Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

खुशहाल शादीशुदा जिंदगी के लिए अपनाएं ये टिप्स: लाइफ में ऐसे लगाएंगे रोमांस का तड़का

वो बातें जिनसे रहेगा दांपत्य जीवन हमेशा मधुर पति-पत्नी कई बार जाने-अनजाने ऐसी छोटी-छोटी बातों को महत्व देते या नजरअंदाज करते हैं, जिससे दांपत्य जीवन पर नकारात्मक असर पड़ता है। लेकिन इन बातों को समय रहते संभाला जा सकता है। तभी रिश्ता ताउम्र मधुर बना रहता है।

खुशहाल शादीशुदा जिंदगी के लिए अपनाएं ये टिप्स: लाइफ में ऐसे लगाएंगे रोमांस का तड़का
X

आरती और रोहन की शादी को सात साल हो चुके हैं। शुरुआती सालों में दोनों के बीच खूब प्यार था, दोनों एक-दूसरे की बहुत फिक्र करते थे। लेकिन जैसे-जैसे समय बीतता गया, दोनों के बीच दूरियां बढ़ने लगीं। इसके पीछे वजह थी कि आरती अक्सर अपनी मैरीड लाइफ को दूसरों से कंपेयर करती थी।

उसे हमेशा यही लगता कि दूसरे कपल उससे ज्यादा खुश हैं। इस वजह से अक्सर छोटी-छोटी बातों पर रोहन और आरती झगड़ने लगे। इतना ही नहीं दोनों ने साथ बैठकर प्यार भरी बातें करना भी छोड़ दिया। इससे दोनों एक-दूसरे को लेकर उदासीन हो गए। सिर्फ रोहन और आरती ही नहीं, कई दंपती ऐसी सिचुएशन फेस करते हैं। ऐसा न हो इसके लिए कुछ बातों को जानना बहुत जरूरी है।

बनाए रखें स्पार्क

शादी के शुरुआती सालों में पति-पत्नी के बीच जो आकर्षण होता है, वह हमेशा बरकरार नहीं रह पाता। वक्त गुजरने के साथ कपल्स के बीच स्पार्क कम होने लगता है। ऐसा होने की कई वजहें हैं,शादी के कुछ सालों बाद पारिवरिक जिम्मेदारियां बढ़ जाती हैं, जिस वजह से प्यार भरी बातों के बजाय बच्चों की पढ़ाई-लिखाई, देखभाल जैसी बातचीत ज्यादा होने लगती हैं।

इस वजह से मैरीड लाइफ का स्पार्क कम होने लगता है। ऐसी स्थिति आने पर कपल्स एक-दूसरे के प्रति उदासीन हो जाते हैं। ऐसी सिचुएशन न आए, इसके लिए कपल्स को जो भी समय मिले, उसे पूरी तरह एंज्वॉय करें।

पार्टनर को लेकर नेगेटिव न हों

शायद ही कोई मैरीड कपल हों, जिनके बीच कभी-कभार तनाव न रहता हो। यह वैवाहिक जीवन का हिस्सा है। लेकिन कई बार जब झगड़ा, तनाव बहुत ज्यादा बढ़ जाता है तो कपल्स एक-दूसरे को लेकर नेगेटिव हो जाते हैं।कई लोग तो ऐसा सोचने लगते हैं कि उन्होंने गलत लाइफ पार्टनर चुन लिया।

इस तरह की सोच सही नहीं है। ऐसा सोचने से मन ही मन घुटन होने लगती है। बेहतर है ऐसा सोचने के बजाय जिस बात को लेकर आप तनाव में हैं, उस पर पार्टनर से बात करें। पार्टनर आपकी भावना को समझ कर कुछ हद तक आपकी कसौटी पर खरा उतरने की कोशिश कर सकता है।

कमी नहीं-खूबियां देखें

हर व्यक्ति का स्वभाव अलग होता है। पति-पत्नी पर भी यह बात लागू होती है। दांपत्य जीवन में कई बार ऐसा होता है कि एक पार्टनर, दूसरे पार्टनर की किसी न किसी आदत से परेशान रहता है। उसे लगता है कि उसका पार्टनर अपनी कमी को सुधारता क्यों नहीं है?

इसी बात पर अक्सर उनके बीच अनबन हो जाती है। इस बात को समझें कि हमेशा कमियों को प्वाइंट आउट करने से रिश्ते में दरार बढ़ने लगती है। इसलिए पार्टनर की कमी की बजाय उसकी खूबियों को देखें, इससे रिश्ते को संवारने में मदद मिलेगी।

कंपेयर न करें

हम अकसर दूसरों से अपनी तुलना करके खुद को कमतर आंकने लगते हैं। ऐसा ही अपने मैरीड लाइफ को लेकर भी करते हैं। अपने वैवाहिक जीवन की किसी और की शादी-शुदा जिंदगी से तुलना करते वक्त भी हम भूल जाते हैं कि दिन भर उनके साथ नहीं रहते हैं। इसलिए उनके बीच होने वाले झगड़े और उनकी शिकायतों का हमें कोई अंदाजा नहीं। लेकिन दूसरों को देखकर अपने रिश्ते को लेकर तुलनात्मक हीनता पालना ठीक नहीं है।

चेतन भगत-अनुषा का हैप्पी मैरीड लाइफ सीक्रेट

लेखक चेतन भगत और उनकी पत्नी अनुषा की शादी को कई साल हो चुके हैं। ये ट्विंस बच्चों के पैरेंट्स हैं। अनुषा का जन्म बेंग्लुरु में हुआ जबकि चेतन दिल्ली के पंजाबी परिवार से हैं। एक इंटरव्यू में अपने दांपत्य जीवन के अनुभव साझा करते हुए अनुषा कहती हैं, ‘शादी को पावर का खेल न बनने दें।

एक-दूसरे को पावर दिखाने के बजाय प्यार से रिश्ते को संभालें।’ अनुषा की बात आगे बढ़ाते हुए चेतन कहते हैं, ‘यह सही बात है, पति-पत्नी एक-दूसरे को पावर से कंट्रोल करने की कोशिश न करें ।आज की तारीख में हर कोई आर्थिक रूप से आत्मनिर्भर हैं इसलिए नियंत्रण किसी को पसंद नहीं आता। इसके बजाय समझदारी से रिश्ते निखरते हैं। एक-दूजे का ख्याल रखना ही संबंधों के निभाव का मूल मंत्र हैं।’

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story