Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

गर्भावास्था में अनानास खाएं या नहीं, जानिए यहां

गर्भावास्था महिलाओं के जीवन का सबसे अहम पड़ाव होता है। ऐसे में उन्हें अपने साथ-साथ गर्भ में पल रहे शिशु का भी ख्याल रखना होता है। ऐसे में गलत खान-पान की आदतों या एक छोटी सी गलती काफी बड़ी बन सकती है। आमतौर पर महिलाओं को गर्भावास्था के दौरान पपीता खाने से मना किया जाता है क्योंकि पपीते के सेवन से गर्भपात होने का खतरा बना रहता है। तो कई लोग अनानास को भी गर्भावास्था में खाने से मना करते हैं। इसलिए आज हम आपको गर्भावास्था में अनानास खाएं या नहीं के बारे में बता रहे हैं। जिससे आप अपने बच्चे को सुरक्षित रख सकें।

गर्भावास्था में अनानास खाएं या नहीं, जानिए यहां

गर्भावास्था महिलाओं के जीवन का सबसे अहम पड़ाव होता है। ऐसे में उन्हें अपने साथ-साथ गर्भ में पल रहे शिशु का भी ख्याल रखना होता है। ऐसे में गलत खान-पान की आदतों या एक छोटी सी गलती काफी बड़ी बन सकती है। आमतौर पर महिलाओं को गर्भावास्था के दौरान पपीता खाने से मना किया जाता है क्योंकि पपीते के सेवन से गर्भपात होने का खतरा बना रहता है। तो कई लोग अनानास को भी गर्भावास्था में खाने से मना करते हैं। इसलिए आज हम आपको गर्भावास्था में अनानास खाएं या नहीं के बारे में बता रहे हैं। जिससे आप अपने बच्चे को सुरक्षित रख सकें।

गर्भावास्था में अनानास खाना क्यों है फायदेमंद :

1. अनानास में प्रचुर मात्रा में फाइबर पाया जाता है। जिससे कब्ज और बदहजमी जैसे पेट के विकार को दूर करने में मदद मिलती है।

2. अनानास में विटामिन बी1,विटामिन बी6 भी पाया जाता है जिससे दिल के साथ तंत्रिका तंत्र सुचारू रूप से काम करने में मदद मिलती है।

3. अनानास में आयरन होने की वजह से गर्भावास्था के दौरान सेवन से शरीर में खून की कमी को पूरा करने में मदद मिलती है। जबकि विटामिन सी सुबह की मिचली में भी राहत देता और रोग प्रतिरक्षण प्रणाली मजबूत करता है।

4. गर्भावास्था के दौरान अनानास का सेवन करने से महिलाओं के शरीर को उचित मात्रा में कॉपर मिलता है जिससे बालों और आंखों के साथ ही विकास में मदद मिलती है।

5. गर्भावास्था के दौरान अनानास में मैग्नीज भी प्रचुर मात्रा में पाया जाता है, जिससे मां के साथ शिशु की भी हड्डियां मजबूत बनती हैं।

Next Story
Top