Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

World Food Safety Day 2019 : वर्ल्ड फूड सेफ्टी डे आज, दूषित से रोज होती है 44 मौत- घर पर ही बनाएं ये व्यंजन

विश्व खाद्य सुरक्षा दिवस पर हम आपको बताएँगे कैसे दूषित खाना खाने से लोग बीमार होते हैं और घर में चटपटे व्यंजन बनाने की विधि। एक रिपोर्ट के अनुसार दूषित खाद्य पदार्थों की वजह से पूरे देश में हर मिनट 44 लोग और प्रति साल 23 मिलियन से अधिक लोग बीमार होते हैं। जबकि जहरीला खाना खाने से हर साल लगभग 4700 लोगों की मौत हो जाती है। डब्ल्यूएचओ यूरोपीय क्षेत्र में खाद्य जनित बीमारियों का बोझ नामक सर्वे के दौरान सामने आए ये आंकड़े काफी चौंकाने वाले हैं। इसलिए हम आपके लिए लाये हैं घर पर ही चटपटे व्यंजनों की रेसिपी...

World Food Safety Day 2019 : वर्ल्ड फूड सेफ्टी डे आज, दूषित से रोज होती है 44 मौत- घर पर ही बनाएं ये व्यंजन

World Food Safety Day 2019 : आज वर्ल्ड फूड सेफ्टी डे 2019 है। विश्व खाद्य सुरक्षा दिवस पर हम आपको बताएँगे कैसे दूषित खाना खाने से लोग बीमार होते हैं और घर में चटपटे व्यंजन बनाने की विधि। एक रिपोर्ट के अनुसार दूषित खाद्य पदार्थों की वजह से पूरे देश में हर मिनट 44 लोग और प्रति साल 23 मिलियन से अधिक लोग बीमार होते हैं। जबकि जहरीला खाना खाने से हर साल लगभग 4700 लोगों की मौत हो जाती है। डब्ल्यूएचओ यूरोपीय क्षेत्र में खाद्य जनित बीमारियों का बोझ नामक सर्वे के दौरान सामने आए ये आंकड़े काफी चौंकाने वाले हैं। इसलिए हम आपके लिए लाये हैं घर पर ही चटपटे व्यंजनों की रेसिपी...

हमारा देश विविधताओं से भरा है। यह विविधता यहां की जीवनशैली, संस्कृति के साथ ही भोजन में भी देखी जा सकती है। देश के हर राज्य के भोजन की अपनी पहचान और विशेषता है। गणतंत्र दिवस के अवसर पर हम आपके लिए लेकर लाए हैं, कुछ राज्यों के अनोखे-बहुरंगे व्यंजनों की रेसिपी।

उसल पोहा (मध्य प्रदेश)

सामग्री

पोहे के लिए- पोहा : 2 कप, चीनी : 2 छोटे चम्मच, नमक : स्वादानुसार, राई : 1/2 छोटा चम्मच, नीबू का रस : 1/4 छोटा चम्मच, हल्दी पावडर : 1/4 छोटा चम्मच, बारीक कटी हरी मिर्च : 2, करी पत्ते : 8-10, कटा हरा धनिया : थोड़ा-सा, तेल : 2 छोटे चम्मच।

उसल के लिए-उबले सफेद मटर : 1 कप, हरा धनिया : मुट्ठी भर, हरी मिर्च : 1, अदरक : 1 टुकड़ा, नीबू का रस : 2 छोटे चम्मच, जीरा : 1/2 छोटा चम्मच, लाल मिर्च पावडर : 1/2 छोटा चम्मच, धनिया पावडर : 1/2 छोटा चम्मच, जीरा पावडर : 1/4 छोटा चम्मच, काला नमक : 1/4 छोटा चम्मच, तेल : आवश्यकतानुसार।

सजाने के लिए - बारीक कटा टमाटर और प्याज, रतलामी सेव, चाट मसाला।

विधि

पोहे को भिगोकर छान लें। कुछ देर के लिए सूखने दें। फिर उसमें चीनी, नमक, हल्दी पावडर और नीबू का रस डालकर एकसार कर अलग रख दें। कड़ाही में तेल गर्म करें। राई डालकर तड़काएं। करी पत्ते और बारीक कटी हरी मिर्च डालकर भूनें। इसमें मसाले वाला पोहा मिलाएं। अच्छी तरह मिलाएं और हरा धनिया डालकर आंच बंद कर दें। इसे ढंककर अलग रख दें। अब हरा धनिया, हरी मिर्च, अदरक का टुकड़ा और नीबू का रस मिलाकर मिक्सी में पेस्ट बना लें। उसल बनाने के लिए कड़ाही में तेल गर्म करें। जीरा डालकर तड़काएं। फिर इसमें तैयार पेस्ट, लालमिर्च पावडर, धनिया पावडर, जीरा पावडर, काला नमक डालकर एक से दो मिनट के लिए भून लें। अब उबले सफेद मटर डालें। एक कप पानी मिलाएं और पांच मिनट के लिए पकने दें। परोसने के लिए एक प्लेट में पहले पोहा डालें। इस पर तैयार उसल फैलाएं। ऊपर से बारीक कटा प्याज और टमाटर, रतलामी सेव, चाट मसाला, नीबू का रस डालकर गरमा-गर्म परोसें।

