Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

एक गुलाब के हैं हजारों फायदे, ऐसे करें अप्लाई चमक उठेगी आपकी स्कीन

गुलाब (Rose) किसी परिचय का मोहताज नहीं है। इसे फूलों का राजा भी कहते हैं। इसकी मनभावन खुशबू और मोहक सुंदरता हर किसी को भाती है। सुंदरता के साथ ही यह औषधीय गुणों से भी भरपूर होता है, जो हमारी स्वास्थ्य रक्षा में मददगार है। इसके फल (Rose hip) में विटामिन ए, बी, सी, डी और ई भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं।

एक गुलाब के हैं हजारों फायदे, ऐसे करें अप्लाई चमक उठेगी आपकी स्कीन
X

प्रतीकात्मक तस्वीर 

गुलाब (Rose) किसी परिचय का मोहताज नहीं है। इसे फूलों का राजा भी कहते हैं। इसकी मनभावन खुशबू और मोहक सुंदरता हर किसी को भाती है। सुंदरता के साथ ही यह औषधीय गुणों से भी भरपूर होता है, जो हमारी स्वास्थ्य रक्षा में मददगार है। इसके फल (Rose hip) में विटामिन ए, बी, सी, डी और ई भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं। फूल के अलावा गुलाब जल (Rose Water) भी बहुत फायदेमंद है। यह शीतल, वात, पित्त शामक, ह्रदय रोगों में लाभकारी है। इसके औषधीय गुणों के बारे में जानकर आप भी लाभ उठा सकते हैं...

आंखों के लिए फायदेमंद

जो लोग कंप्यूटर पर रोजाना अधिक देर तक काम करते हैं, उनकी जलन भरी और थकी आंखों में दो बूंद गुलाब जल डालने से बहुत राहत मिलती है।


दांतों और मसूड़ों के लिए लाभदायक

सांस में बदबू, गले में दर्द होने पर इसके कोमल पत्तों को चबाना लाभकारी है। वहीं दांतों में सड़न, मसूड़ों से खून आना, मवाद आने जैसी बीमारियों के लिए इसका फूल चबाना काफी फायदेमंद होता है।

बालों की भी करता है देखभाल

बालों की देखभाल के लिए केवल गुलाब जल या इसके साथ थोड़ा सा फिटकरी का पानी मिलाकर हफ्ते में एक-दो बार बालों को धोएं। वहीं महिलाओं के मासिक धर्म संबंधी रोगों के कष्टदायक कारणों को दूर करने के लिए इसका तेल बहुत लाभकारी है।


संक्रमण से बचाव में सहायक

घाव जल्दी भरने तथा संक्रमण से बचाव के लिए इसका तेल लगाना चाहिए। शरीर में सूजन होने पर इसके तेल की मालिश लाभकारी है। मांसपेशियों में होने वाले दर्द से राहत पाने के लिए इसके फूल की पंखुड़ियों को उबाल कर पीना चाहिए।


चर्म रोगों से भी मिलता है लाभ

गुलाब जल में फिटकरी मिलाकर लगाने से चेहरे पर होने वाले कील, मुंहासे, दाद, खाज आदि कई चर्मरोगों में लाभ होता है।

पाचन क्रिया में मददगार

पाचन संबंधी परेशानियों के लिए गुलाब के फूलों का रस, सौंफ का रस, पुदीने का रस पांच-पांच बूंद लेकर पानी में मिलाकर भोजन के बाद सेवन हितकर है। भोजन के बाद इसके फूलों से बना गुलकंद खाना भी पाचन सही करने में मददगार है।

सिर दर्द से मिलता है काफी आराम

सिर दर्द होने पर सफेद चंदन का चूर्ण, जरा-सा कपूर और गुलाब जल मिलाकर माथे पर लगाने से आराम मिलता है। माइग्रेन का दर्द हो तो चार चम्मच गुलाब जल में जरा-सा नौसादर मिलाकर टाइट ढक्कन वाली कांच की बोतल में डाल कर खूब हिला कर दो-दो बूंद दिन में दो-तीन बार नाक में डालें और उसे सूंघें, लाभ होगा।

Next Story