logo
Breaking

महिलाओं के चूड़ी या कड़ा पहनने का वैज्ञानिक कारण...

अक्सर आपने भी महिलाओं के हाथों में कांच की चूड़ियां और धातु के कड़े पहने जरूर देखा होगा। हिन्दू धर्म में शादी के बाद महिलाओं के लिए हाथों में चूड़ियां पहनना बेहद शुभ माना जाता है। लेकिन क्या आप उन चूड़ियों को पहनने की वजह जानते हैं। अगर नहीं, तो ऐसे में आज हम आपको हाथ में चूड़ी पहनने की वजह के साथ उसके वैज्ञानिक कारण (womens bangle wearing scientific reason) भी बता रहे हैं।

महिलाओं के चूड़ी या कड़ा पहनने का वैज्ञानिक कारण...

अक्सर आपने भी महिलाओं के हाथों में कांच की चूड़ियां और धातु के कड़े पहने जरूर देखा होगा। हिन्दू धर्म में शादी के बाद महिलाओं के लिए हाथों में चूड़ियां पहनना बेहद शुभ माना जाता है। लेकिन क्या आप उन चूड़ियों को पहनने की वजह जानते हैं। अगर नहीं, तो ऐसे में आज हम आपको हाथ में चूड़ी पहनने की वजह के साथ उसके वैज्ञानिक कारण (womens bangle wearing scientific reason) भी बता रहे हैं।

महिलाओं के चूड़ी पहनने की वजह :

1. महिलाओं के हाथ में चूड़ी पहनने को सुहाग की निशानी यानि पति की उम्र से जोड़कर देखा जाता है। इसलिए हमेशा शादी के बाद महिलाओं के हाथों में लाल या हरे रंग की चूड़ी पहनना जरूरी होता है।

2. चूड़ी या कड़े हाथों की खूबसूरती को बढ़ाने में मदद करती हैँ। इसलिए महिलाओं के सोलह श्रृंगार में भी चूड़ियों को बेहद महत्वपूर्ण माना जाता है।

3. चूड़ियों को पहनने से महिलाओं में सकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है, इसलिए बुरी नजर या नकारात्मक ऊर्जा को से बचाने के लिए भी महिलाओं के लिए चूड़ी पहनाना अच्छा माना जाता है।

4.चूड़ियों के विभिन्न रंगों का असर महिलाओं के मूड और स्वभाव पर पड़ता है। जिससे उनमें सहनशीलता और सकारात्मकता का विकास होता है।

5. चूड़ी की धातुओं से महिलाओं को स्वस्थ रखने का तरीका।

महिलाओं के चूड़ी पहनने का वैज्ञानिक कारण :

आमतौर पर महिलाओं के हाथों में चूड़ी पहनने को धार्मिक या फैशन से जोड़कर देखा जाता है, लेकिन चूड़ी पहनने के पीछे का एक बहुत महत्वपूर्ण वैज्ञानिक कारण भी है। छोटी बच्ची हो या कोई महिला उसको समय-समय पर किसी अनुष्ठान के बाद यानि नामकरण या शादी के बाद हाथों में कड़े और चूड़ी पहनने की परंपरा भारत में प्राचीन काल से है।

चूड़ी या कड़े हाथ में पहनने से महिलाओं के शरीर में रक्त संचार सामान्य बना रहता है, इसके साथ ही ऊर्जा के स्तर में वृद्धि होती है। जिससे वो शारीरिक और मानसिक रूप से मजबूत बनती है, जिससे वो कई गंभीर बीमारी को खुद से दूर रख पाती हैँ।

चूड़ियों की धातु और उनके विभिन्न रंग भी महिलाओं को सेहतमंद बनाए रखने में मदद करते हैं। कलाई पर बार-बार चूड़ियों और कड़े के रगड़ने से प्रेशर प्वाइंट्स पर दबाव पड़ता है, जिससे महिलाओं के यूट्रेस को मजबूती मिलती है।

Share it
Top