Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

बुजुर्गों के लिए काफी है सिर्फ छह सेकंड की एक्सरसाइज

छह सेकेंड की छोटी सी अवधि के मगर भारी व्यायाम से बुर्जुगों की सेहत बेहतर हो सकती है।

बुजुर्गों के लिए काफी है सिर्फ छह सेकंड की एक्सरसाइज
X
नई दिल्ली. स्कॉटलैंड के शोधकर्ताओं का कहना है कि छह सेकेंड की छोटी सी अवधि के मगर भारी व्यायाम से बुर्जुगों की सेहत बेहतर हो सकती है। 12 लोगों पर किए गए प्रारंभिक अध्ययन में कम अवधि के व्यायाम से रक्तचाप और सामान्य स्वास्थ्य में सुधार देखा गया।
दवा की तरह कारगर है कसरत: विशेषज्ञों का मानना है कि यह अध्ययन किसी भी उम्र में कसरत के फायदों को सामने लाता है। एबेर्टे यूनिवर्सिटी के एक दल का मानना है कि इससे बड़ी उम्र के लोगों पर होने वाले भारी खर्चे में कमी आएगी।
व्यायाम के बड़े फायदे: इस अध्ययन में सेवानिवृत्त लोगों का एक समूह प्रयोगशाला में हर सप्ताह में दो बार आता था और एक विशेष बाइक पर छह सेकेंड व्यायाम करता था। ऐसा उन्होंने लगातार छह सप्ताह तक किया।
शारीरिक व्यायाम: डॉक्टर जॉन बैबराज कहते हैं, ढेर सारी बीमारियां अधिक समय तक बैठे रहने वाली जीवनशैली से संबंधित हैं जैसे दिल से जुड़ी बीमारियां और डायबिटीज। लेकिन अगर हम लोगों को सक्रिय रखते हैं तो इस तरह के खतरे को कम कर सकते हैं। वो बताते हैं, इससे बुर्जुगों की सामाजिक सक्रियता बढ़ेगी और वे ज्यादा लोगों के साथ मेलजोल बढ़ाएंगे।
डॉक्टर बैबराज कहते हैं कि घर पर भी लोग इस तरह का व्यायाम कर सकते हैं। लेकिन पहले उनको डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए कि उनको स्वास्थ्य से संबंधित कोई समस्या तो नहीं है। लंबी अवधि तक दौड़ने के कारण दिल पर ज्यादा दबाव पड़ता है, और छोटी अवधि के लिए उच्च तीव्रता वाले प्रशिक्षण में कठोर र्शम किया जाए तो भी ऐसा होता है। उन्होंने कहा कि अभी लंबी अवधि के परीक्षण पर विचार हो रहा है ताकि बड़ी उम्र के लोगों को होने वाले लाभ के बारे में विस्तृत जानकारी जुटाई जा सके।
नीचे की स्लाइड्स में जानिए, क्या कहते हैं नतीजे और कितना सुरक्षित है ये -
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि और हमें फॉलो करें ट्विटर पर-
feedback - lifestyle@haribhoomi.com

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story