-----------------------------------

पूरन पोली (महाराष्ट्र)

सामग्री

आटा : 2 कप, चने की दाल : 1 कप, मोयन के लिए घी: 2 छोटे चम्मच, चीनी : 1/2 कप, इलायची पावडर : 1/2 छोटा चम्मच, पिसे हुए काजू, बादाम, पिस्ते : 1 छोटा चम्मच, नमक : चुटकी भर, सेंकने के लिए घी : आवश्यकतानुसार।

विधि

आटे को छानकर उसमें मोयन और नमक डालकर मुलायम गूंथ लें। आधे घंटे के लिए अलग रख दें। चने की दाल को दो घंटे पानी में भिगो दें, फिर इसे कुकर में तकरीबन 3-4 सीटी लगाएं। सारा पानी छान लें, दाल को बिना पानी डाले मिक्सी में पीस लें। कड़ाही में घी डालकर पिसी दाल को धीमी आंच पर सुनहरा होने तक भून लें। फिर इसमें चीनी मिलाकर थोड़ी देर सेंक लें। इलायची पावडर, मेवों का पावडर मिलाकर आंच से उतार कर ठंडा होने दें। मिश्रण तैयार है। तैयार आटे की लोई बना लें, उसमें मिश्रण भरकर रोटियों की तरह गोल बेल लें। नॉनस्टिक तवे पर डालकर दोनों तरफ घी लगाकर अच्छी तरह से लाल और करारा होने तक सेंक लें। एक पैन में घी डालकर गरम कर उसमें थोड़े इलायची दाने डालकर तैयार तड़का बनाएं। पूरन पोली के ऊपर डाल दें। गुड़ और मूंगफली की चटनी के साथ गरमा-गर्म सर्व करें ।

---------------------------------------------

जोधपुरी मिर्च वड़े (राजस्थान)

सामग्री

मोटी-लंबी हरी मिर्च : 8-10, मोटा बेसन : 2 कप, उबले आलू : 3 बड़े चम्मच, अदरक-हरी मिर्च का पेस्ट : 1 छोटा चम्मच, हल्दी पावडर : 1/2 छोटा चम्मच, भुना हुआ जीरा पावडर : 1 छोटा चम्मच, धनिया पावडर : 1 छोटा चम्मच, गरम मसाला : 1/2 छोटा चम्मच, आमचूर पावडर : 2 छोटे चम्मच, हींग : चुटकी भर, राई : 1/4 छोटा चम्मच, नमक : स्वादानुसार, तेल : आवश्यकतानुसार।

विधि

कड़ाही में तेल गर्म करें। इसमें राई और हींग डालकर चटकाएं। अदरक- हरीमिर्च पेस्ट डालकर भून लें। फिर इसमें मैश किए आलू और सभी बचे हुए मसाले डालकर अच्छी तरह भून लें। तैयार मिश्रण को ठंडा होने दें। हरी मिर्च को बीच में काटकर बीज निकाल लें। फिर 10 मिनट तक नमक लगाकर मैरीनेट करें। इससे उसका तीखापन निकल जाएगा। हर मिर्च को टिश्यू पेपर से पोछ लें और इसमें मिश्रण डालें। बेसन में नमक, थोड़ा-सा तेल और जरूरत के अनुसार पानी डालकर खूब फेंटकर घोल तैयार करें। कड़ाही में तेल गरम करें। भरी हुई मिर्ची को इस घोल में डुबोकर गरम तेल में मध्यम आंच पर तल लें। हरी चटनी के साथ परोसें।

------------------------------------------

अमीरी सेव खमनी (गुजरात)

सामग्री

चना दाल : 450 ग्राम, हरी मिर्च : 5-6, अदरक : 1 टुकड़ा, बेकिंग सोडा : 1 छोटा चम्मच, हल्दी पावडर : 1/2 छोटा चम्मच, पिसी चीनी : 3 छोटे चम्मच, नीबू का रस : 2, राई : 2 छोटा चम्मच, बारीक कटा लहसुन : 2 कलियां, हींग : चुटकी भर, नमक : स्वादानुसार, तेल : 4 छोटे चम्मच

