Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Ganesh Chaturthi 2021 : इस फल के बिना अधूरी है भगवान गणेश की पूजा, ये पांच Foods को खाकर बेहद प्रसन्न हो जाते हैं 'गणपति बप्पा'

गणेश चतुर्थी (Ganesh Chaturthi) पर गणपति 'बप्पा' सबके घरों में पधार गए हैं। भगवान गणेश (Ganesh) को मीठा बहुत ही पसंद है। यहां पांच ऐसे फूड्स के बारे में बताया जा रहा है, जो भगवान को काफी प्रिय है। हिंदू पौराणिक कथाओं की मानें तो गणेश भगवान को मोदाप्रिय भी कहा जाता है, इसके पीछे का कारण यह है कि मोदक उनके फेवरेट हैं।

Ganesh Chaturthi 2021 : इस फल के बिना अधूरी है भगवान गणेश की पूजा, पांच Foods को खाकर बेहद प्रसन्न हो जाते हैं
X

Ganesh Chaturthi 2021 : इस फल के बिना अधूरी है भगवान गणेश की पूजा, पांच Foods को खाकर बेहद प्रसन्न हो जाते हैं 'गणपति बप्पा' 

Ganesh Chaturthi 2021 : गणेश चतुर्थी (Ganesh Chaturthi) पर गणपति 'बप्पा' सबके घरों में पधार गए हैं। भगवान गणेश (Ganesh) को मीठा बहुत ही पसंद है। यहां पांच ऐसे फूड्स के बारे में बताया जा रहा है, जो भगवान को काफी प्रिय है। हिंदू पौराणिक कथाओं की मानें तो गणेश भगवान को मोदाप्रिय भी कहा जाता है, इसके पीछे का कारण यह है कि मोदक उनके फेवरेट हैं।

मोदक (Modaks)

मोदक भगवान गणेश को बेहद पसंद है, इसलिए उन्हें 'मोदप्रिया' के नाम से भी जाना जाता है। मोदक चावल के आटे, नारियल, गुड़ और चॉकलेट से बनाए जाते हैं। भगवान को मोदक का भोग लगाया जाता है। ये कई तरह से बनाएं जाते हैं, जिन्हें सब पसंद करते हैं।


2- ​मोतीचूर लड्डू (Motichoor Ladoos)

भगवान गणेश को मोदक के अलावा मोतीचूर के लड्डू भी काफी पसंद है। लड्डू के प्रति उनका प्रेम ऐसा है कि इन मिठाइयों के बिना गणेश जी की हर तस्वीर अधूरी सी लगती है।


3- मुरमुरे के लड्डू (Puffed Rice Ladoo)

अच्छे भोजन के लिए गणेश का प्रेम इतना अतृप्त था। कहा जाता है कि जब कुबेरेरा (Kubrera) ने उन्हें भोजन के लिए बुलाया था तो भगवान गणेश भोजन से खुश नहीं थे और अधिक खाना चाहते थे। ऐसा माना जाता था कि भगवान शिव ने उन्हें भक्ति के साथ कुछ फूला हुआ चावल देने का सुझाव दिया था। इसके ठीक बाद उनकी भूख शांत हो गई थी। यही कारण है कि मुरमुरा गुड़ के लड्डू तैयार किए जाते हैं और भगवान गणेश को भोग के रूप में चढ़ाए जाते हैं।


खीर (Kheer)

खीर को भगवान का सबसे प्रिय भोजन माना जाता है और यही कारण है कि खीर लगभग सभी त्यौहारों में मनाई जाती है।


केला (Bananas)

गणेश चतुर्थी के अवसर पर भगवान गणपति को केले से बनी माला का भोग लगाया जाता है। ऐसा इसलिए है क्योंकि भगवान गणेश को केले बहुत पसंद हैं और बंगाली परंपराओं के अनुसार उनका विवाह कोला बौ (केले के पेड़) से हुआ है। यही कारण है कि केले के बिना गणेश पूजा अधूरी है।

Next Story