logo
Breaking

अगर शरीर के साथ दिमाग को बनाना है कंप्यूटर सा तेज,तो अपनाएं ये खास टिप्स

मॉडलिंग के साथ टीवी और फिल्मों में बिजी रहने के बावजूद एक्टर रजनीश दुग्गल अपनी फिटनेस को लेकर लापरवाही नहीं बरतते। खुद को मेंटेन करने के लिए वह क्या-क्या करते हैं, किन बातों का ध्यान रखते हैं, जानिए रजनीश की जुबानी...

अगर शरीर के साथ दिमाग को बनाना है कंप्यूटर सा तेज,तो अपनाएं ये खास टिप्स

रजनीश दुग्गल ने अपना करियर मॉडलिंग से शुरू किया और उसके बाद फिल्मों में एंट्री की। वे टीवी रियालिटी शोज और डेली सोप भी कर चुके हैं। हाल ही में रजनीश की फिल्म ‘वो तेरी भाभी है पगले’ रिलीज हुई है।

बेहद फिट रजनीश अपनी सेहत को लेकर कोई समझौता नहीं करते। अपनी फिटनेस के लिए वह क्या करते हैं और क्या करना जरूरी मानते हैं, बता रहे हैं रजनीश दुग्गल।

यह भी पढें : सावधान ! कहीं आपके बच्चे भी तो ये भूल नहीं कर रहे

कंप्लीट फिटनेस

फिटनेस फिजिकल हो या मेंटल दोनों ही बहुत जरूरी होती है। अकसर देखा गया है कि लोग फिजिकल फिटनेस को लेकर ही ज्यादा जागरूक रहते हैं। इसलिए शरीरिक रूप से फिट होने के बावजूद तनावग्रस्त रहते हैं।

खुद को पूरी तरह से फिट फील नहीं कर पाते। कंप्लीट फिटनेस वो होती है, जब आपका शरीर फिट और मन-दिमाग शांत और तनाव रहित हो। इसलिए फिजिकल फिटनेस के साथ-साथ मेंटल फिटनेस और पीस भी लाइफ में बहुत जरूरी है। इसलिए मैं मानता हूं कि जिंदगी में दोनों के महत्व को समझना जरूरी है।

हेल्दी डाइट

फिट रहने के लिए हेल्दी डाइट बहुत ज्यादा जरूरी है। अपने दिन की शुरुआत मैं ग्रीन टी और एप्पल से करता हूं। खाना मैं सामान्य ही खाता हूं जैसे दाल, चावल, रोटी, सब्जी, सलाद, सूप। मैं पूरी तरह से वेजिटेरियन हूं।

मैं अंडा भी नहीं खाता। लेकिन मेरी डाइट बहुत हेल्दी डाइट होती है। मैं मीठा ही नहीं हर तरह की डिश खाता हूं। लेकिन कितनी मात्रा में खाना और किस समय क्या खाना है, इस पर भी बहुत ध्यान देता हूं।

जैसे मैं परांठे खाता हूं लेकिन केवल सुबह के समय। दिन में या रात के समय नहीं खाता। इसके अलावा मैं एक साथ बहुत सारा या यूं कहूं कि पेट भरकर खाना नहीं खाता। मैं दिन भर में पांच छोटे-छोटे मील खाता हूं।

यह भी पढें : http://अगर आप में भी है ये 'हॉबी' तो हो जाएं सावधान, खुल जाते हैं ये राज

वर्कआउट है जरूरी

मेरे दिन की शुरुआत योग से होती है। इसके अलावा मैं दिन में किसी भी समय जब मुझे सुविधा हो, मैं एक घंटा वर्कआउट जरूर करता हूं चाहे मैं ट्रैवल कर रहा हूं तब भी। अगर किसी ज़रण से नहीं हो पाता तो मैं रनिंग करता हूं या फिर स्वीमिंग कर लेता हूं। कई बार मैं पार्क में बच्चों के साथ भी खेलता हूं। यह मुझे फिजिकली फिट रखने में बहुत मदद करता है। मुझे लगता है कि यह बहुत जरूरी भी है।

वॉक है इफेक्टिव

फिट रहने के लिए बहुत जरूरी है कि आप दिन भर में किसी भी टाइम 45 मिनट की वॉक करें। ऐसा हर इंसान को करना चाहिए। चाहे जवान हो या बुजुर्ग। वो लोग जो जिम या योग नहीं कर पाते, वे तो जरूर 45 मिनट की वॉक करें। इससे जहां हृदय स्वस्थ रहेगा, वहीं आपकी हृदयगति भी दुरुस्त बनी रहेगी।

आराम की नींद

अक्सर लोग कहते हैं कि हमारी जिंदगी में आराम नहीं है। तनाव बहुत है। उनके लिए यही कहूंगा कि फिजिकल के साथ-साथ आपको मानसिक रूप से भी अपनी फिटनेस का ख्याल रखना चाहिए। इसके लिए योग और प्राणायाम करें।

यह आपको तनावमुक्त रहने में मदद करेगा। आपको सकारात्मक होने में मदद करेगा। और फिर आपको रात को चैन की नींद भी आएगी। 24 घंटों में से कम से कम 8 घंटे अपने सोने के लिए फिक्स रखें। उनके साथ कोई समझौता न करें।

Share it
Top