Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

इबोला वायरस को लेकर सरकार सतर्क, संदिग्‍ध व्‍यक्ति नहीं है वायरस की चपेट में

हर्षवर्धन ने मीडिया में आई इन खबरों को नकारा कि यह इबोला विषाणु का संदिग्ध मामला था।

इबोला वायरस को लेकर सरकार सतर्क, संदिग्‍ध व्‍यक्ति नहीं है वायरस की चपेट में
नई दिल्‍ली. इबाेला वायरस से बचने के लिए स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय सतर्क हो गया है। उधर, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने रविवार को कहा कि एक अफ्रीकी देश से लौटने पर इबोला विषाणु की चपेट में होने के संदेह में 26 साल के जिस व्यक्ति की चेन्नई के एक सरकारी अस्पताल में जांच की गई और निगरानी में रखा गया उसे स्वस्थ पाया गया है। दिल्ली में एक आधिकारिक विज्ञप्ति में कहा गया कि तमिलनाडु सरकार के स्वास्थ्य विभाग ने केंद्र सरकार को बताया है कि 9 अगस्त को एक व्यक्ति गिनी से चेन्नई हवाई अड्डे पर उतरा था। लक्षणों की जांच हुई और उसे स्वस्थ पाया।
बहरहाल, राज्य के स्वास्थ्य अधिकारी उसकी सेहत पर नजर बनाए हुए हैं। विज्ञप्ति में कहा गया है कि हर्षवर्धन ने मीडिया में आई इन खबरों को नकारा कि यह इबोला विषाणु का संदिग्ध मामला था। गृह मंत्रालय (आव्रजन विभाग), विदेश मंत्रालय एवं नागर विमानन मंत्रालय से समन्वय कायम कर स्वास्थ्य मंत्रालय इबोला से प्रभावित पश्चिम अफ्रीकी देशों से भारत आने वाले यात्रियों पर लगातार नजर रख रहा है।
विज्ञप्ति में कहा गया है कि आवश्यक रूप से स्वत: सूचना देने का प्रावधान किया गया है। पूरे भारत में चिह्नित अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डों में तैनात स्वास्थ्य अधिकारी उन यात्रियों की जांच कर रहे हैं जो प्रभावित देशों से आ रहे हैं या जा रहे हैं। प्रेस विज्ञप्ति के मुताबिक, अब तक प्रभावित देशों से जो भी आए हैं उन्हें स्वस्थ पाया गया है। पश्चिम अफ्रीका के चार देश- गिनी, सिएरा लियोन, लाइबेरिया और नाइजीरिया इबोला विषाणु की चपेट में हैं और वहां अब तक करीब 1,000 लोग इससे मारे जा चुके हैं।
नीचे की स्लाइड्स में जानिए, इबोला से लड़ने की है पूरी तैयारी-

खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि और हमें फॉलो करें ट्विटर पर-
Next Story
Top