Web Analytics Made Easy - StatCounter
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

शादियों में पहने ''फ्लोरल'' ज्वेलरी, खूबसूरती में लग जाएंगे चार-चांद

शादियों का सीजन शुरू होते ही दिमाग में यही चलता हैं कौन सी ज्वेलरी खरीदें कौन सी नही। ऐसे में अगर आप भी अपनी या किसी दोस्त की शादी के अलग-अलग रस्मों में क्या जूलरी पहनी जाए।

शादियों में पहने

शादियों का सीजन शुरू होते ही दिमाग में यही चलता हैं कौन सी ज्वेलरी खरीदें कौन सी नही। ऐसे में अगर आप भी अपनी या किसी दोस्त की शादी के अलग-अलग रस्मों में क्या ज्वेलरी पहनी जाए, इस बारे में विचार कर रही हैं तो हम आपको बता दें कि इस वक्त फ्लोरल ज्वेलरी यानी फूलों से बने आभूषण काफी ट्रेंड में हैं।

सिर्फ हल्दी और मेंहदी जैसे फंक्शन ही नहीं बल्कि कॉकटेल, फेरे और विदाई में भी पहनी जाने लगी है फ्लोरल ज्वेलरी । हर तरह के शेप, साइज और डिजाइन में मौजूद फ्लोरल ज्वेलरी ताजे फूलों से भी बनती है और आर्टिफिशल फूलों से भी। फूलों से बनी ज्वेलरी के उभरते ट्रेंड पर डालिए एक नजर...

पत्तियों का भी यूज

फ्लोरल ज्वेलरी में केवल फूल ही नहीं, पत्तियों का भी यूज किया जा रहा है। इसमें इयर रिंग या फिर ब्रेसलेट के लिए चेन में पिरोई सिर्फ पत्तियां और हरी पत्ती वाला पेंडेंट आप को एक अलग ही लुक देगा। अगर आप ताजे फूलों के ऑप्शन पर नहीं जाना चाहती हैं, तो सूखे पत्तों वाले फूलों से बनी फ्लोरल ज्वेलरी भी आपकी खूबसूरती को निखार सकती है। इन्हें मोती, बीड्स और छोटे-छोटे कुंदन स्टोन्स के साथ मिलाकर पहना जा सकता है। साथ ही सूखे फूलों से बने होने के कारण इन्हें लंबे समय तक इस्तेमाल किया जा सकता है।

इसे भी पढ़े: 'लेडी गागा' से लेकर 'एलेजेंड्रा एंब्रोसियो' तक ये एक्ट्रेसेस खूबसूरत दिखने के लिए करती हैं ये काम

एक ही फूलों का इस्तेमाल

मार्केट में इस वक्त नेकलेस में ऐसे डिजाइंस बहुत आए हुए हैं, जिनमें एक ही तरह के फूलों का यूज किया जाता है। गुलाब शेप में तो यह बहुत ही प्यारे लगते हैं। इस तरह की ज्वेलरी में ज्यादातर हल्के रंगों का इस्तेमाल किया जाता है। क्लासी लुक देने में यह जूलरी बेहद काम आती है। फ्लोरल ज्वेलरी को लंबे समय तक यूज करना चाहतीं हैं, तो मार्केट में आर्टिफिशल फ्लोरल ज्वेलरी का ऑप्शन मौजूद है। हालांकि यह बहुत ओरिजनल लुक नहीं देता लेकिन फिर भी किसी छोटे फंक्शन में इसे कैरी किया जा सकता है।

लो बजट में लेटेस्ट फैशन का कॉम्बिनेशन

इसमें ईयरिंग्स, रिंग्स, नेकलेस, रानी हार, कमरबंद ,बाजूबंद, मांगटीका और हाथफूल सभी फूलों के बने होते हैं। इस ज्वेलरी को बनाने में कई तरह के फूल जैसे का इस्तेमाल किया जाता है। फ्लोरल पैटर्न ज्वेलरी यूं तो खुद में ही बेहद खूबसूरत और कलात्मक होती है, परंतु इसमें चार चांद लग जाते हैं, जब इसे मीनाकारी की कला से सजाया जाता है। एंटीक गोल्ड यानी ब्लैक पॉलिश किए हुए गोल्ड के साथ फ्लोरल डिजाइन और मीनाकारी का कॉम्बिनेशन ज्वेलरी को और भी खूबसूरत बना देता है।

3-4 घंटे पहन सकती हैं फ्लोरल ज्वेलरी

ताजे फूलों से तैयार फ्लोरल ज्वेलरी को आराम से 3-4 घंटे पहना जा सकता है। इससे न केवल आप ताजगी महसूस करेंगी बल्कि लाइट वेट होने के कारण कम्फर्ट भी फील होगा। ताजे फूलों की फ्लोरल ज्वेलरी बनाने के लिए गुलाब और लिली के फूलों का यूज किया जा सकता है। इसमें ब्रेसलेट में चमेली के फूल, गुलाब की कलियों से अंगूठी, पीले रंग के गुलदाउदी के फूलों से नेकलेस तैयार किया जा रहा है। फूलों से बना चोकर दुल्हन के गले के साथ उसकी पूरी सुंदरता को बढ़ाएगा। ऑर्किड से बना क्राउन काफी खूबसूरत लगता है।

Next Story
Share it
Top