपेथीक आर्थराइटिस कहा जाता है। यह एक प्रकार का औटोइम्यून डिसीज है हमारी WBC यानी व्हाइट ब्लड सेल्स होती है जो हमारे ही शरीर को अपना शिकार बनाने लगती है।

इसके लक्षण इस प्रकार है

इसमें बच्चों की हड्डियों का विकास रुक जाता है आउट साथ ही बच्चों के जोड़ों में दर्द , बुखार , अकड़न , और साथ ही वजन का घटना आदि

1.अगर बच्चों में इससे सम्बंधित कोई भी लक्षण दिखे तो तुरंत पीडियाट्रिक रुमेटोलॉजिस्ट के पास ले जाए ।

2. इसमें जोड़ो में दर्द के साथ सूजन भी हो सकती है

3. इसमें लम्बे समय तक शरीर मे सुबह सुबह अकड़न भी रहती है।

4. इसमें बार बार तेज बुखार आना ।

5. इसमें आंखों में दर्द होना।

6. इसमें बच्चों का वजन भी घटना एक अहम लक्ष्ण है।

इसके मुख्य लक्षण है साथ ही ठीक से इलाज न मिलने पर इसमें बच्चों या किशोरों की Eye, Heart, Skin ,और lungs पर भी बुरा असर देखने को मिलता है। ये सभी प्रकार के लक्षण दिखने पर तुरंत डॉक्टर की एडवाइस ले।

वैज्ञानिको के अनुसार आर्थराइटिस बीमारी का कोई इलाज नही है। इस पर अमेरिका के कॉलेज ऑफ रुमेटोलॉजी की रिसर्च भी यही कहती है। इस बीमारी में बड़े और छोटे बच्चों में आर्थ्राइटिस के लक्षण अलग अलग दिखाई देते है। डॉक्टर के अनुसार इसमें आप जितना देर करेंगे उतनी ही खतरनाक होती चली जाएगी।

Next Story