सजावट के लिए - बारीक कटा हरा धनिया, बारीक सेव, कसा हुआ नारियल, अनार दाना, मीठी चटनी।

विधि

चना दाल को गर्म पानी में तीन से चार घंटे भिगोकर रखें। इसके बाद पानी अलग कर लें। चार चम्मच दाल को अलग कर लें। बची दाल में हरी मिर्च और अदरक डालकर पीस लें। पीसने के बाद अलग निकाली हुई दाल को इसमें मिला लें। अब इसमें बेकिंग सोडा, हल्दी पावडर और नमक मिलाकर मिश्रण को चार घंटे के लिए अलग रख दें। इसके बाद एक गहरी थाली या प्लेट में तेल लगाकर मिश्रण को फैलाएं और भाप में पकाएं। फिर ठंडा होने पर टुकड़ों में काटकर हाथों से क्रश कर बाउल में निकाल लें। अब इन पर पिसी चीनी, नीबू का रस और चुटकी भर नमक मिलाकर फैलाएं।

एक पैन में तेल डालकर गर्म करें। इसमें राई डालकर चटकाएं, कटा लहसुन डालकर सुनहरा होने तक भूनें। इसके बाद हींग मिलाकर कुछ सेकेंंड चलाएं। तैयार तड़के को टुकड़े किए हुए खमण पर डालें। एक सर्विंग डिश में निकालकर ऊपर से बारीक कटा हरा धनिया, कसा हुआ नारियल, अनार दाना और सेव डालकर सर्व करें।

---------------------------

लिट्टी-चोखा (बिहार)

सामग्री

खोल के लिए-गेहूं का आटा : 4 कप, अजवायन : 1/2 छोटा चम्मच, खाने का सोडा : 1/3 छोटा चम्मच, मोयन के लिए घी या तेल : 1/2 कप

भरावन के लिए - सत्तू : 2 कप, कद्दूकस किया अदरक : 1/2 छोटा चम्मच, बारीक कटी हरी मिर्च : 2-4, बारीक कटा हरा धनिया : 1/2 कप, जीरा : 1 छोटा चम्मच, सरसों का तेल : 2 छोटे चम्मच, अचार मसाला : 2 छोटे चम्मच, नीबू का रस : 1, काला नमक : 1/2 छोटा चम्मच, नमक: स्वादानुसार, पानी: 4-5 छोटे चम्मच।

चोखे के लिए- बड़ा बैगन : 1, मध्यम आकार के टमाटर : 4, बारीक कटी हरी मिर्च : 2, बारीक कटा अदरक : डेढ़ इंच, बारीक कटा हरा धनिया : 2 छोटे चम्मच, नमक : स्वादानुसार, सरसों या मंूगफली का तेल: 1-2 छोटे चम्मच।

विधि

आटे को छानकर बर्तन में निकालें, इसमें घी, खाने का सोडा, अजवायन और नमक डालकर अच्छी तरह मिला लें। गुनगुने पानी की सहायता से नरम आटा गूंथ लें। आटे को आधा घंटे के लिए अलग रख दें। भरावन की सारी सामग्री मिलाकर एक बर्तन में डालकर अच्छी तरह मिलाकर अलग रख दें।

चोखा बनाने के लिए बैगन और टमाटर को गैस पर भून लें। ठंडा करके छिलका उतार लें। फिर एक बर्तन में डालकर दोनों को मैश कर लें। बारीक कटा अदरक, हरी मिर्च, हरा धनिया, सारे सूखे मसाले, नमक तेल डालकर अच्छी तरह मिला लें।

अब आटे की मध्यम आकार की लोई बना लें। लोई को अंगुलियों की सहायता से कटोरी जैसा बना लें, इस पर एक से डेढ़ छोटा चम्मच भरावन की सामग्री भर कर बंद कर दें। गोल आकार देकर हथेली से दबाकर थोड़ा चपटा करें। गैस या तंदूर को गर्म करें, अब आटे की लोइयों को इसमें रखें। पलट-पलट कर सुनहरी होने तक सेंक लें। चाहे तो आप लिट्टी को उपले पर भी सेंक सकती हैं। तैयार लिट्टी को घी में थोड़ी देर डुबोकर रखें। फिर बीच में से तोड़कर गरमागरम लिट्टी को चोखे और हरे धनिए की चटनी के साथ सर्व करें।

लेखिका- श्रुति अयंगार

Loading...
Share it
Top