Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Sunday Special Recipe: जानें देश में समोसा कहां से आया? क्या है इसका इतिहास और इसे बनाने की बेहद ही टेस्टी रेसिपी

समोसा खाने का हर कोई दीवाना होता है। आज के समय में समोसा केवल खाना ही नहीं बल्कि राजनीति और देश की संस्कृति का भी हिस्सा बन गया है। वहीं 1990 के दशक में बिहार में नारा था कि जब तक रहेगा समोसे में आलू तब तक बिहार में रहेगा लालू। आपको समोसे हर छोटी दुकान में मिला जाएंगे।

Sunday Special Recipe: जानें देश में समोसा कहां से आया? क्या है इसका इतिहास और इसे बनाने की बेहद ही टेस्टी रेसिपी
X

Sunday Special Recipe: जानें देश में समोसा कहां से आया? क्या है इसका इतिहास और इसे बनाने की बेहद ही टेस्टी रेसिपी (फाइल फोटो)

Sunday Special Recipe: समोसा खाने का हर कोई दीवाना होता है। आज के समय में समोसा केवल खाना ही नहीं बल्कि राजनीति और देश की संस्कृति का भी हिस्सा बन गया है। वहीं 1990 के दशक में बिहार में नारा था कि जब तक रहेगा समोसे में आलू तब तक बिहार में रहेगा लालू। आपको समोसे हर छोटी दुकान में मिल जाएंगे। आपको बता दें कि समोसे का पहली बार जिक्र भारत की सरहद के अंदर मध्य कालीन युग के यात्री के यात्री इब्न बतूता ने की थी। वे मोरक्को से आए थे। उन्होंने अपने लेखन में भी समोसे का जिक्र किया था। 13वी शताब्दी में समोसे का पहली बार जिक्र हुआ था। इसके बाद समोसे का जिक्र 1469 और 1500 में लिखी गई एक किताब में हुआ था।

उस वक्त गियास अल दिख खिलजी का पूरे मालवा पर आधिपत्य था। उस वक्त समोसे में आलू की बात का जिक्र नहीं। यानि इसे बनाने के लिए गोश्त, नारियल, क्रीम जैसी चीजों का इस्तेमाल किया जाता था। अमिर खुसरो ने भी समोसे का जिक्र किया था। उन्होंने बताया कि समोसों में प्याज और गोश्त भरा जाता था। इसे तेल के बजाए देसी घी में फ्राई किया जाता था। 500 साल पहले और उसके बाद के समोसों में काफी बदलाव हुए। बताया जाता है कि भारत में समोसा रेशम मार्ग के माध्यम से आया। ये सम्बुसा और समसा के नाम से भी जाना जाता है। वहीं इतिहासकार पुष्पेश पंत का कहना है कि समोसा मध्य एशिया से आया है, लेकिन अब वो उपमहाद्वीप का खाना बन चुका है। गोवा में इसको चामुकास बोला जाता है और कोलकाता के क्लब्स में ये कॉकटेल समोसा कहलाया जा सकता है. इसमें दाल भी इस्तेमाल होती हैं और ये मीठे रूप में भी पकाया जाता है इसलिए समोसे का हिंदुस्तानीकरण पूरा हो चुका है

ऐसे बनाएं समोसा

सामग्री

मैदा - 2 कप

मोयन के लिए तेल - 3 चम्मच

कलौंजी - 1छोटा चम्मच

नमक - 1/2 छोटा चम्मच

अजवाइन - 1/4 छोटा चम्मच

भरावन के लिए सामग्री

आलू - 4

उबली हुई मटर - 1 कप

भुनी हुई मूंगफली - 2 चम्मच

बारीक कटी धनियापत्ती - 3 छोटा चम्मच

बारीक कटी हरी मिर्च- 4-5

जीरा पाउडर - 1 छोटा चम्मच

धनिया पाउडर - 1 छोटा चम्मच

हल्दी 1/2 छोटा चम्मच

नमक - स्वादानुसार

तेल 3-4 छोटा चम्मच

समोसे तलने के लिए तेल

पानी - आधा कप

विधि

- इसे बनाने के लिए आप सबसे पहले एक बड़े बाउल में मैदा , कलौंजी, अजवाइन नमक और मोयन वाला तेल डालकर अच्छी तरह से गूंद लें।

- फिर आटे पर थोड़ा-सा तेल लगाकर कपड़े से ढककर रखें।

- अब समोसे का भरावन तैयार करने के लिए मीडियम आंच पर गर्म होने के लिए रख दें।

- फिर तेल में जीरा डालकर तड़काएं. फिर इसमें मटर डालकर 4-5 मिनट तक भून लें।

- मटर पकाने के बाद तेल में आलू, मूंगफली, हल्दी, धनिया पाउडर , हरी मिर्च, जीरा पाउडर और नमक मिलाकर 4-5 मिनट तक मीडियम आंच पर पका लें।

- अब इसमें धनियापत्ती डालकर मिलाएं और गैस कर दें।

- तैयार मसाले को अलग बर्तन में निकाल लें और अब आटे को फिर से अच्छी तरह गूंद लें।

- इससे 8-10 बराबर लोइयां तोड़ लें और एक लोई लेकर रोटी तरह बेलें।

- रोटी को बीच से काट लें और एक हिस्से को तिकोने आकार मोड़ लें।

- फिर इसके बीच में एक बड़ा चम्मच भरावन वाला मसाला डाल दें और किनारों पर हल्का-सा पानी लगाकर समोसे को पैक करें।

- ऐसे ही बाकी लोइयों और मसाले से कच्चे समोसे तैयार करें।

- कड़ाही में तेल गरम करके मीडियम आंच पर गर्म होने के लिए रखें और तेल में 4-5 समोसे डालकर गोल्डन होने तक फ्राई कर लें।

आपके समोसे तैयार हैं इसे आप चटनी के साथ सर्व करें।

Next Story