logo
Breaking

दूध को उबालकर पीना सेहत के लिए खतरनाक

दूध को अधिक मात्रा तक उबालने पर मौजूद विटामिन और कैल्शियम की मात्रा नष्ट हो जाती है।

दूध को उबालकर पीना सेहत के लिए खतरनाक
नई दिल्ली. हम अब तक दूध को पूरी तरह से उबाल कर ही पीते आए हैं। क्योंकि दूध को जब तक उबाला न जाए यह खराब हो जाता है। लेकिन विशेषज्ञों का मानना है कि अधिक मात्रा में उबाला गया दूध सेहत के लिहाज से ज्यादा फायदेमंद नहीं होता। अगर इसे पूरी तरह से उबाला जाए तो पाश्च्युरीकृत किए बिना इसका सेवन नहीं करना चाहिए। बता दें कि दूध में कई तरह के विटामिन्स और कैल्शियम पाए जाते हैं। दरअसल जब दूध को अधिक मात्रा तक उबाला जाता है तो उसमें मौजूद विटामिन और कैल्शियम की मात्रा पूरी तरह से नष्ट हो जाती है। इसके बाद ये दोनों ही प्रोटीन के रूप में बदल जाते हैं। इस वजह से ही दूध का असर कम हो जाता है और इसके सेवन से सेहत को उतना फायदा नहीं होता जितना होना चाहिए, इसलिए इसे पूरी तरह से न उबालें....
इन बातों का रखें खास ध्यान-
-अगर आपको अपनी सेहत का ख्याल है तो बेहतर होगा कि दूध को पूरा गर्म न करके 72 डिग्री सेल्सियस पर लगभग 15 सेकंड तक गर्म करें। पूरा उबालने से विटामिन्स नष्ट हो जाता है।
-बता दें कि जब तक कि दूध पूरी तरह से उबले उसे पहले ही उतार लें। इसके बाद इसे किसी ठंडे स्थान पर रखें। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि दूध को गर्म करके न पीएं बल्कि इसे पहले पूरी तरह से ठंडा कर लें ऐसा करने पर दूध पाश्च्युरीकृत हो जाता है। दूध में कोई कीटाणु पैदा नहीं हो पाते हैं। और सेहत को भी कोई खतरा नहीं होता है।
-आपको बता दें कि दूध निकाले जाने के बाद करीब आधे घंटे तक ही सही सलामत रहता है। धीरे-धीरे उसमें सूक्ष्माणु पनपने लगते हैं। बेहतर होगा कि इसे निकालने के बाद जल्द से जल्द पाश्च्युरीकृत कर दें।
- अगर किसी वजह से आप दूध गर्म नहीं कर पा रहे हैं तो उसे ठंडी जगह पर रखें।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को
फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Share it
Top