Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

बोरिंग लाइफ में हैप्पीनेस का तड़का लगाने के लिए अपनाएं ये टिप्स

हम सभी की जिंदगीं में परिवार और दोस्ती वो अहम रिश्ते हैं जिनके बिना जिंदगी हमेशा अधूरी रहती है। लेकिन आज के दौर में हम सबसे ज्यादा इन्हीं दोनों रिश्तों को टेकेन फॉर ग्रांटेड लेते हैं और लगातार नजरअंदाज करते हैं।

बोरिंग लाइफ में हैप्पीनेस का तड़का लगाने के लिए अपनाएं ये टिप्स
X

हम सभी की जिंदगीं में परिवार और दोस्ती वो अहम रिश्ते हैं जिनके बिना जिंदगी हमेशा अधूरी रहती है। लेकिन आज के दौर में हम सबसे ज्यादा इन्हीं दोनों रिश्तों को टेकेन फॉर ग्रांटेड लेते हैं और लगातार नजरअंदाज करते हैं।

हमें जब भी कोई परेशानी होती है चाहें वो पर्सनल हो या प्रोफेशनल तो,यही दो रिश्ते सबसे पहले हमें संभालने आते हैं। हम अक्सर खुद तो हर मौके पर अपने परिवार और दोस्तों से
मदद और फेवर ले लेते हैं। लेकिन उसके बदले में उन्हें वो समय और केयर नहीं दे पाते,जिसके वो अक्सर हकदार होते हैं।

कभी-कभी न चाहते हुए भी इन खास रिश्तों में दूरियां आने लगती हैं। इसलिए आज हम आपको ऐसे कुछ टिप्स बताने वाले हैं जिससे आप फिर से अपनी जिदंगी के अहम रिश्तों को
खास और स्पेशल फील करवा सकें।


परिवार और दोस्तों को स्पेशल फील करवाने के टिप्स :


1. मोबाइल का कम करें यूज -
मोबाइल और फोन से जहां हम परिवार और दोस्तों से हमेशा जुड़े रहते हैं, तो वहीं ये फोन ही अपनों के साथ टाईम बिताते वक्त एक परेशानी का
सबब बन जाता है। क्योंकि लगातार फोन पर आने वाले नोटिफिकेशन्स बातों की तारतम्यता को तोड़ देता है। यही नही, दो लोगों के बीच मोबाइल फोन अक्सर तीसरे की भूमिका
निभाता है। इसलिए कोशिश करें कि अपनों के साथ टाईम बिताते वक्त मोबाइल का कम से कम यूज करें ।


2. स्पेशल फील करवाएं -
हम सभी को स्पेशल फील करना अच्छा लगता हैं। लेकिन हम अक्सर काम और व्यस्तता के चलते अपने खास लोगों के बर्थ डे और शादी की सालगिरह
जैसे खास दिनों को भी भूल जाते हैं। अगर हमें अपने खास लोगों को हमेशा अपने पास और साथ रखना है तो हमें कम से कम उनके खास दिनों पर तो स्पेशल जरूर फील करवाना
चाहिए।


3. सुनना सीखें
- हम सभी लोग अक्सर अपनी शिकायतें तो कर लेते हैं, लेकिन कभी भी अपने परिवार और दोस्तों के दिल की बात और उनकी परेशानियां सुनना पसंद नहीं करते हैं। अगर हमें लाइफ के इन दो सबसे अहम रिश्तों की गर्माहट बनाए रखने के लिए इन्हें ध्यान के साथ सुनना सीखना चाहिए और परेशानियों को सॉल्व करने में मदद करनी चाहिए।

4. जिम्मेदारी लें
- हम पूरी जिदंगी कभी अपने पेरेंट्स पर, तो कभी बच्चों पर डिपेंड रहते हैं। ऐसे हमें ये समझना चाहिए कि जिस तरह लाइफ के हर मोड़ पर किसी न किसी जरूरत महसूस करते हैं। तो वैसा ही कुछ हमारे परिवार के लोग और दोस्त फील करते होगें। इसलिए हमें समय-समय पर अपनी जिम्मेदारी समझते हुए, पेरेंट्स के मेडिकल चेकअप्स पर ले जाना चाहिए,तो वहीं बच्चों और लाइफ-पार्टनर से जुड़ी जिम्मेदारियों को नजरअंदाज न करें।


5. रिश्तों में तारीफ का शहद घोलें
- हम सभी अक्सर छोटी से छोटी अनजाने में हुई गलतियों पर भी अपने खास लोगों पर गुस्सा कर देते हैं। यही नही कई बार गुस्से में अपनों को ही हर्ट कर देते हैं। लेकिन अगर हम अपने परिवार और दोस्तों के अच्छे कामों की तारीफ करें और उन्हें खुद के साथ होने पर गर्व महसूस करवाएं, तो रिश्तों में कभी भी दूरी नहीं आ सकती ।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story