Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

लौंग के फायदे जानकर रह जाएंगे दंग

यूजेनॉल जो साइनस और दांतों में होने वाले दर्द से राहत दिलाता है।

लौंग के फायदे जानकर रह जाएंगे दंग
X

लौंग लगभग हर रसोई घर में मिलने वाली चीज़ है। लौंग में सेहत के बहुत राज छुपे हैं। यह देखने में भले ही कितनी भी छोटी हो लेकिन इसके फायदे बहुत बड़े हैं। चाय में डाल लो तो चाय का टेस्ट बढ़ जाए, सर्दी-जुखाम में आराम दिलाए।

पूजा-अर्चना की थाली में रखी जाए, कितने काम आती है लौंग। गर्म तासीर की लौंग में यूजेनॉल होता है। यूजेनॉल जो साइनस और दांतों में होने वाले दर्द से राहत दिलाता है। कहते हैं, हर उम्र के लोगों के लिए यह फायदेमदं होती है।

ये भी पढ़े- जानिए रोजाना खाली पेट लहसुन खाने के फायदे

हर मौसम में खाई जा सकती है। इसके गुण कुछ ऐसे हैं कि न सिर्फ आयुर्वेद बल्कि होम्योपैथ व एलोपैथ जैसी चिकित्सा विधाओं में भी बहुत अधिक महत्व आंका जाता है।

लौंग के फायदे

लौंग में छिपे है, दर्दनाशक गुण

लौंग एक बेहतरीन नैचुरल पेनकिलर माना जाता है। इसमें मौजूद यूजेनॉल ऑयल दांतों के दर्द से आराम दिलाने में बहुत लाभदायक है। दांतो में कितना भी दर्द क्यों न हो, इस के तेल को उनपर लगाने से दर्द छूमंतर हो जाता है।

इसमें एंटीबैक्टीरियल विशेषता होती है जिस वजह से अब इसका इस्तेमाल कई तरह के टूथपेस्ट, माउथवाश और क्रीम बनाने में किया जाता है।

इसके सेवन से गठिया में आराम

गठिया रोग में जोड़ों में होने वाले दर्द व सूजन से आराम के लिए भी लौंग (Clove) बहुत फायदेमंद है। इसमें फ्लेवोनॉयड्स अधिक मात्रा में पाया जाता है। कई अरोमा एक्सपर्ट गठिया के उपचार के लिए इस के तेल की मालिश को तवज्जो देते हैं।

श्वास संबंधी रोगों में आराम

लौंग के तेल का अरोमा इतना सशक्त होता है कि इसे सूंघने से जुकाम, कफ, दमा, ब्रोंकाइटिस, साइनसाइटिस आदि समस्याओं में तुरंत आराम मिल जाता है।

बेहतरीन एंटीसेप्टिक

लौंग व इसके तेल में एंटीसेप्टिक गुण होते हैं जिससे फंगल संक्रमण, कटने, जलने, घाव हो जाने या त्वचा संबंधी अन्य समस्याओं के उपचार में इसका इस्तेमाल किया जाता है।

पाचन में फायदेमंद

भोजन में लौंग का इस्तेमाल कई पाचन संबंधी समस्याओं में आराम पहुंचाता है। इसमें मौजूद तत्व अपच, उल्टी गैस्ट्रिक, डायरिया आदि समस्याओं से आराम दिलाने में मददगार हैं।

रोग प्रतिरोधक क्षमता बढाने में

इतना ही नहीं, लौंग का सेवन शरीर की प्रतिरोधी क्षमता को बढ़ाता है और रक्त शुद्ध करता है। इसका इस्तेमाल मलेरिया, हैजा जैसे रोगों के उपचार के लिए दवाओं में किया जाता है।

डायबिटीज में लौंग के सेवन से ग्लूकोज का स्तर कम होता है। लौंग का तेल पेन किलर के अलावा मच्छरों को भी दूर भगाने के लिए इस्तेमाल में लाया जाता है। लौंग कफ-पित्त नाशक होती है।

दांत में दर्द होने पर

दांतों में दर्द होने पर नींबू के रस में 2-3 लोंग को पीसकर मिला लीजिए। उसके बाद दांतों पर इसका लेप लगाइए । दांत दर्द समाप्त हो जाएगा ।

गैस की समस्या होने पर

पेट में गैस होने पर 1 कप उबलते हुए पानी में 2 लौंग को पीसकर डालें । उसके बाद पानी ठंडा होने के बाद पी लीजिए । पेट की गैस समाप्त हो जाएगी ।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story