Web Analytics Made Easy - StatCounter
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

Ahoi Ashtami 2019 : जानिए अहोई अष्टमी पर गर्भवती महिलाएं कैसे रखें व्रत

Ahoi Ashtami 2019 (अहोई अष्टमी 2019) अहोई अष्टमी का व्रत गर्भवती महिलाएं भी रख सकती हैं। अहोई अष्टमी का व्रत संतान प्राप्ति और संतान की लंबी आयु के लिए रखा जाता है। अहोई अष्टमी का व्रत 2019 में 21 अक्टूबर को रखा जाएगा। गर्भवती महिलाओं के लिए व्रत के नियम (Pregnant Women Ahoi Ashtami Vrat Niyam) अलग होते हैं, अगर आप गर्भवती हैं और अहोई अष्टमी का व्रत रखना चाहती हैं, तो ऐसे में डॉक्टर की सलाह के साथ कुछ सावधानियां रखना जरूरी है तो आइये जानते हैं गरभवती महिलाएं कैसे रखें अहोई अष्टमी का व्रत।

Ahoi Ashtami 2019 : अहोई अष्टमी पर गर्भावास्था में कैसे रखें व्रतAhoi Ashtami 2019 fasting In Pregnancy is good for mother and child Health

Ahoi Ashtami 2019 : गर्भावास्था में महिलाओं की सेहत का खास ख्याल रखा जाता है, इस दौरान महिलाओं को लंबे समय तक खाली पेट रहने की भी मनाही होती है, इसलिए किसी भी तरह का व्रत रखने को सही नही माना जाता है। ऐसे में अगर आप अहोई अष्टमी का व्रत रखने की सोच रही हैं, तो ऐसे में अपने शिशु की सेहत के बारे में एक बार जरुर सोच लें, साथ ही डॉक्टर की सलाह पर ही व्रत रखें। क्योंकि ये व्रत संतान की दीर्घायु के लिए रखा जाता है।




गर्भावास्था में व्रत रखने की परेशानियां (Problems of Fasting In Pregnancy)

1. पूरे दिन भूखे-प्यासे रहने से गर्भवती महिलाओं में कमजोरी आने लगती है। जिससे उन्हें चक्कर आना, थकान महसूस करना आदि समस्याएं महसूस होती हैं।

2. शरीर में पानी की कमी होने से गला सूखने लगता है, सिरदर्द रहता और कई बार बेहोशी आने लगती है।

3. पूरे दिन भूखे रहने से गैस बनने की परेशानी बढ़ जाती है, जिससे शरीर के अंगों में दर्द की शिकायत बढ़ जाती है।

4. खाना न खाने की वजह से बी.पी कम होने और शरीर में ग्लूकोज स्तर में तेजी से कमी आने से इंसुलिन कम होने लगता है। जिससे महिलाओं को घबराहट आदि महसूस होती है।



गर्भावास्था में व्रत रखने की सावधानियां (Precautions Tips For Fasting in Pregnancy)

1. अगर आप गर्भावास्था के दौरान व्रत रख रही हैं, तो ऐसे में पूरी तरह से भूखी न रहें, बल्कि थोड़ी-थोड़ी देर में कुछ जरुर खाती रहें। आप फलाहार का सेवन करें।

2. गर्भावास्था में महिलाओं को ठंड से बचाया जाता है, क्योंकि उसका सीधा असर शिशु की सेहत पर पड़ता है। ऐसे में आप खुद को गर्म कपड़ों से ढककर रखें।

3. व्रत के दौरान दर्द या अन्य परेशानी के लिए डॉक्टर की सलाह के बिना किसी भी दवा का सेवन न करें।

4. व्रत के दौरान ज्यादा से ज्यादा पानी पीएं। इससे आपके शरीर के लिए जरुरी मिनरल्स पहुंचेगें, जिससे आपको थकान महसूस नहीं होगी।

5. गर्भावास्था में व्रत के दौरान पूरा आराम करें, आप 8 घंटे की नींद जरुर लें।

6. व्रत के दौरान आयरन से भरपूर डाइट लें, इससे शरीर एक्टिव रहेगा और कमजोरी महसूस नहीं होगी।

7. व्रत के समय ताजे फलों, जूस और नारियल पानी का सेवन करें। इससे शरीर के लिए जरुरी पौषक तत्व मिल जाते हैं।

8. गर्भावास्था में व्रत के समय डेयरी प्रोडक्ट्स यानि दूध, दही और छाछ का सेवन जरुर करें।

9. व्रत के दौरान भारी भरकम कपड़े और ज्वेलरी पहनने से बचें, इससे आपको घबराहट होने का खतरा बढ़ता है।

10. गर्भावास्था में व्रत के दौरान कुछ मीठा जरुर खाएं, इससे शरीर का इंसुलिन स्तर सामान्य बनाए रखने में मदद मिलेगी।

Next Story
Share it
Top