Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Happy New Year 2019 : नए साल में बच्चों के रेजोल्यूशन को करवाना है कंप्लीट, तो करें ये छोटा सा काम

अगर आपका बच्चा भी नए साल पर अपने लिए कोई रेजोल्यूशन ले रहा है तो उसको मोटिवेट करने के साथ राइट गाइडेंस भी दें। जानिए, आप किस तरह बच्चे के रेजोल्यूशन को पूरा करने में मददगार हो सकती हैं।

Happy New Year 2019 : नए साल में बच्चों के रेजोल्यूशन को करवाना है कंप्लीट, तो करें ये छोटा सा काम
X

Happy New Year 2019 Resolution For child

नए साल की शुरुआत बड़ों के साथ-साथ बच्चों के लिए भी स्पेशल होती है। वह नए साल को बड़े उत्साह से सेलिब्रेट करते हैं। सेलिब्रेशन के अलावा भी नए साल को बच्चे अपने लिए खास बना सकते हैं। वह भी बड़ों की तरह रेजोल्यूशन ले सकते हैं। इसके लिए पैरेंट्स की गाइडेंस बहुत जरूरी है। वे बच्चों को रेजोल्यूशन लेने के लिए मोटिवेट करें, साथ ही इन्हें पूरा करने में सपोर्ट भी दें।

कठिन न हो रेजोल्यूशन

बच्चा जब नए साल पर अपने लिए कोई रेजोल्यूशन ले तो आपको उस पर ध्यान देना चाहिए। ऐसा न हो कि बच्चा अपने दोस्तों, कजिन्स की देखा-देखी उनके जैसे रेजोल्यूशन ले और बाद में इन्हें पूरा करने में कठिनाई महसूस करे। ऐसे में जब भी बच्चा खुद के लिए कोई रेजोल्यूशन ले तो उससे बातचीत करें। लेकिन बातचीत का यह मतलब बिल्कुल नहीं है कि आप उस पर अपनी राय थोपें। बच्चे को प्यार से समझाएं कि कौन से रेजोल्यूशन उसके लिए ज्यादा यूजफुल हैं और कौन से नहीं।

निगरानी भी रखें

बच्चे द्वारा कोई रेजोल्यूशन ले लेना, उसके पूरे होने की गारंटी नहीं है। उसे पूरा करने में पैरेंट्स का सपोर्ट बहुत जरूरी है। मसलन, बच्चा कोई नई भाषा सीखना चाहता है या फिर अपनी अंग्रेजी या अन्य किसी विषय में खुद को सुधारना चाहता है तो अभिभावक उसकी हर संभव मदद करें।

मोटिवेट करें

कभी-कभी ऐसा होता है कि बच्चे का रेजोल्यूशन पूरा नहीं हो पाता या बीच में ही टूट जाता है, इस स्थिति में बच्चे को कभी भी डांटे नहीं, न ही उसके सामने नेगेटिव बातें कहें। इसके बजाय बच्चे को मोटिवेट करें। इस तरह वह मोटिवेट होकर कोई एक और अच्छा-सा रेजोल्यूशन ले सकता है। साथ ही इसे पूरा करने की दिशा में आगे भी बढ़ सकता है। बच्चे के सेल्फ मोटिवेशन के लिए उसके किसी बड़े संकल्प को पूरा करने से पहले छोटे-छोटे टारगेट सेट होने के लिए प्रोत्साहित करें।
मसलन, किसी नई चीज को सीखने से पहले यह निर्धारित करें कि वह कितने दिन में सीख जाएगा, अपने गोल को पूरा करने के बाद बच्चे को रिवॉर्ड दें। इससे उसमें उत्साह का संचार होगा। इस तरह वह आगे किसी बड़े रेजोल्यूशन को भी पूरा करने में सफल होगा।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story