Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

Navratri 2019 Recipe : नवरात्रि रेसिपी में जानें घर में कैसे बनाएं स्वादिष्ट कपूरकंद लौकी लच्छा

Navratri 2019 नवरात्रि का त्यौहार 29 सितंबर से शुरु होने जा रहा है, जो लगातार 9 दिनों तक चलेगें, इस दौरान मां दुर्गा के भक्त 9 दिनों तक व्रत और उपासना करते हैं, व्रत में आमतौर पर फलाहार खाना ही पसंद करते हैं, ऐसे में आज हम आपको लौकी से बनने वाली एक फलाहारी मिठाई यानि कपूरकंद लौकी लच्छा रेसिपी के बारे में बता रहे हैं, कपूरकंद लौकी लच्छा बनाने के लिए सामग्री में आपको लौकी 1 किलो,चीनी 250 ग्राम, केवड़ा या गुलाब जल 2 छोटी चम्मच की आवश्यकता होगी।

Navratri 2019 Recipe : नवरात्रि रेसिपी में जानें घर में कैसे बनाएं स्वादिष्ट कपूरकंद लौकी लच्छाNavratri 2019 Recipe Kapoor kand Lauki Laccha Recipe In Hindi

Navratri 2019 नवरात्रि में अधिकांश व्रत के दौरान फालाहारी भोजन करते हैं जिसमें साबुदाना, आलू, समा के चावल से बने नमकीन और मीठे व्यंजन बनाए जाते हैं, लेकिन नवरात्रि 2019 के खास अवसर पर हम आपके लिए नवरात्रि रेसिपी में लेकर आए हैं, स्वादिष्ट कपूरकंद लौकी लच्छा बनाने का तरीका। आइए जानते हैं नवरात्रि पर घर में कपूरकंद लौकी लच्छा बनाने की सही विधि (Kapoor kand Lauki Laccha Recipe)...




कपूरकंद लौकी लच्छा रेसिपी सामग्री (Kapoor kand Lauki Laccha Recipe Ingredients)

लौकी - 1 किलो

चीनी - 250 ग्राम

केवड़ा या गुलाब जल - 2 छोटी चम्मच




कपूरकंद लौकी लच्छा रेसिपी विधि (Kapoor kand Lauki Laccha Recipe Process)

1. कपूरकंद लौकी लच्छा बनाने के लिए सबसे पहले लौकी को अच्छे से रगड़कर साफ कर लें, फिर छीलकर कद्दूकस कर लें।

2. इसके बाद लौकी के सभी लच्छों को इकट्ठा करके एक लच्छे से बांधकर, साफ पानी से धोकर अलग रख दें।

3. अब एक बड़े बर्तन में पानी और चीनी को मिलाकर उबाल आने और गाढ़ा होने तक धीमी आंच पर पकाते हुए चाशनी बनाएं।




4. इसके बाद जब चाशनी गाढ़ी होने लगे, तो उसमें पहले लौकी के बने हुए लच्छों को डालकर मिक्स करके कुछ देर पकाएं।

5. अब लौकी के लच्छों को प्लेट में निकालकर अलग-अलग करते हुए ठंडा होने के लिए फैला दें और ऊपर से केवड़ा या गुलाबजल छिड़कें और सेट होने दें।

6. अब तैयार कपूरकंद लौकी लच्छे को प्लेट में निकालें और मां का भोग लगाकर मेहमानों को सर्व करें।

सुझाव

चाशनी बनने तक लौकी के लच्छों को डूबते हुए पानी में रखें। इससे लौकी के लच्छे काले नहीं होगें।

Next Story
Top